scorecardresearch
 

पिता लालू यादव से मिलने को रोका तो धरने पर बैठे तेजप्रताप, फिर ऐसे शांत हुआ गुस्सा

आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव रविवार को तीन साल के बाद बिहार की राजधानी पटना पहुंचे. इस दौरान, हाई वोल्टेज ड्रामा को देखने को मिला और तेज प्रताप यादव गुस्सा भी हो गए, जिसके बाद वह अपने बंगले के बाहर धरने पर ही बैठ गए.

तेज प्रताप यादव (फाइल फोटो) तेज प्रताप यादव (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अपने बंगले के बाहर धरने पर बैठे तेज प्रताप
  • लालू यादव के पहले घर न आने से नाराज हुए तेज

आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव रविवार को तीन साल के बाद बिहार की राजधानी पटना पहुंचे. इस दौरान, हाई वोल्टेज ड्रामा को देखने को मिला और तेज प्रताप यादव गुस्सा भी हो गए, जिसके बाद वह अपने बंगले के बाहर धरने पर ही बैठ गए. दरअसल, लालू रविवार शाम को पटना पहुंचे. एयरपोर्ट पर स्वागत करने के लिए तेज प्रताप भी पहुंचे, लेकिन उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें अपने पिता से मुलाकात करने नहीं दी गई.

तेज प्रताप यादव ने इसके लिए प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, एमएलसी सुनील कुमार सिंह और तेजस्वी यादव के राजनीतिक सलाहकार संजय यादव को दोषी ठहराया. तेज प्रताप चाहते थे कि लालू पांच मिनट के लिए उनके घर पर पहले आएं और फिर राबड़ी देवी के निवास पर जाएं. एयरपोर्ट निकलने से पहले 'आजतक' से बातचीत करते हुए तेज प्रताप ने कहा था कि वह अपने पिता को एयरपोर्ट से पहले घर लेकर आएंगे.

तेज ने धुले लालू यादव के पैर 

एयरपोर्ट से निकलने के बाद लालू सीधा राबड़ी देवी के आवास पहुंचे. इसके बाद तेज प्रताप का गुस्सा फूट पड़ा और वह अपने बंगले के बाहर धरने पर बैठ गए. तेज प्रताप ने कहा जब तक पिता मिलने नहीं आएंगे तब तक वह धरने पर से नहीं उठेंगे. इस दौरान तेज प्रताप की लालू और राबड़ी से फोन पर बात भी हुई.

तेज प्रताप के धरने पर बैठने के बाद लालू और राबड़ी देवी तेज प्रताप के घर पहुंचे. तेज ने अपने घर पर लालू यादव के पैर धोए जिसके बाद लालू वापस अपने घर आ गए. लालू और राबड़ी के आने से तेज प्रताप का गुस्सा शांत हुआ और फिर उन्होंने अपना धरना समाप्त किया. इसके बाद देर रात तेज प्रताप लालू और राबड़ी से मुलाकात करने 10 सर्कुलर रोड पर गए.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें