scorecardresearch
 

UP: पोस्टर गर्ल प्रियंका मौर्य ने लगाया कांग्रेस पर धोखे का आरोप, शहला बोलीं- केवल लड़की हैं, इसलिए टिकट देना संभव नहीं

लखनऊ की डॉ. प्रियंका मौर्य का आरोप है कि कांग्रेस के महिला के कवर पेज के सेंटर में, उनकी तस्वीर लगाई, लेकिन टिकट नहीं दिया. उन्होंने कांग्रेस पर धोखा देने का आरोप लगाया है. वहीं, देवरिया की महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष शहला अहरारी ने दो टूक में कह दिया कि केवल लड़की हैं, इसलिए टिकट दे दिया जाए यह सम्भव नहीं है.

X
लड़की हैं, सिर्फ इसलिए टिकट दे दिया जाए यह सम्भव नहीं है- शहला अहरारी लड़की हैं, सिर्फ इसलिए टिकट दे दिया जाए यह सम्भव नहीं है- शहला अहरारी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • लखनऊ की प्रिंयका मौर्य ने कांग्रेस पर टिकट न देकर धोखा देने का आरोप लगाया 
  • महिला घोषणापत्र के कवर पेज पर उनके ओबीसी फेस को इस्तेमाल करने का आरोप
  • महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष ने कहा- 3 महीने पहले ही कांग्रेस से जुड़ी हैं

कांग्रेस का नारा है 'लड़की हूं, लड़ सकती हूं' लेकिन लखनऊ की डॉ. प्रियंका मौर्य को लड़ने ही नहीं दिया गया. प्रियंका मौर्य का आरोप है कि कांग्रेस के महिला घोषणा पत्र के कवर पेज के सेंटर में, उनकी तस्वीर लगाकर उनके साथ धोखा किया गया है. वहीं, देवरिया की महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष शहला अहरारी ने दो टूक में कह दिया कि केवल लड़की हैं, इसलिए टिकट दे दिया जाए यह सम्भव नहीं है.

3 महीने पहले ही कांग्रेस की सदस्य बनी हैं प्रियंका मौर्य

शहला अहरारी का कहना है कि टिकट तो कई लोग मांगते हैं, लेकिन सिर्फ महिला होने के नाते सबको टिकट मिल जाए यह भी संभव नहीं है. आपकी क्या कार्यशैली है यह भी मायने रखता है. डॉक्टर प्रियंका के मामले में, सबसे बेसिक प्रॉब्लम यह थी कि वह 3 महीने पहले ही कांग्रेस से जुड़ी हैं.

उन्होंने यह भी कहा कि प्रियंका मौर्य अच्छी महिला हैं, सोशल वर्कर हैं, लेकिन महिलाओं को हर जगह से टिकट दे दिया जाएगा, यह भी संभव नहीं है. यूपी में 403 विधानसभा हैं. हमने 100 प्रतिशत की नहीं, 40 प्रतिशत की बात की थी. आरोप-प्रत्यारोप तो हर पार्टी पर टिकट बंटवारे के बाद लगते हैं, कांग्रेस में कोई नया नहीं है.

कांग्रेस शक्ति विधान
कांग्रेस के महिला घोषणापत्र पर डॉ. प्रियंका मौर्य

कांग्रेस ने किया ओबीसी चेहरे का इस्तेमाल किया

वहीं दूसरी तरफ, लखनऊ की डॉक्टर प्रियंका मौर्य, जिनकी तस्वीर कांग्रेस के महिला घोषणापत्र के कवर पेज पर लगी है उनका कहना है कि कांग्रेस ने उनके ओबीसी चेहरे का इस्तेमाल किया है. उन्हें टिकट न देकर, पहले से तय किसी दूसरे कैंडिडेट को टिकट दे दिया गया, जबकि उनकी कई बार स्क्रीनिंग हुई थी. उनका यह भी कहना था कि आवेदकों की जो सूची तैयार की गई थी, उसमें सबसे पहला नाम उनका था, फिरभी कांग्रेस ने टिकट नहीं दिया.

गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी ने जो पहली सूची जारी की है, उसमें महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष शहला अहरारी का भी नाम है. इन्हें देवरिया जिले के रामपुर कारखाना विधानसभा से कांग्रेस पार्टी ने अपना उम्मीदवार बनाया है और इसी संबंध में शहला अहरारी ने सोमवार को अपने विधानसभा क्षेत्र स्थित घर पर प्रेसवार्ता रखी थी.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें