scorecardresearch
 

Purnia: तेजस्वी यादव को बड़ा झटका, इस पुराने नेता ने लगाया टिकट के बदले 50 लाख मांगने का आरोप

चुनाव से पहले तेजस्वी यादव को बड़ा झटका लगा है. जनजाति प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव शक्ति मलिक ने अपनी ही पार्टी के नेता तेजस्वी यादव पर टिकट के बदले 50 लाख रुपये मांगने का आरोप लगाया है.

स्टोरी हाइलाइट्स
  • तेजस्वी पर पार्टी के पूर्व प्रदेश सचिव के आरोप
  • 'जाति सूचक टिप्पणी कर भगा दिया'
  • 'टिकट के बदले मांगे 50 लाख रुपये मांगे'

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में आरोप-प्रत्यारोप का दौर तेज हो गया है. टिकट की दौड़ में शामिल राष्ट्रीय जनता दल के अनुसूचित जाति, जनजाति प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव शक्ति मलिक ने अपनी ही पार्टी के नेता तेजस्वी यादव पर टिकट के बदले 50 लाख रुपये मांगने का आरोप लगाया है. आरोप ये भी है कि 50 लाख रुपये मांगने पर सवाल किया तो जातिगत टिप्पणी कर बेइज्जती भी की गई.

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के प्रथम चरण की नामांकन प्रक्रिया से ठीक दो दिन पहले राष्ट्रीय जनता दल के बड़े नेता तेजस्वी यादव पर बड़ा आरोप लगा है. पार्टी के ही अनुसूचित जाति व जनजाति के प्रदेश सचिव शक्ति मलिक ने अपने ही नेता तेजस्वी यादव पर जातिगत टिप्पणी करने और टिकट के बदले 50 लाख रुपये मांगने का आरोप लगाया है. 

'टिकट के बदले मांगे 50 लाख रुपये मांगे'

प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव शक्ति मलिक का कहना है कि जब वे अपने प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष अनिल साधु के साथ तेजस्वी से मिलने पहुंचे, तो उनसे पहले तो रकम की मांग की गई और जब इस पर सवाल पूछा तब उन्हें जातिसूचक शब्द बोलते हुए कहा गया कि तुम जाति के डोम हो, विधानसभा नहीं जाने देंगे और वहां से भगा दिया.

'जाति सूचक गाली देकर भगा दिया'

वीडियो में शक्ति मलिक तेजस्वी यादव पर आरोप लगाते हुए कह रहे हैं कि पार्टी में टिकट की मांग करने पर तेजस्वी यादव ने 50 लाख रुपये चंदा मांगा था और जब कहा कि ठीक है सोच कर बताते हैं तब उसे जाति सूचक गाली देकर भगा दिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें