scorecardresearch
 

Russia Victory Day Parade: क्‍या है रूस की विक्‍ट्री डे परेड? जानें इसका इतिहास और इस साल के आयोजन की खास बातें

Victory Day Parade: आज ही के दिन 1945 की मध्‍यरात्रि में यूरोप और अफ्रीका के उत्‍तरी भागों में दूसरे विश्‍व युद्ध का आधिकारिक समापन हुआ था. इस साल, यूक्रेन संकट के बीच रूस का विक्‍ट्री डे और महत्‍वपूर्ण होने वाला है क्‍योंकि सारी दुनिया की नज़रें इस बात पर होंगी कि आखिर राष्‍ट्रपति पुतिन अपने संबोधन में क्‍या कहने वाले हैं.

X
Russian Victory Day Parade Russian Victory Day Parade
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मॉस्‍को के रेड स्‍क्‍वॉयर पर होगा आयोजन
  • राष्‍ट्रपति पुतिन करेंगे राष्‍ट्र को संबोधित

Victory Day Parade: 1945 में दूसरे विश्व युद्ध में नाजी जर्मनी पर दर्ज जीत के उपलक्ष्य में रूस आज 09 मई को अपना वार्षिक विजय दिवस यानी विक्‍ट्री डेट मना रहा है. इस साल, यूक्रेन संकट के बीच रूस का विक्‍ट्री डे और महत्‍वपूर्ण होने वाला है क्‍योंकि सारी दुनिया की नज़रें इस बात पर होंगी कि आखिर राष्‍ट्रपति पुतिन अपने संबोधन में क्‍या कहने वाले हैं. संभव है कि प्रतीकात्मक रूप से महत्वपूर्ण इस आयोजन के दौरान पुतिन रूस की सैन्य शक्ति का प्रदर्शन करेंगे. 

कहां होनी है विक्‍ट्री डे परेड?
विक्‍ट्री डे परेड का आयोजन मॉस्को के रेड स्क्वायर पर किया जाएगा. मौके पर सीनियर क्रेमनिल ऑफि‍सर मौजूद रहेंगे. राष्‍ट्रपति पुतिन यहीं से राष्‍ट्र के नाम अपना संबोधन भी देंगे. याद दिला दें कि साल 2020 में कोरोना महामारी के चलते विक्‍ट्री डे परेड का आयोजन 09 मई की जगह 24 जून को किया गया था.

क्‍या है विक्‍ट्री डे परेडय़
विक्ट्री डे रूस और स्वतंत्र राज्यों के राष्ट्रमंडल (बाल्टिक और यूक्रेन को छोड़कर) के लगभग सभी सदस्य देशों का प्रमुख मिलिट्री हॉलीडे है. ये दिन रूस सरकार द्वारा एक उत्सव के तौर पर मनाया जाता है. आज के दिन को दूसरे विश्‍व युद्ध में रूस के मित्र राष्‍ट्रों की जीत के रूप में चिन्हित किया जाता है. 

क्‍या है 09 मई का इतिहास?
आज ही के दिन 1945 की मध्‍यरात्रि में यूरोप और अफ्रीका के उत्‍तरी भागों में दूसरे विश्‍व युद्ध का आधिकारिक समापन हुआ था. इसी दिन बर्लिन में विजयी सहयोगियों ने कैपिट्यूलेशन के जर्मनी अधिनियम पर हस्ताक्षर किए थे. पहली विक्‍ट्री डे परेड 24 जून, 1945 को आयोजित हुई थी. इस दौरान रूसी सैनिकों ने न केवल नाजियों से मास्‍को के लिए लड़ाई लड़ी थी, बल्कि लेनिनग्राड और स्‍टालिनग्राड की रक्षा थी की थी. इसके बाद उन्‍होंने रेड स्‍क्‍वायर पर शानदार विक्‍ट्री डे परेड निकाली थी.

 

TOPICS:
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें