scorecardresearch
 

नरपतगंज विधानसभा सीट: क्या आरजेडी की होगी सत्ता में वापसी?

नरपतगंज से राष्ट्रीय जनता दल के अनिल कुमार यादव विधायक हैं. 2015 के चुनाव में कुल 12 लोगों ने चुनाव लड़ा था लेकिन 10 प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई थी. एक भी महिला उम्मीदवार ने पर्चा नहीं भरा था.

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव (फाइल फोटो) आरजेडी नेता तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नरपतगंज के विधायक हैं अनिल कुमार यादव
  • आरजेडी के पुराने नेताओं में हैं शामिल
  • 1975 में इमरजेंसी के दौरान हुआ था एक्शन

नरपतगंज विधानसभा सीट बिहार की 243 विधानसभा सीटों में से 46वें क्रमांक की है. यह अररिया जिले का हिस्सा है. लोकसभा क्षेत्र भी अररिया है. इस सीट से राष्ट्रीय जनता दल के अनिल कुमार यादव विधायक हैं. 

अररिया की अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से कृषि पर निर्भर है. रोजगार एक प्रमुख चुनावी मुद्दा यहां भी है. अररिया में धान, मक्का और जूट की खेती होती है. नरपतगंज में भी जूट, मक्का और धान की खेती होती है.

2015 का चुनाव 

2015 के चुनाव में आरजेडी के अनिल कुमार यादव ने बीजेपी के जनार्दन यादव को हराया था. जीत का अंतर 25,951 था. इस चुनाव में लगभग 62 फीसदी लोगों ने वोट किया था. इस चुनाव में कुल 12 लोगों ने भाग्य आजमाया था लेकिन 10 प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई थी. एक भी महिला उम्मीदवार ने पर्चा नहीं भरा था.

सीट का इतिहास

इस सीट पर पहली बार वोटिंग 1962 में हुई. तब कांग्रेस पार्टी से दुमर लाल बैठा विधायक चुने गए. 1972 तक इस सीट पर कांग्रेस का ही कब्जा रहा. 2005 और 2010 के चुनाव में यह सीच बीजेपी के खाते में गई. 2010 के चुनाव में बीजेपी के देवंती यादव ने आरजेडी के अनिल कुमार को हराया था. लेकिन 2015 के चुनाव में अनिल कुमार विजयी होकर उभरे.

सामाजिक ताना बाना

नरपतगंज में कुल 2,67,939 वोटर हैं, जिनमें 1,42,968 पुरुष और 1,24,967 महिला वोटर्स हैं. इस विधानसभा में शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार अब भी प्रमुख चुनावी मुद्दा है. विकास की दरकार इस विधानसभा को है.

विधायक के बारे में

अनिल कुमार यादव आरजेडी के पुराने नेता रहे हैं. इनका जन्म 24 मार्च 1960 को अररिया के खजुरी में हुआ था. इनके पास एक पेट्रोल पंप भी है. राजनीति में उतरने से पहले कृषि के क्षेत्र में सक्रिय थे. साल 1974 में इन्होंने राजनीति में एंट्री ली. मार्च 2005 में पहली बार विधायक चुने गए  1975 में आपात काल के दौरान फरार भी रह चुके हैं. कर्पूरी ठाकुर के नेतृत्व में भी हिस्सा लिया है. राजनीति, स्पोर्ट्स और जनसेवा में विशेष रुचि है.

किस-किसके के बीच है मुकाबला?

नरपतगंज विधानसभा सीट पर भी मुकाबला एनडीए बनाम महागठबंधन के बीच है. एनडीए की ओर से बीजेपी के जय प्रकाश यादव सामने हैं तो वहीं महागठबंधन की ओर से आरजेडी के अनिल कुमार यादव चुनाव लड़ रहे हैं. अनिल कुमार यादव इस सीट से मौजूदा विधायक भी हैं.

अन्य राजनीतिक दलों में प्लूरल्स पार्टी की ओर से निशांत कुमार झा, शिवसेना की ओर से गुंजा देवी, ऑल इंडिया मॉइनॉरिटीज फ्रंट से मोहम्मम अबू बकर, राष्ट्री जनसंभावना पार्टी से राम प्रकाश मंडल, नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी की ओर से चंद्रेश कुमार, अपना अधिकार पार्टी की ओर से राज कुमार ऋषिदेव, ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन की ओर से हदीस भी चुनाव लड़ रहे हैं. अन्य कई दल और निर्दलयी उम्मीदवार भी चुनाव लड़ रहे हैं.

कब है चुनाव?

नरपतगंज विधानसभा में तीसरे चरण में वोटिंग होगी. तीसरे चरण में 15 जिलों की 78 सीटों पर चुनाव होना तय है. इस सीट पर 7 नवंबर को यहां वोट डाले जाएंगे और 10 नवंबर को चुनाव के नतीजे आएंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें