scorecardresearch
 

दिल्ली में 9वीं- 11वी के एग्जाम कैंसिल, डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने किया ऐलान

सीबीएसई 12वीं के एग्जाम कैंसिल होने के बाद दिल्ली सरकार ने नौवीं और 11वीं की परीक्षाओं को भी कैंसिल कर दिया है. पहले अप्रैल 2021 में इन्हें पोस्टपोन किया गया था जिन्हें अब कैंसिल कर दिया गया है. पढ़ें पूरी डिटेल...

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो

कोरोना की दूसरी लहर के बाद हालात भले ही सुधर रहे हों, लेकिन अभी भी स्थ‍ित‍ियां इतनी अनुकूल नहीं हो पाई हैं कि ऑफलाइन परीक्षाओं का फैसला लिया जा सके. इन्हीं खतरों को ध्यान में रखते हुए दिल्ली सरकार ने राज्य में 9वीं  और 11वी की परीक्षाएं रद्द कर दी हैं. डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने गुरुवार को इसका ऐलान किया. बता दें क‍ि इन परीक्षाओं को 12 अप्रैल को 2021 को पोस्टपोन किया गया था जिन्हें अब कैंसिल कर दिया गया है. 

दिल्ली के श‍िक्षामंत्री एवं उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि इन एग्जाम को अब रद्द कर दिया गया है. इन छात्रों को अगली क्लास में प्रमोट कर दिया जाएगा. दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसौदिया ने एक प्रेस कांफ्रेस में इसकी घोषणा की, उन्होंने कहा कि कोरोना संकट की वजह से ऐसा करना पड़ा. 

जो प्राइवेट स्कूल अपने मिड-टर्म और एनुअल एग्जाम करवा चुके थे, वो अब उसी आधार पर अपने छात्रों का रिजल्ट घोषित कर सकते हैं. जिस किसी स्कूल में भी केवल मिड टर्म एग्जाम हो पाए थे और वार्षिक परीक्षाएं नहीं हो पाई थी चाहे वह सरकारी स्कूल हो या प्राइवेट स्कूल हो वह सब अपने मिड टर्म एग्जाम के आधार पर नौवीं और ग्यारहवीं का रिजल्ट घोषित करेंगे. 

जिन स्कूलों में मिड टर्म एग्जाम भी नहीं हो पाए थे या फिर कुछ हो पाए थे और कुछ नहीं हो पाए थे, ऐसे सभी स्कूलों में बच्चे ने जिन दो विषयों में सबसे अच्छा प्रदर्शन (BEST-2)किया उस प्रदर्शन के आधार पर आए नंबरों से उनका अगली क्लास में प्रमोशन कर दिया जाएगा और बाकी विषयों में भी अंक देकर मार्क शीट तैयार कर दी जाएगी. 

दिल्ली सरकार के स्कूलों में 9वी और 11वीं का रिजल्ट 22 जून को घोषित किया जाएगा. यह रिजल्ट शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर देखा जा सकेगा लेकिन कोई भी विद्यालय छात्रों को स्कूल नहीं बुला सकता. कुछ ऐसे भी छात्र हैं जिन्होंने मिड टर्म का केवल एक ही पेपर दिया था या कुछ ऐसे भी हैं जिन्होंने कोई भी एग्जाम नहीं दिया था या फिर ऐसे भी छात्र होंगे जिन्होंने मिड टर्म के तो एग्जाम दिए लेकिन उसमें पास नहीं हो पाए या उनके मार्क्स पास होने वाले नहीं आए उन सब बच्चों को एक बार और परीक्षा का मौका दिया जाएगा. 

ऐसे बच्चों की जो परीक्षा होगी वह फिजिकल यानी स्कूल में बुलाकर नहीं होगी.  उनका आकलन रिअसेसमेंट प्रोजेक्ट और असाइनमेंट के द्वारा किया जाएगा और यह स्कूल के स्तर पर होगा. इसके लिए पूरी गाइडलाइन जारी की जाएगी. 
जो बच्चे दिल्ली सरकार के स्कूल में छठी से नौवीं कक्षा में दाखिला लेना चाह रहे हैं, उनके लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन होगा. रजिस्ट्रेशन कल शाम से खुल जाएगा. 11 से 30 जून के बीच ऑनलाइन आवेदन किया जा सकेगा, 14 जुलाई तक एडमिशन के बारे में घोषणा कर दी जाएगी. 

एग्जाम कैंसिल होने के बाद इन छात्रों को आगे प्रमोट करने को लेकर डिप्टी सीएम ने कहा कि इन छात्रों ने मिड टर्म परीक्षा के आधार पर परिणाम घोषित किया जाएगा. बता दें क‍ि दिल्ली में इसी साल पांच फरवरी से नवीं और ग्यारहवीं कक्षाओं के लिए स्कूल खोले गए थे. स्कूलों को कोरोना से सभी स्टूडेंट्स की सुरक्षा मानदंडों के पालन की शर्त के साथ खोला गया था, लेकिन कोविड की दूसरी लहर के आने के साथ ही फिर से स्कूलों को बंद करना पड़ा. इस कारण छात्रों की परीक्षाओं व प्रैक्टिकल की तैयारियां भी अधर में रह गईं. वहीं लंबे समय से पेरेंट्स भी 9वीं और 11वीं की परीक्षाएं कैंसिल करने की मांग कर रहे थे. इसे देखते हुए सरकार ने ये फैसला लिया.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें