scorecardresearch
 

सिनेमा

संगीत संगीत

महामारी में संगीत बना सहारा

29 अप्रैल 2021

श्रोताओं-दर्शकों की पसंद को भांपते हुए म्युजिक कंपनियों ने महामारी के दौरान मूड को हल्का करने वाले संगीत रचने पर ध्यान दिया और जिसे काफी पसंद भी किया गया.

सान्या मल्होत्रा पगलैट में एक बेपरवाह विधवा युवती का किरदार निभाकर काफी वाहवाही बटोरी

सिनेमाः फिल्म अपना सबसे बेहतर

23 अप्रैल 2021

सान्या मल्होत्रा मन लायक चीजें करते हुए बॉलीवुड के हाशिए से अब केंद्र में आ गईं.

द इम्मोर्टल अश्वत्थामा विकी कौशल की मुख्य भूमिका वाली यह फिल्म महाभारत के इस किरदार के जरिए साइंस-फिक्शन एक्शन ड्रामा पेश करती है

सिनेमाः महागाथाओं का नया उभार

23 अप्रैल 2021

हिंदू पौराणिक कथाओं के प्रति भारतीय फिल्म उद्योग का प्रेम अपने पूरे उफान पर

मिथिला मखान भाषा: मैथिली निर्देशक: नितिन नीरा चंद्रा खास: इसे राष्ट्रीय पुरस्कार मिला

मौलिकता के सहारे क्षेत्रीय सिनेमा की बल्ले-बल्ले

14 अप्रैल 2021

क्षेत्रीय सिनेमा की जड़ें मजबूत होने की एक वजह इसके कंटेंट में वहां की कल्चर का मजबूती से मौजूद रहना है.

देस बिराना हुआ पिछले साल मार्च में लॉकडाउन लगने के बाद गांव-जवार जाने के लिए कुछ इस तरह हजारों किमी के सफर पर चल पड़े प्रवासी श्रमिक

सिनेमाः दास्तान एक राष्ट्रीय त्रासदी की

31 मार्च 2021

पत्रकार से फिल्मकार बने विनोद कापड़ी ने इन्हीं श्रमिकों के सफर की जुटाई फुटेज से यही कोई डेढ़ घंटे की एक मार्मिक दस्तावेजी फिल्म बनाई है, जिसका नाम है 1232 केएमएस यानी 1,232 किमी. दरअसल, गाजियाबाद के श्रमिक समूह को अपने गांव तक इतना ही सफर तय करना था.

गोवा में फिल्म लूप लपेटा की शूटिंग के दौरान एक सीन में तापसी पन्नू

सिनेमाः खुलेगा तो देखेंगे... दर्शक

30 मार्च 2021

एक मायने में लेखकों, अभिनेताओं और टेक्निीशियंस का स्वर्णिम काल शुरू हो गया है. पोस्ट प्रोडक्शन के लिए टेक्निीशियंस ने घर पर ही सेटअप बना लिया है.

सिनेमाः ओटीटी पर लगाम

20 मार्च 2021

ओटीटी कंटेंट रचने वाले इसके लिए सरकार के दिशानिर्देशों को लेकर खास परेशान नहीं.

ख्वाब-सा (बाएं) जोले डूबे ना के एक दृश्य में खेया चट्टोपाध्याय; द कोस्ट का एक दृश्य

सिनेमाः भारत की प्रतिनिधि फिल्में

05 मार्च 2021

दुनिया के प्रतिष्ठित फिल्म समारोहों में से एक बर्लिन फिल्म फेस्टिवल में इस साल देश का प्रतिनिधित्व कर रही हैं दो प्रयोगात्मक फिल्में

विनीत कुमार

सिनेमाः फरसुआ बना आधार!

26 फरवरी 2021

मुक्काबाज में 10-12 लोगों से भिड़ पडऩे वाले गुस्सैल श्रवण से उलट फरसुआ संकोची और शर्मीला है, बोलने से पहले चार बार सोचता है.

अमिताभ बच्चन

देश का मिजाज सर्वेक्षणः अंधेरे में एक उम्मीद

30 जनवरी 2021

सिनेमाघरों पर ताला लगा तो ओटीटी ने मोर्चा संभाला. कुछ नए-पुराने तो कुछ भूले-बिसरे चेहरों ने सिक्का जमाया

दंगल की कामयाबी के बाद ठग्स ऑफ हिंदुस्तान में भाग्य ने उनका साथ नहीं दिया लेकिन ओटीटी प्लेटफॉर्म पर नई लॉन्चिंग के साथ उन्होंने फिर वापसी की है

सिनेमाः सफलता की सीढ़ी पर

17 नवंबर 2020

वे आसानी से हार मानने वाली नहीं हैं, फातिमा सना शेख धीरे-धीरे लेकिन मजबूती से इस गलाकाट उद्योग में अपनी जगह बना रही हैं.