scorecardresearch
 

Uttarakhand Election: कांग्रेस ने जारी की 53 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, सीएम धामी के खिलाफ मैदान में भुवन चंद्र

उत्तराखंड चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी है. पहली लिस्ट में पार्टी की तरफ से 53 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की गई है. 

X
कांग्रेस नेता सीएम हरीश रावत और सीएम पुष्कर सिंह धामी. (फाइल फोटो) कांग्रेस नेता सीएम हरीश रावत और सीएम पुष्कर सिंह धामी. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 15 सीटों पर अभी तक नहीं हुआ कोई फैसला
  • हरक सिंह और हरीश रावत की सीट पर सस्पेंस

उत्तराखंड चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी है. पहली लिस्ट में पार्टी की तरफ से 53 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की गई है. पार्टी ने सीएम पुष्कर सिंह धामी के खिलाफ भुवन चंद्र कापड़ी को मैदान में उतारा है. वहीं बीजेपी से वापस कांग्रेस में आए यशपाल आर्य को बाजपुर से टिकट दिया गया है.

यमुनोत्री से पार्टी ने दीपक बिजवान को उम्मीदवार बनाया है तो वहीं पिथौरागढ़ से इस बार मयूख महर को प्रत्याशी घोषित किया गया है. रायपुर की बात करें तो वहां से हीरा सिंह बिष्ट उम्मीदवार बन गए हैं तो वहीं केदारनाथ से मनोज रावत को मौका दिया गया है. अब इन नामों का ऐलान तो हुआ है लेकिन 15 सीटें ऐसी भी हैं जिन पर मंथन अभी भी जारी है. उन सीटों पर अभी तक आम सहमति नहीं बन पाई है. उस लिस्ट में लालकुआं, कालाढूंगी, चौबट्टखाल, रामनगर, डोईवाला जैसी सीटें शामिल हैं.

बाताय जा रहा है कि जिन सीटों पर अभी भी विवाद है वहां पर दोनों हरीश रावत और प्रीतम सिंह अपने उम्मीदवार उतारना चाहते हैं. इसी वजह से सभी प्रत्याशियों का ऐलान अभी नहीं किया गया है. पहली सूची में ना हरक सिंह रावत का नाम है और ना ही हरीश रावत की दावेदारी को लेकर कोई जानकारी मिली है.

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि कांग्रेस का हर प्रत्याशी चुनावी मैदान में जीत दर्ज करेगा. उन्हें इस बात का अहसास है कि हर सीट पर कई नेताओं की उम्मीदवारी थी,ऐसे में सरकार बनने के बाद उन सभी को उचित सम्मान दिया जाएगा. वैसे इस चुनाव में खुद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल को श्रीनगर सीट से चुनावी मैदान में उतारा गया है. वहीं नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह चकराता सीट से उम्मीदवार बने हैं.

उत्तराखंड चुनाव की बात करें तो वहां पर 14 फरवरी को एक ही चरण में वोटिंग होने जा रही है. वहीं 10 मार्च को बाकी राज्यों संग ही उत्तराखंड के नतीजे भी सामने आएंगे. इस बार चुनाव में एक तरफ बीजेपी सत्ता परिवर्तन वाले ट्रेंड को तोड़ना चाहती है तो वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस फिर उसी ट्रेंड से उम्मीद लगाए सत्ता में वापस आना चाहती है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें