scorecardresearch
 

अमौर विधानसभा सीटः 8 बार जीत चुकी है कांग्रेस, बीजेपी के खाते में एक बार आई है सीट

अमौर विधानसभा सीट के इतिहास पर नजर डाले तो यहां 17 बार चुनाव हुए हैं. इसमें दो उपचुनाव भी शामिल हैं. इस सीट से कांग्रेस 8 बार जीती है, जबकि निर्दलीय चार बार, पीएसपी दो बार, बीजेपी, समाजवादी पार्टी और जनता पार्टी एक-एक बार जीत दर्ज करने में सफल हुई हैं.

Amour Vidhan Sabha constituency Amour Vidhan Sabha constituency
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राज्य में 243 विधानसभा सीटों पर चुनाव होना है
  • कांग्रेस के अब्दुल जलील मस्तान विधायक हैं
  • 2015 में BJP की सबा जफर को दी थी मात

बिहार में चुनावी सरगर्मी तेज हो गई है. राज्य में 243 विधानसभा सीटों पर तीन चरणों में चुनाव होना है, जबकि नतीजे 10 नवंबर को आएंगे. इसके मद्देनजर बीजेपी, जेडीयू और आरजेडी सहित सभी दल चुनावी मैदान में उतर चुके हैं. इस बार अमौर विधानसभा सीट पर कांग्रेस अपना परचम फिर लहराना चाहेगी. वहीं, जेडीयू-बीजेपी गठबंधन भी दमखम के साथ उतरने की तैयारी में हैं. 

अमौर विधानसभा क्षेत्र मुस्लिम बाहुल्य है और यहां हिंदू अल्पसंख्यक की भूमिका में हैं. राज्य में वैसे तो कई सीटें ऐसी हैं, जहां देश में अल्पसंख्यक मुस्लिम वोटर्स जीत-हार में अहम जिम्मेदारी निभाते हैं, लेकिन पूर्णिया जिले की अमौर सीट इन सबसे अलग है. इस सीट पर कांग्रेस के अब्दुल जलील मस्तान 1980 के बाद से ज्यादातर काबिज रहे हैं. 

अब तक का इतिहास 

अमौर विधानसभा सीट के इतिहास पर नजर डाले तो यहां 17 बार चुनाव हुए हैं. इसमें दो उपचुनाव भी शामिल हैं. इस सीट से कांग्रेस 8 बार जीती है, जबकि निर्दलीय चार बार, पीएसपी दो बार, बीजेपी, समाजवादी पार्टी और जनता पार्टी एक-एक बार जीत दर्ज करने में सफल हुई हैं. 

2015 का समीकरण

अब्दुल जलील मस्तान 2015 में 6वीं बार विधायक बने थे. 2015 के चुनाव कांग्रेस उम्मीदवार अब्दुल जलील मस्तान ने बीजेपी की सबा जफर को हराया था. अब्दुल जलील मस्तान ने 51,997 मतों के अंतर से चुनाव जीता था. इससे पहले अब्दुल जलील 1985, 1990, 2000, 2005 (फरवरी और अक्टूबर) में यहां से जीते हैं. हालांकि, 1985 में अब्दुल जलील निर्दलीय जीतकर आए थे.

कुल वोटर- 2,80,910
पुरुष- 1,49,626
महिलाएं- 1,31,274
पोलिंग स्टेशन-275
वोटर टर्नआउट- 60%

इन उम्मीदवारों पर रहेगी नजर 

इस सीट से 17 नामांकन दाखिल हुए हैं, जो स्वीकार कर लिए गए हैं.

1- अब्दुल जलील मस्तान(कांग्रेस)
2- सबा जफर(JDU)
3- अख्तरउल इमान (AIMIM)

वोटिंगः 7 नवंबर-शनिवार, रिजल्टः 10 नवंबर

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें