scorecardresearch
 

पंचायत आजतक 2021- प्रमोद तिवारी से सवाल- कांग्रेस के पास क्या है? लक्ष्मीकांत बाजपेयी बोले-ट्विटर!

Panchayat Aaj Tak UP 2021 Pramod Tiwari: कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने कहा कि कांग्रेस ने देश में लंबे समय तक शासन किया है. उत्तर प्रदेश में पार्टी सत्ता से लंबे समय से दूर है. लेकिन कांग्रेस ने अपने सिद्धांतों से समझौता नहीं किया है.

Panchayat Aaj Tak UP 2021: कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी (फोटो: Aajtak) Panchayat Aaj Tak UP 2021: कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी (फोटो: Aajtak)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कांग्रेस ट्विटर की राजनीति करती है: बाजपेयी
  • कांग्रेस ने सिद्धांतों सेे समझौता नहीं किया: प्रमोद तिवारी

Panchayat Aaj Tak UP 2021 Pramod Tiwari: उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के पास क्या बचा है? पंचायत आजतक यूपी में जब कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी से यह सवाल किया गया तो इसके जवाब में तपाक से बीजेपी नेता लक्ष्मीकांत बाजपेयी बोल पड़े कि कांग्रेस के पास सिर्फ ट्विटर है. 

बाजपेयी इस बात की ओर संकेत कर रहे थे कि कांग्रेस के नेता घर में बैठकर सिर्फ ट्वीट करने की राजनीति करते हैं और जनता के मसलों पर काम से उनका कोई-लेना देना नहीं है. 

कांग्रेस ने समझौता नहीं किया 

इसके जवाब में कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने कहा कि कांग्रेस ने देश में लंबे समय तक शासन किया है. उत्तर प्रदेश में पार्टी सत्ता से लंबे समय से दूर है. लेकिन कांग्रेस ने अपने सिद्धांतों से समझौता नहीं किया है, भले ही वह सत्ता से बाहर रहे. उन्होंने कहा, 'कांग्रेस ने सभी वर्गों की राजनीति की है. हम जाति, धर्म की राजनीति नहीं करती. इसका हमें नुकसान उठाना पड़ रहा है. 

उन्होंने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा, 'जिनको ट्विटर, सोशल मीडिया और सेल्फी से सबसे ज्यादा प्यार था उन्हें आज ट्विटर से चिढ़ हो गया है. आज उन्हें इजरायल का पेगासस पसंद आ रहा है.' 

प्रमोद तिवारी ने कहा कि यूपी और बिहार में जाति, धर्म का असर होता है इसे स्वीकार करना होगा. कुपोषण के इंडेक्स में ये दोनों राज्य ऊपर हैं. ये लोग जानते हैं कि इनके सामने धर्म का सहारा है, इसलिए वे यह कहते हैं कि महंगाई नहीं है. दुर्भाग्य है कि क्षेत्रीय पार्टियां तो जाति एवं धर्म की राजनीति करती ही थीं, यहां आकर राष्ट्रीय दल भी ऐसी राजनीति करने लगे हैं. 

जनता के सामने नहीं जा सकती है बीजेपी! 

तिवारी ने कहा, 'धर्म और उसका दुरुपयोग निकाल दें तो उत्तर प्रदेश में बीजेपी की यह हैसियत नहीं है कि बढ़ी महंगाई, बेरोजगारी, छुट्टे जानवरों जैसे मसलों पर जनता के बीच आ सके. पश्चिम यूपी में तो किसानों की वजह से ये बिल्कुल नहीं जा सकते.' 

उन्होंने कहा कि जनता ने सत्ता बदलने का मन बना लिया है. जब 104 रुपये का पेट्रोल भराकर आती है, तो वह यह कैसे स्वीकार कर सकती है कि महंगाई नहीं है. 

समाजवादी पार्टी के नेता पवन पांडे ने कहा कि ब्राह्मण समाज भारतीय जनता पार्टी से नाराज है. उन्होंने कहा कि सिर्फ एक विकास दुबे ही नहीं यूपी में करीब 1,000 ब्राह्मणों का एनकाउंटर हुआ है. उत्तर प्रदेश के लखनऊ में शुक्रवार को आयाेजित महाबैठक 'पंचायत उत्तर प्रदेश आजतक' में उन्होंने यह बात कही. 

दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेयी ने कहा कि पार्टी के सामने जाति का कोई संकट नहीं है. बीजेपी ने सारे विकास कार्य जाति, धर्म से परे किए हैं. इसलिए जनता के सामने कोई सवाल भी नहीं है. उन्होंने कहा कि विपक्ष के लोग खुशी दुबे के नाम पर राजनीति कर कर रहे हैं उन्हें न्याय नहीं दिलाना चाहते. 

इसे भी पढ़ें:

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×