scorecardresearch
 

बिहार: राज्यसभा टिकट कटने की अटकलों के बीच आरसीपी सिंह दिल्ली रवाना, सस्पेंस बरकरार

Bihar Rajya Sabha election 2022: चर्चा है कि नीतीश इस बार आरसीपी सिंह को राज्यसभा भेजने के मूड में नहीं हैं और इन्हीं सब अटकलों के बीच आरसीपी सिंह मंगलवार दोपहर पटना से वापस दिल्ली चले गए.

X
नीतीश कुमार (बाएं) के साथ आरसीपी सिंह (दाएं) नीतीश कुमार (बाएं) के साथ आरसीपी सिंह (दाएं)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पटना से दिल्ली लौट गए आरसीपी
  • 24 मई से शुरू हो चुकी है नामांकन प्रक्रिया

Bihar Rajya Sabha Election 2022: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने 24 साल पुराने साथी और केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह को तीसरी बार राज्यसभा भेजेंगे या नहीं इस पर अब तक जबरदस्त सस्पेंस बना हुआ है.

बिहार के राजनीतिक गलियारे में इस बात की चर्चा है कि नीतीश इस बार आरसीपी सिंह को राज्यसभा भेजने के मूड में नहीं हैं और इन्हीं सब अटकलों के बीच आरसीपी सिंह मंगलवार दोपहर पटना से वापस दिल्ली चले गए.

बता दें कि 24 मई यानी मंगलवार से राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो गई है. मगर अब तक जनता दल यूनाइटेड के तरफ से किसी भी उम्मीदवार के नाम पर फैसला नहीं लिया गया है. इस सस्पेंस के बीच नीतीश खुद मंगलवार को नालंदा, नवादा और गया के दौरे पर रहे. वहीं, दूसरी तरफ आरसीपी सिंह भी दिल्ली वापस चले गए.

दिल्ली वापस जाते समय जब पत्रकारों ने पटना एयरपोर्ट पर आरसीपी सिंह से सवाल पूछे तो उन्होंने किसी भी सवाल का जवाब नहीं दिया. इन सब घटनाओं के बीच आरसीपी सिंह के ट्विटर अकाउंट पर साझा किया गया उनका बायो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

दिलचस्प बात यह है कि आरसीपी सिंह के इस ट्विटर अकाउंट पर उनके बारे में हर प्रकार की जानकारी है, लेकिन केवल इस बात की जानकारी नहीं है कि वह जनता दल यूनाइटेड के नेता हैं या फिर वह इस पार्टी से जुड़े हुए हैं.

आरसीपी सिंह के ट्विटर अकाउंट पर लिखा हुआ है कि वह केंद्रीय इस्पात मंत्री हैं, राज्यसभा सांसद हैं, 1984 बैच के आईएएस अधिकारी हैं, 1982 बैच के आईआरएस अधिकारी हैं और जेएनयू के पूर्व छात्र हैं. लेकिन इसमें जनता दल यूनाइटेड का कहीं भी जिक्र नहीं किया गया है.

आरपीसी सिंह का बायो

हादसा

 

आरसीपी सिंह के ट्विटर अकाउंट के कवर फोटो पर भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर है. आरसीपी सिंह के राजनीतिक भविष्य को लेकर अंतिम फैसला नीतीश कुमार को करना है. अब सबकी नजरें नीतीश पर ही टिकी हुई हैं कि वह अपने पुराने सिपहसालार और सहयोगी आरसीपी सिंह के भविष्य को लेकर क्या फैसला करते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें