scorecardresearch
 

अगर मोदी सरकार के पास कुछ छुपाने को नहीं है तो राफेल पर JPC बनाएं: सिंधिया

एजेंडा आजतक में देश के तमाम दिग्गज पहुंच रहे हैं. इसी कड़ी में कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी पहुंचे. उनसे सवाल किए राजदीप सरदेसाई ने.

अजेंडा आजतक में कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया [फोटो-आजतक] अजेंडा आजतक में कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया [फोटो-आजतक]

भाजपा सरकार ने देश में भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया है, इसीलिए 3 राज्यों में जनता ने उसे सबक सिखा दिया और अब वहां कांग्रेस की सरकार है. ये बातें कहीं एजेंडा आजतक में पहुंचे कांग्रेस सांसद और एमपी के कैंपेनर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने. उन्होंने राफेल की बात करते हुए कहा कि अगर सरकार के पास छुपाने के लिए कुछ नहीं है तो उसे जेपीसी से जांच कराने में क्या परेशानी है.

ज्योतिरादित्य ने कहा कि अगर सबकुछ ठीक है तो फिर जांच कराने में बीजेपी को कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए. सिंधिया ने कहा कि बीजेपी के जो वाहक हैं वह आगे की तरफ नहीं देखते हैं वह केवल रियर व्यू में देखते हैं. उन्होंने कहा कि बीजेपी के नेता सिर्फ आरोप मढ़ते हैं. उनका कहना होता है कि 70 साल में कुछ नहीं किया गया. लेकिन किसी मुद्दे पर चर्चा करने से भागते हैं. राफेल का सवाल उठाते हुए सिंधिया ने कहा कि अगर भाजपा को लगता है कि इसमें कोई घोटाला या गड़बड़ी नहीं की गई है तो वो इसकी जांच जेपीसी से कराने को तैयार क्यों नहीं होते. अगर भाजपा को लगता है कि सबकुछ ठीक है तो फिर तो जांच कराई जानी चाहिए.

सिंधिया ने कहा कि एमपी, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने बीजेपी को हरा दिया है. यह जीत किसी पार्टी की नहीं जनता की है. एमपी का चुनाव जनता बनाम बीजेपी के बीच हुआ. 2019 का चुनाव बीजेपी बनाम देश की जनता के बीच होगा. हमसे गलतियां हुईं नहीं तो कांग्रेस का 2014 में यह हाल नहीं होता. उन्होंने सवाल खड़ा करते हुए कहा कि कांग्रेस नेता के तौर पर मैं यह स्वीकार करता हूं लेकिन क्या बीजेपी का कोई लीडर इस तरह से स्वीकार करेगा.  

आप 15 साल के शासन को खत्म नहीं पाए. इस पर सिंधिया ने कहा कि हम किसी को खत्म करने की बात नहीं करते. प्रजातंत्र में विपक्ष नहीं एक मजबूत विपक्ष का होना जरूरी है. मतभेद होने से समाधान निकलता है. सिंधिया ने कहा कि हम जीते हैं लेकिन बहुत बारीकी से. सिंधिया ने 1994-96 की बीजेपी और आज की बीजेपी में बहुत अंतर बताया. उन्होंने कहा कि बाजपेयी इंसान थे, आज भी कूटनीतिज्ञों की जरूरत नहीं है आज अच्छे इंसानों की जरूरत है. चुनावी साल आ रहा है क्या आरोप प्रत्यारोप का दौर बढ़ता जाएगा इस पर सिंधिया का कहना था कि सत्ता पक्ष की कमियों को उजागर करना विपक्ष का काम है. विपक्ष को आरोप लगाने के साथ समाधान भी बताना चाहिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें