scorecardresearch
 

देश की 12 सेंट्रल यूनिवर्सिटी में नए कुलपति बहाल, HCU के VC भी बदले

हैदराबाद के केंद्रीय विश्वविद्यालय में प्रोफेसर बसुथकर जे राव को कुलपति के तौर पर नियुक्त किया गया. प्रोफेसर कामेश्वर नाथ सिंह को दक्षिण बिहार के केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति के रूप में नियुक्त किया गया वहीं प्रोफेसर प्रभा शंकर शुक्ला को नॉर्थ ईस्ट हिल्स यूनिवर्सिटी का वीसी बनाया गया. 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने केंद्रीय विश्वविद्यालयों में 12 कुलपतियों की नियुक्ति को मंजूरी दे दी है. नियुक्त किए गए कुलपतियों में हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय के डॉ टंकेश्वर कुमार, हिमाचल प्रदेश के केंद्रीय विश्वविद्यालय के प्रोफेसर सत प्रकाश बंसल, जम्मू केंद्रीय विश्वविद्यालय में  प्रोफेसरसंजीव जैन और झारखंड केंद्रीय विश्वविद्यालय में प्रोफेसर क्षितिज भूषण दास के नाम शामिल हैं. 

अन्य लोगों में प्रोफेसर बट्टू सत्यनारायण को कर्नाटक विश्वविद्यालय का वीसी, तमिलनाडु केंद्रीय विश्वविद्यालय में प्रोफेसर मुथुकलिगन कृष्ण को और हैदराबाद के केंद्रीय विश्वविद्यालय में प्रोफेसर बसुथकर जे राव को कुलपति के तौर पर नियुक्त किया गया. प्रोफेसर कामेश्वर नाथ सिंह को दक्षिण बिहार के केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति के रूप में नियुक्त किया गया वहीं प्रोफेसर प्रभा शंकर शुक्ला को नॉर्थ ईस्ट हिल्स यूनिवर्सिटी का वीसी बनाया गया. 

प्रो आलोक कुमार को गुरु घासीदास विश्वविद्यालय, प्रो सैयद ऐनुल हसन को मौलाना आजाद राष्ट्रीय उर्दू विश्वविद्यालय और प्रोफेसर एन लोकेंद्र सिंह को मणिपुर विश्वविद्यालय का वीसी बनाया गया. कई विश्वविद्यालयों में अभी कुलपतियों के पद खाली हैं. बता दें कि देश की केंद्रीय विश्वविद्यालयों में कुलपतियों के 22 पद खाली हैं, शिक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को इस बात की जानकारी दी थी. 

राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में, शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा था कि "इस मंत्रालय के तहत केंद्रीय विश्वविद्यालयों में कुल 22 कुलपतियों के पद खाली हैं, जिनमें से 12 पदों पर नियुक्तियों को पहले ही विजिटर द्वारा अंतिम रूप दिया जा चुका है. बता दें कि भारत के राष्ट्रपति केंद्रीय विश्वविद्यालयों के विजिटर होते हैं. वहीं देश भर के विभिन्न भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (आईआईटी) में अध्यक्ष के आठ पद खाली हैं, जबकि इनमें से पांच प्रमुख संस्थान नियमित निदेशक के बिना चल रहे हैं. 

श‍िक्षामंत्री ने अपने लिख‍ित उत्तर में बताया था कि वर्तमान में, IIT में अध्यक्ष के 8 पद और NIT में अध्यक्ष के 21 पद खाली हैं. इसके अलावा, IIT में निदेशकों के 5 पद और NIT में 5 पद रिक्त हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें