scorecardresearch
 

रामगढ़ विधानसभा सीट: RJD की सीट पर भाजपा ने लगाई थी सेंध, क्या इस बार पलटेगी बाजी?

बिहार की रामगढ़ विधानसभा सीट कैमूर जिले में आती है. कैमूर जिले में स्थित रामगढ़ सीट आरजेडी का गढ़ रही है. लेकिन साल 2015 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में रामगढ़ सीट पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने सेंध लगाई और अशोक कुमार सिंह ने जीत हासिल की.

Bihar Election, Ramgarh assembly seat Bihar Election, Ramgarh assembly seat
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 2015 में लगातार दूसरी बार जीते संतोष कुमार निराला
  • राजपुर सीट से लगातार 4 बार JDU को मिली जीत

बिहार की रामगढ़ विधानसभा सीट बक्सर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आती है. कैमूर जिले में स्थित रामगढ़ सीट आरजेडी का गढ़ रही है. लेकिन साल 2015 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में रामगढ़ सीट पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने सेंध लगाई और अशोक कुमार सिंह ने जीत हासिल की. इसके साथ ही भाजपा की लंबे समय बाद सीट पर वापसी हुई. 2015 के चुनाव में रामगढ़ विधानसभा सीट पर बीजेपी के अशोक कुमार सिंह ने कब्जा कर लिया.

कब है वोट‍िंग, क‍ितने प्रत्‍याशी?
रामगढ़ विधानसभा सीट पर पहले चरण में 28 अक्टूबर को मतदान है. बीजेपी ने एक बार फिर मौजूदा विधायक अशोक सिंह को ही प्रत्याशी बनाया है. वहीं, आरजेडी ने सुधाकर सिंह को महागठबंधन के उम्मीदवार के रूप में मैदान में उतारा है. बीएसपी ने पूर्व विधायक अंबिका सिंह पर भरोसा जताया है. जबकि कई निर्दलीय उम्मीदवार भी चुनावी मैदान में हैं.

बता दें कि इस साल होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव 3 चरणों में होंगे. पहले चरण का चुनाव 28 अक्टूबर को होगा, दूसरे चरण के लिए 3 नवंबर को वोट डाले जाएंगे जबकि तीसरे यानी आखिरी चरण का चुनाव 7 नवंबर को होगा. बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे 10 नवंबर को आएंगे. 


रामगढ़ सीट का राजनीतिक इतिहास
रामगढ़ विधानसभा सीट का गठन 1951 में हुआ था. रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र में 20 वर्षों के दौरान 6 बार चुनाव हुए और जगदानंद सिंह जीत हासिल करते रहे. उन्होंने वर्ष 1985 में लोक दल, वर्ष 1990 और 1995 में जनता दल जबकि 2000, 2005 के फरवरी व अक्टूबर में आरजेडी के टिकट पर जीत दर्ज की. उसके बाद 2009 में हुए उपचुनाव और 2010 के विधानसभा चुनाव में आरजेडी के अंबिका सिंह को जीत मिली. हालांकि, 2015 के चुनाव में अंबिका सिंह जीत की हैट्रिक नहीं लगा पाए और बीजेपी के अशोक कुमार सिंह को रामगढ़ सीट से जीत मिली. 


सामाजिक ताना- बाना
रामगढ़ विधानसभा सीट कैमूर जिले में आती है. 2011 की जनगणना के अनुसार, रामगढ़ की कुल जनसंख्या 3,76,155 में से  97.69% ग्रामीण आबादी है. अनुसूचित जाति (SC) और अनुसूचित जनजाति (ST) का अनुपात कुल जनसंख्या में से क्रमशः 23.23 और 0.79 है. 2019 की मतदाता सूची के अनुसार, इस निर्वाचन क्षेत्र में 269760 मतदाता और 283 मतदान केंद्र हैं. भाजपा, कांग्रेस, जेडी (यू) और राजद यहां की मुख्य पार्टियां हैं. 


2015 में क्या रहे थे चुनावी नतीजे?
साल 2015 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में रामगढ़ विधानसभा सीट पर BJP के अशोक कुमार सिंह ने जीत हासिल की थी. अशोक कुमार सिंह ने राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के अंबिका सिंह को हराया था. अशोक कुमार सिंह को 57,501 वोट मिले थे तो अंबिका सिंह को 49,490 वोट प्राप्त हुए थे. वहीं, तीसरे स्थान पर बहुजन समाज पार्टी के प्रमोद सिंह उर्फ पप्पू सिंह रहे थे, जिन्हें 35,796 वोट मिले थे. बता दें कि अंबिका ने अब आरजेडी का साथ छोड़कर बसपा का दामन थाम लिया है. अशोक कुमार से पहले वे आरजेडी के टिकट पर दो बार विधायक रह चुके हैं. 


विधायक अशोक कुमार के बारे में
बीजेपी के टिकट पर साल 2015 में चुनाव जीतने वाले अशोक कुमार सिंह का जन्म 1966 में रामगढ़ में ही हुआ था. वे पोस्ट ग्रेजुएट्स हैं और कृषि कार्य भी करते हैं. वर्ष 1994 में उन्होंने राजनीति में एंट्री की. 2015 में चुनाव जीते और बिहार विधानसभा की सदस्यता हासिल की. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें