scorecardresearch
 

बिहार में प्लूरल्स पार्टी को कितनी सीटें? पुष्पम प्रिया ने दिया ये जवाब

पुष्पम प्रिया ने कहा कि हम आगे तभी बढ़ पाएंगे जब लालू यादव और नीतीश कुमार से मुक्ति पाएंगे. यही सोच कर हमने वोट किया है. नीतीश कुमार कहते हैं कि यह उनका अंतिम चुनाव है, लेकिन वह चुनाव ही कहां लड़े. अगर वह मुख्यमंत्री उम्मीदवार के तौर पर बोल रहे तो यह नहीं होना चाहिए था. हमने उन्हें 15 साल दिए हैं. उन्हें सम्मान के साथ रिटायरमेंट ले लेनी चाहिए थी. 

प्लूरल्स पार्टी की अध्यक्ष पुष्पम प्रिया चौधरी प्लूरल्स पार्टी की अध्यक्ष पुष्पम प्रिया चौधरी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बिहार को लालू और नीतीश से मुक्ति मिले- पुष्पम प्रिया
  • नीतीश को सम्मान से रिटायरमेंट लेना चाहिए था
  • बांकीपुर सीट से किस्मत आजमा रही हैं पुष्पम प्रिया

बिहार विधानसभा चुनाव में पहली बार उतरीं प्लूरल्स पार्टी की अध्यक्ष पुष्पम प्रिया चौधरी ने शनिवार को दरभंगा में एक बूथ पर मतदान किया. इस दौरान वह अपनी चुनावी जीत को लेकर आश्वस्त दिखीं. दरभंगा में वोट डालने के बाद पुष्पम प्रिया ने कहा कि एक मतदाता के तौर पर वोट डाला. वह पहले ही कह चुके हैं कि उन्हें आगे बढ़ने का हक है. 

पुष्पम प्रिया ने कहा कि हम आगे तभी बढ़ पाएंगे जब लालू यादव और नीतीश कुमार से मुक्ति पाएंगे. यही सोच कर हमने वोट किया है. नीतीश कुमार कहते हैं कि यह उनका अंतिम चुनाव है, लेकिन वह चुनाव ही कहां लड़े. अगर वह मुख्यमंत्री उम्मीदवार के तौर पर बोल रहे तो यह नहीं होना चाहिए था. हमने उन्हें 15 साल दिए हैं. उन्हें सम्मान के साथ रिटायरमेंट ले लेनी चाहिए थी. 

पुष्पम प्रिया ने कहा कि हमें विश्वास है कि हम जीतेंगे. लोग सपोर्ट कर रहे हैं. बिहार में राजनीति का स्तर गिर गया है. चुनाव में पैसा बांटा जाता है. दूसरा, लोगों को आपस में लड़या जाता है. दो समुदाय के लोगों को लड़या जाता है. मिथिला बुद्धि के लिए जाना जाता है. 

कितनी सीटें जीतेगी प्लूरल्स पार्टी?

कितनी सीटों पर प्लूरल्स पार्टी को जीत मिलेगी? पुष्पम प्रिया ने कहा कि ये जो भविष्यवाणी करने वाली चीज है, वो मुझे पसंद नहीं है. जिस दिन रिजल्ट आएगा उस दिन पता चल जाएगा. लेकिन टारगेट है कि ज्यादा से ज्यादा सीटों पर हम जीतें.

आपने खुद को मुख्यमंत्री बनने की भविष्यवाणी की थी? पुष्पम प्रिया ने कहा कि मैंने कभी ऐसा नहीं कहा. उम्मीदवार घोषित करना भविष्यवाणी नहीं होती है. जब हम चुनाव लड़ते हैं तो भविष्यवाणी नहीं होती है. हम उम्मीदवार होते हैं. भविष्यवाणी अगर सुननी है तो हम ही जीतेंगे. हम सरकार बनाएंगे. गठबंधन का सवाल नहीं है. पुष्पम प्रिया ने कहा कि इन लोगों ने राजनीति का स्तर गिरा दिया. जो भरोस टूट गया है उसे बहाल करना है. 

देखें: आजतक LIVE TV

आप दरभंगा में रहेंगी? पुष्पम प्रिया ने कहा कि हम जीतेंगे. हम यहीं रहेंगे. डमोक्रेसी के जितने भी स्तंभ हैं वो संघर्ष के लिए तैयार रहें. काला ड्रेस क्यों पहनती हैं, इस उन्होंने कहा कि मुझे नाटक करने की जरूरत नहीं है. नेता लोगों से पूछिए कि वो क्यों सफेद पहनते हैं. काला कपड़ा पहनना चाहिए. कोई कोड नहीं है. 

पुष्पम प्रिया बांकीपुर सीट से चुनाव मैदान में हैं. यहां से तीन बार के सीटिंग विधायक नितिन  नवीन का मुकाबला खुद को मुख्‍यमंत्री पद का दावेदार बताने वालीं प्‍लूरल्‍स पार्टी प्रमुख पुष्‍पम प्रिया चौधरी और शत्रुध्‍न सिन्‍हा के बेटे लव सिन्‍हा से है. नितिन बीजेपी प्रत्‍याशी हैं जबकि लव सिन्‍हा कांग्रेस के टिकट पर पहली बार चुनाव मैदान में हैं. पुष्‍पम प्रिया के लिए यह पहला चुनाव है.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें