scorecardresearch
 

बंगाल चुनाव: TMC और BJP के किन स्टार उम्मीदवारों को मिली जीत-कौन हारा, जानिए यहां

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव ने परिणाम घोषित किए जा चुके हैं. ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी को 213 सीटें मिली हैं जबकि भारतयी जनता पार्टी को 77 सीटों से संतोष करना पड़ा है.

टीएमसी उम्मीदवार सायोनी घोष, राज चक्रवर्ती और बीजेपी की पायल सरकार. (फाइल फोटो) टीएमसी उम्मीदवार सायोनी घोष, राज चक्रवर्ती और बीजेपी की पायल सरकार. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जून मालिया, मनोज तिवारी को मिली जीत
  • सायोनी घोष, पायल सरकार को मिली हार
  • टीएमसी को 213 जबकि बीजेपी को 77 सीटें मिलीं

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव ने परिणाम घोषित किए जा चुके हैं. ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी को 213 सीटें मिली हैं जबकि भारतयी जनता पार्टी को 77 सीटों से संतोष करना पड़ा है. वहीं राष्ट्रीय सेक्यूलर मजलिस पार्टी को एक सीट और एक सीट निर्दलीय के खाते में गई है. बीजेपी और टीएमसी दोनों ही पार्टियों ने इस चुनाव में कई स्टार हस्तियों को भी टिकट दिया था. इनमें थिएटर, फिल्म और क्रिकेट जगत के लोगों को भी दोनों पार्टियों ने अपना चेहरा बनाया था. 

टीएमसी के इन स्टार उम्मीदवारों को मिली जीत

जून मालिया

पूर्व बंगाली फिल्म अभिनेत्री जून मालिया ने हाल ही में राजनीति में कदम रखा. वो मेदिनीपुर से चुनाव लड़ी थीं. उनके खिलाफ बीजेपी के समित कुमार मैदान में थे. जून मालिया ने 52.13 प्रतिशत वोट हासिल किया. वहीं सुमित कुमार को 40.49 प्रतिशत वोट ही मिले. जून मालिया 'हर हर ब्योमकेश', 'मेरी प्यारी बिंदू' जैसी फिल्मों में भी नजर आ चुकी हैं.

मनोज तिवारी

भारतीय क्रिकेट टीम के लिए खेल चुके मनोज तिवारी को टीएमसी ने बीजेपी नेता रतिंद्रनाथ चक्रवर्ती के खिलाफ मैदान में उतारा था. मनोज तिवारी ने सियासी पिच पर भी टीएमसी को निराश नहीं किया और उन्होंने बीजेपी उम्मीदवार को हरा दिया.

राज चक्रवर्ती

बंगाली फिल्म अभिनेता राज चक्रवर्ती ने बीजेपी उम्मीदवार चंद्रमणि शुक्ला को शिकस्त दी. इस चुनावी क्षेत्र में बीजेपी की पकड़ मानी जाती थी. यहां से टीएमसी नेता अर्जुन सिंह खेमा बदलते हुए साल 2019 में बीजेपी के टिकट पर सांसद बने थे.

कंचन मलिक

उत्तरपाड़ा से कंचन मलिक ने 41.71 प्रतिशत मतों के साथ बीजेपी के प्रबीर घोषाल को शिकस्त दे दी.

अदिति मुंशी

कीर्तन गायिका अदिति मुंशी राजारहाट गोपालपुर सीट पर मैदान में उतरी थीं. उन्होंने बीजेपी के कद्दावर नेता शामिक भट्टाचार्य को हरा दिया. यह क्षेत्र टीएमसी का गढ़ माना जाता है, जहां शामिक की पकड़ कमजोर थी.  

चिरंजीत चक्रवर्ती

चिरंजीत चक्रवर्ती ने टीएमसी के टिकट पर बीजेपी के उम्मीदवार शंकर चटर्जी को आसानी से हरा दिया.

इंद्रनील सेन

गायक इंद्रनील सेन ने चंदननगर सीट से बीजेपी के दीपांजन कुमार गुहा को और सीपीआईएम उम्मीदवार गौतम सरकार को मात दी.

ब्रत्या बसु

बंगाली मंत्री और थिएटर आर्टिस्ट ने एक बार फिर से जीत हासिल की. वह दमदम सीट से टीएमसी के टिकट पर जीते हैं.

बीजेपी के अशोक डिंडा भी जीते

मोयना सीट से बीजेपी उम्मीदवार अशोक डिंडा ने जीत का परचम लहराया. उन्होंने टीएमसी विधायक संग्राम कुमार को 1200 वोटों से हरा दिया.

किसे मिली हार

सायोनी घोष

टीएमसी नेता सायोनी घोष  को आसनसोल दक्षिण सीट पर बीजेपी नेता और फैशन डिजाइनर अग्निमित्रा पॉल के खिलाफ 1800 वोटों से हार झेलनी पड़ी.

सायंतिका बनर्जी  

बांकुरा सीट से सायंतिका बनर्जी को बीजेपी नेता निलाद्री शेखर दाना के खिलाफ 2059 वोट से हार का सामना करना पड़ा. यहां से टीएमसी के टिकट पर मुन मुन सेन ने साल 2014 में लोकसभा चुनाव जीता था.

कौशानी मुखर्जी

बीजेपी नेता मुकुल रॉय के सामने कृष्णनगर उत्तर से टीएमसी के टिकट पर चुना लड़ने वालीं कौशानी मुखर्जी को जनता ने नकार दिया. उन्हें इस सीट से हार का सामना करना पड़ा. 

बाबुल सुप्रियो

सिंगर और आसनसोल से लोकसभा सांसद रहे बाबुल सुप्रियो को टॉलीगंज में टीएमसी विधायक आरूप विश्वास ने हरा दिया. आरूप विश्वास ने अपनी यह सीट बचा ली और बीजेपी के स्टार उम्मीदवार को हार का सामना करना पड़ा.

यश दासगुप्ता

बंगाली फिल्म अभिनेता व बीजेपी नेता यश दासगुप्ता को चंदीताला सीट पर टीएमसी उम्मीदवार स्वाति खांडोकर ने हरा दिया. वह पिछली बार भी इस सीट से विधायक थीं.

पार्णो मित्रा
बारानगर सीट से बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ रहीं पार्णो मित्रा को भी शिकस्त झेलनी पड़ी. उन्हें टीएमसी के तपस रॉय ने हरा दिया.

स्वप्न दासगुप्ता

राज्यसभा सांसद रहे स्वप्न दासगुप्ता ने तारकेश्वर सीट से बीजेपी की तरफ से चुनाव लड़ा था. उन्होंने विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए राज्यसभा से इस्तीफा दिया था. उन्हें टीएमसी उम्मीदवार रामेंदू के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा.

लॉकेट चटर्जी

हुगली से लोकसभा सांसद रहीं लॉकेट चटर्जी को चुड़चुड़ा सीट से बीजेपी ने मैदान में उतारा था. यह सीट उनके संसदीय क्षेत्र में ही आती है. बावजूद इसके वह कमाल नहीं दिखा पाईं और उन्हें हार का सामना करना पड़ा.

पायल सरकार

अभिनेत्री पायल सरकार को टीएमसी उम्मीदवार रत्ना चटर्जी के सामने बेहाला पूर्व से हार का सामना करना पड़ा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें