scorecardresearch
 

सुल्तानगंज विधानसभा सीट: JDU की लगातार पांचवीं जीत पर नजर, कांग्रेस को वापसी की उम्मीद

सुल्तानगंज विधानसभा सीट भागलपुर जिले के अंतर्गत आती है. इस सीट पर जनता दल (यू) और कांग्रेस के बीच मुकाबला होता आया है. सुल्तानगंज में हुए हाल के चुनावों में जेडीयू को ही जीत मिली, लेकिन एक दौर में यहां पर कांग्रेस का दबदबा हुआ करता था.

बिहार के सीएम नीतीश कुमार (फाइल फोटो) बिहार के सीएम नीतीश कुमार (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सुल्तानगंज विधानसभा सीट भागलपुर जिले के अंतर्गत आती है
  • एक दौर में इस सीट पर कांग्रेस का दबदबा हुआ करता था
  • पिछले 4 चुनावों में जेडीयू को मिली है जीत

बिहार की सुल्तानगंज विधानसभा सीट भागलपुर जिले के अंतर्गत आती है. इस सीट पर जनता दल (यू) और कांग्रेस के बीच मुकाबला होता आया है. सुल्तानगंज में हुए हाल के चुनावों में जेडीयू को ही जीत मिली, लेकिन एक दौर में यहां पर कांग्रेस का दबदबा हुआ करता था. 1985 के बाद से कांग्रेस को यहां पर जीत नहीं मिली है. फिलहाल जेडीयू के सुबोध रॉय सुल्तानगंज के विधायक हैं.

राजनीतिक पृष्ठभूमि

सुल्तानगंज सीट 1951 में अस्तित्व में आई. यहां पर अब तक हुए 17 चुनावों में ज्यादातर कांग्रेस को ही जीत मिली है, लेकिन हाल के चुनावी नतीजों को देखें तो जेडीयू ही हावी रही है. पिछले 4 चुनावों से वो यहां पर जीतती आ रही है. सुल्तानगंज में कांग्रेस को 8 बार जीत मिली है तो 4 बार जेडीयू ने बाजी मारी है. पिछले दो चुनावों से जेडीयू के सुबोध रॉय ने जीत हासिल की है. 2010 के चुनाव में उन्होंने आरजेडी के राम अवतार मंडल को हराया था. वहीं 2015 के चुनाव में उन्होंने आरएलएसपी के हिमांशु प्रसाद को हराया था. कांग्रेस को 1985 के बाद से यहां पर जीत नहीं मिली है.

2015 का जनादेश

2015 के चुनाव में सुल्तानगंज में 3,09,131 मतदाता थे. इसमें से 53.29 फीसदी पुरुष और 46.71 महिला वोटर्स थीं. सुल्तानगंज विधानसभा सीट पर 1,54,740 लोगों ने वोट डाला था. यानी यहां पर 50 फीसदी वोटिंग हुई थी. इस चुनाव में जेडीयू के सुबोध रॉय ने आरएलएसपी के हिमांशु प्रसाद को मात दी थी. सुबोध रॉय को 63,345 (40.94 फीसदी) वोट मिले थे तो वहीं हिमांशु प्रसाद को 49,312 (31.87 फीसदी) वोट मिले थे. सुबोध रॉय ने हिमांशु प्रसाद को 13 हजार से ज्यादा वोटों से शिकस्त दी थी.

सामाजिक ताना-बाना

सुल्तानगंज बिहार के भागलपुर जिले के अंतर्गत आता है. यह गंगा नदी के तट पर बसा हुआ है. यहां बाबा अजगबीनाथ का विश्वप्रसिद्ध प्राचीन मंदिर है. सुल्तानगंज विधानसभा सीट बांका संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आती है. 2011 की जनगणना के अनुसार, सुल्तानगंज की जनसंख्या 4,36,079 है. यहां की 87.87 फीसदी जनसंख्या ग्रामीण क्षेत्र और 12.13 फीसदी जनसंख्या शहरी क्षेत्र में रहती है. सुल्तानगंज में 12.97 फीसदी आबादी अनुसूचित जाति और 0.02 फीसदी आबादी अनुसूचित जनजाति की है. 2019 के वोटर लिस्ट के मुताबिक, यहां पर 3,21,987 वोटर्स हैं.

सुबोध रॉय के बारे में

18 जुलाई 1942 को जन्मे सुबोध रॉय की शैक्षणिक योग्यता स्नातक है. 1960 में राजनीति में प्रवेश करने वाले सुबोध रॉय 2010 में पहली बार विधायक बने. इससे पहले वह 1994 से 1999 तक बिहार विधान परिषद के सदस्य थे. वह 1999 से 2004 तक सांसद भी रहे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें