scorecardresearch
 

UP Election: चंद्रशेखर का ऐलान- सपा से हमारा गठबंधन नहीं, अखिलेश को दलितों की जरूरत नहीं

यूपी चुनाव में सपा और आजाद पार्टी का गठबंधन नहीं होगा. लखनऊ में शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में चंद्रशेखर ने कहा कि अखिलेश यादव को दलितों की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि भाजपा को रोकने के लिए हम लगातार कोशिश करेंगे. चंद्रशेखर ने अपने दम पर चुनाव लड़ने की बात कही है.

चंद्रशेखर. -फाइल फोटो चंद्रशेखर. -फाइल फोटो
14:48
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अखिलेश के साथ भीम आर्मी का गठजोड़ नहीं
  • चंद्रशेखर ने अखिलेश पर बहुजन समाज को अपमानित करने का आरोप लगाया

यूपी चुनाव में सपा और आजाद पार्टी का गठबंधन नहीं होगा. लखनऊ में शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में चंद्रशेखर ने कहा कि अखिलेश यादव को दलितों की जरूरत नहीं है.

उन्होंने कहा कि भाजपा को रोकने के लिए हम लगातार कोशिश करेंगे. चंद्रशेखर ने अपने दम पर चुनाव लड़ने की बात कही है. चंद्रशेखर ने कहा कि मैं स्वाभिमान की लड़ाई लड़ता हूं. दो-दो बार तिहाड़ जेल जाकर आ चुका हूं. उन्होंने कहा कि मेरी लड़ाई कभी भी सत्ता की नहीं रही है. उन्होंने कहा कि 1 महीना 10 दिन से प्रयास किया लेकिन अखिलेश यादव से कोई जवाब नहीं मिला, कल (शुक्रवार को) हमारा विश्वास टूट गया जब अखिलेश से कोई जवाब नहीं मिला. यह लड़ाई प्रतिनिधित्व की है. अखिलेश यादव को दलित समाज की जरूरत नहीं है, उन्हें मेरी बधाई.

चंद्रशेखर ने कहा कि विपक्ष को एकजुट करने की कोशिश अभी भी जारी है, हालांकि अभी भी बीएसपी से गठबंधन नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि अगले दो दिन तक हम लगातार विपक्ष को एकजुट करने की कोशिश करुंगा.चंद्रशेखर ने कहा कि पिछले 5 साल में मैंने लगातार दलितों-शोषितों के खिलाफ अन्याय की लड़ाई लड़ी है. मैं मुद्दों पर बात करता हू. 

चंद्रशेखर ने कहा कि 6 महीने पहले से बहुजन समाज को एक किया और अखिलेश यादव से मिलता रहा. अखिलेश यादव से लंबी बातचीत चली है. मैं पिछले दो दिनों से लखनऊ में हूं. उन्होंने कहा कि मेरे लोगों (बहुजन समाज के लोगों) को डर था कि हमारा नेता भी सपा के साथ रहे लेकिन लगता है कि अखिलेश को दलितों की जरुरत नहीं है. अखिलेश ने बहुजन समाज को अपमानित किया है. चंद्रशेखर ने कहा कि बहुजन समाज के अंदर एक डर था. हम कांशीराम को अपना नेता मानते हैं. 

चंद्रशेखर ने कहा कि अखिलेश को वंचित वर्ग की चिंता हो या न हो मुझे इसकी चिंता है, इसलिए पीठ दर्द के बावजूद मैं दो दिनों से लखनऊ में हूं. मैंने अखिलेश के जवाब का इंतजार किया लेकिन कोई जवाब नहीं मिला. चंद्रशेखर ने कहा कि अखिलेश यादव सामाजिक न्याय को नहीं समझ पाए हैं. चंद्रशेखर ने अखिलेश पर दलित मामलों में चुप रहने का आरोप लगाया. ये भी कहा कि अखिलेश यादव ने दलित लीडरशिप को नकार दिया है. उन्होंने मेरा अपमान किया. कहा कि दलित बुनियादी तौर पर अपनी रीड से खड़ा हुआ है, अपनी लड़ाई खुद लड़ेगा. उन्होंने कहा कि अब मैं बिखरे विपक्षी दलों को एक साथ करने की कोशिश करूंगा, नहीं तो सामाजिक न्याय की लड़ाई खुद लड़ूंगा. 

कहा- भाजपा के ट्रैक पर सपा

चंद्रशेखर ने कहा कि बीजेपी दलितों के घर खाना खाकर नाटक कर रही है. समाजवादी पार्टी भी उसी ट्रैक पर है. चंद्रशेखर ने कहा कि बीजेपी दलित को अभी भी अछूत मानती हैं इसीलिए उनके घर बीजेपी के नेता जाकर खाना खाते हैं. चंद्रशेखऱ ने कहा कि भाजपा नेता ब्राह्मण के घर खाना क्यों नहीं खाते? 

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×