scorecardresearch
 

ज्योतिरादित्य सिंधिया बोले- वो दिन दूर नहीं, जब रेल से ज्यादा हवाई सफर करेंगे लोग

कोरोना के नए वैरिएंट Omicron की चुनौती से निपटने के लिए नागर विमानन मंत्रालय ने पूरी तैयारी कर ली है. नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 9वें एजेंडा आजतक में ये बात कही.

X
नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एयरपोर्ट पर यात्रियों की स्क्रीनिंग
  • देशभर में बनाए जा रहे हैं एयरपोर्ट

कोरोना के नए वैरिएंट Omicron की चुनौती से निपटने के लिए नागर विमानन मंत्रालय ने पूरी तैयारी कर ली है. नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 9वें एजेंडा आजतक में ये बात कही. उन्होंने कहा कि सरकार ने Omicron प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों की एयरपोर्ट पर ही स्क्रीनिंग की व्यवस्था की है.

इन देशों से 12 एयरपोर्ट पर ही फ्लाइट्स आ रही हैं और वहां आरटी-पीसीआर और रैपिड आरटी-पीसीआर की व्यवस्था की गई है. साथ ही यह सिस्टम बनाया गया है कि 90 मिनट के अंदर एयरपोर्ट सभी प्रक्रिया पूरी हो जाए, ताकि यात्रियों को दिक्कत न हो. 

डोमेस्टिक यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि डोमेस्टिक यात्रियों की संख्या तेजी से बढ़ी है, ये कोरोना के पूर्व के आकंड़ों के करीब है. पिछले हफ्ते केवल 5 फीसदी कम आंकड़ा था. अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की संख्या पूर्व कोरोना तक पहुंचने में अभी वक्त लगेगा.

उन्होंने कहा कि एयर इडिया को टाटा को सौंपने का काम तेजी चल रहा है. टाटा को इस सेक्टर में आने से एयरलाइंस का कैश रिजर्व बढ़ेगा. टाटा का मार्केट शेयर बढ़कर 20 फीसदी हो जाएगा. एयर इंडिया विनिवेश एक सकारात्मक पहल है. कांग्रेस के राज 20 कंपनियों का विनिवेश हुआ. कांग्रेस के राज में 99 हजार करोड़ रुपये का विनिवेश हुआ. विनिवेश देश हित हैं, जनहित में है.

आम आदमी करे हवाई सफर  

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 30 से 40 साल पहले कुछ लोग ही विमान से सफर कर सकते थे. उड़ान योजना के तहत अब आम आदमी भी हवाई सफर कर रहा है. देश में हवाई अड्डा का जाल बिछाया जा रहा है. इसी कड़ी में बिहार के दरभंगा जैसे शहर में एयरपोर्ट बना, और लोग यहां से सफर कर रहे हैं. रिजनल कनेक्विटी से देश का विकास होगा. 

तेजी से हवाई यात्रियों की संख्या में इजाफा

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बताया कि देश में हर साल करीब साढ़े 14 करोड़ लोग हवाई सफर करते हैं. जिसमें सालाना 10 फीसदी से बढ़ोतरी दर्ज की रही है. वहीं रेल से सालाना साढ़े 18 करोड़ (फर्स्ट और सेकंड एसी क्लास में) यात्री सफर करते हैं, रेल यात्रियों की संख्या में साढ़े 5 फीसदी की ग्रोथ देखी जा रही है. हवाई यात्रियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए यह कहते हैं कि आने वाले कुछ वर्षों में रेल से ज्यादा विमान से लोग सफर करेंगे. 

ये भी पढ़ें: 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें