scorecardresearch
 

येचुरी बोले- मोदी के खिलाफ चुनाव के बाद बनेगा महागठबंधन

सीपीआई (एम) के महासचिव सीताराम येचुरी आजतक के खास कार्यक्रम 'एजेंडा आजतक' में 2019 के चुनाव में गठबंधन के सवाल पर कहा कि चुनाव से पूर्व राष्ट्रीय स्तर पर महागठबंधन संभव नहीं है.

सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी (फोटो क्रेडिट, इंडिया टुडे) सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी (फोटो क्रेडिट, इंडिया टुडे)

लोकसभा चुनाव 2019 में नरेंद्र मोदी को मात देने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की विपक्षी दलों को एकजुट कर महागठबंधन बनाने की कवायद को सीपीएम ने तगड़ा झटका दिया है. सीपीआई (एम) के महासचिव सीताराम येचुरी आजतक के खास कार्यक्रम 'एजेंडा आजतक' में 2019 के चुनाव में गठबंधन के सवाल पर कहा कि चुनाव से पूर्व राष्ट्रीय स्तर पर महागठबंधन संभव नहीं है.

येचुरी ने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में महागठबंधन राष्ट्रीय स्तर पर नहीं बन सकता. हर प्रदेश में अलग-अलग पार्टियों के प्रभाव अलग हैं. ऐसे में राज्य स्तरीय गठबंधन बनेंगे. इसके बाद हम गठबंधन करेंगे. 1996, 1998 और 2004 में भी चुनाव के बाद गठबंधन बने थे. कॉमरेड सुरजीत का रोल यह था कि थर्ड फ्रंट चुनाव के बाद बना था.

ममता बनर्जी के साथ हुए मीटिंग के सवाल पर येचुरी ने कहा कि प्रदेशों में अपने-अपने प्रदेशों में वोट बंटवारे से बीजेपी को फायदा होता है. उसकी बात हुई थी. मीटिंग में गठबंधन की बात नहीं हुई थी.

येचुरी ने कहा कि देश के अलग-अलग राज्यों में अलग समीकरण हैं. ऐसे में राष्ट्रीय की बजाय स्टेट लेवल पर चुनाव लड़ेंगे. इसके बाद फिर केंद्र में गठबंधन बनेगा. फॉर्मेशन चुनाव बाद होगा. वैकल्पिक सरकार के लिए गठबंधन बनेगा.

बता दें कि येचुरी लगातार चुनाव के बाद गठबंधन बनाने की बात कर रहे हैं. 2004 के लोकसभा चुनाव के बाद ही कांग्रेस के नेतृत्व में गठबंधन बना था, जिसे यूपीए का नाम दिया गया. वामपंथी दलों ने सरकार में शामिल होने के बजाय बाहर से समर्थन दे रखा था. लेकिन न्यूक्लियर डील के दौरान लेफ्ट ने यूपीए-1 से समर्थन वापस ले लिया था. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें