scorecardresearch
 

'नीतीश कुमार के पास है चांदी का चिलम', बिहार BJP विधायक ने लगाए गंभीर आरोप

बीजेपी विधायक भागीरथी देवी शनिवार को पश्चिम चंपारण के रामनगर ब्लॉक मुख्यालय में बीजेपी द्वारा आयोजित एक दिवसीय धरना प्रदर्शन में बोल रही थीं. जिसमें नीतीश कुमार द्वारा बीजेपी का साथ छोड़कर महागठबंधन के साथ गठबंधन करने का विरोध किया गया था.

X
जेडीयू ने आरोपों का खंडन किया जेडीयू ने आरोपों का खंडन किया

बिहार में जेडीयू ने एनडीए से गठबंधन तोड़कर विपक्षी दलों के महागठबंधन के साथ सरकार बना ली है. इसके बाद से ही बीजेपी आठवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री बने नीतीश कुमार पर निशाना साध रही है. इस कड़ी में बीजेपी विधायक भागीरथी देवी ने सीएम नीतीश पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने आरोप लगाया है कि नीतीश कुमार को गांझा पीने की आदत है और वह बिना 'चिलम' के बिहार विधानसभा में कभी नहीं आए. वहीं जेडीयू ने इन आरोपों को नीतीश कुमार की छवि खराब करने का प्रयास बताया है.  

बीजेपी विधायक भागीरथी देवी ने आरोप लगाया, "जब तक नीतीश कुमार चिलम नहीं लेते वह विधानसभा नहीं आते, वह बिहार विधानसभा में नहीं बैठते हैं. बीच में जब वह विधानसभा से बाहर आते हैं तो वह लॉबी में जाते हैं और गांजा पीते हैं, फिर विधानसभा में लौटते हैं. नीतीश के पास चांदी का एक चिलम है. मुझे पता है उनके बारे में सब कुछ. कोई भी नीतीश कुमार पर विश्वास नहीं करता है या उन्हें कोई मूल्य नहीं देता है." 

बीजेपी ने दिया धरना

बता दें कि भागीरथी देवी शनिवार को पश्चिम चंपारण के रामनगर ब्लॉक मुख्यालय में बीजेपी द्वारा आयोजित एक दिवसीय धरना प्रदर्शन में बोल रही थीं. जिसमें नीतीश कुमार द्वारा बीजेपी का साथ छोड़कर महागठबंधन के साथ गठबंधन करने का विरोध किया गया था.

जेडीयू का पलटवार

उधर, जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) ने बिहार के मुख्यमंत्री के खिलाफ अत्याचारपूर्ण आरोप लगाने के लिए बीजेपी विधायक पर पलटवार किया है. जेडीयू के प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि भागीरथी देवी बीजेपी के शीर्ष नेताओं के दबाव में इस तरह के आरोप लगा रही हैं.

उन्होंने कहा, "यह बीजेपी विधायक द्वारा लगाए जा रहे मनगढ़ंत आरोपों के अलावा और कुछ नहीं है. हम जानते हैं कि भागीरथी देवी एक सज्जन महिला हैं, लेकिन वह बिहार में अपनी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के दबाव में इस तरह के आरोप लगा रही हैं. इस तरह की टिप्पणियां हमारे नेता के चरित्र को खराब करने का एक प्रयास है, जो निंदनीय है."

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें