scorecardresearch
 

Sidhu Moose Wala Shot Dead: केकड़ा और महाकाल के बाद अब पुलिस के हत्थे चढ़ा जाधव

Sidhu Moose Wala Shot Dead: संतोष जाधव भी लॉरेंस बिश्नोई गैंग का शूटर है, जिसने सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल होने की बात स्वीकार की थी. संतोष उन 8 शूटर्स में शामिल है, जिन पर पुलिस को शक है. इनमें से 3 शूटर पंजाब, 2 हरियाणा, 2 महाराष्ट्र और एक राजस्थान का रहने वाला है.

X
संतोष जाधव (दाएं-सफेद शर्ट में) संतोष जाधव (दाएं-सफेद शर्ट में)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बिश्नोई गैंग का शूटर संतोष जाधव गुजरात से गिरफ्तार
  • संतोष जाधव उन 8 शूटर्स में शामिल, जिन पर पुलिस को शक

Sidhu Moose Wala Shot Dead: पंजाबी सिंगर और कांग्रेस नेता सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में एक्शन तेज हो गया है. केकड़ा और महाकाल के बाद अब पुलिस ने बिश्नोई गैंग के शूटर संतोष जाधव को गुजरात से गिरफ्तार कर लिया है. पुणे की ग्रामीण पुलिस ने गिरफ्तारी के बाद जाधव को रविवार देर रात मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया. उसे 20 जून तक रिमांड पर जेल भेज दिया गया है.

बता दें कि संतोष जाधव भी लॉरेंस बिश्नोई गैंग का शूटर है, जिसने सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल होने की बात स्वीकार की थी. संतोष उन 8 शूटर्स में शामिल है, जिन पर पुलिस को शक है. इनमें से 3 शूटर पंजाब, 2 हरियाणा, 2 महाराष्ट्र और एक राजस्थान का रहने वाला है. 

पुलिस की पकड़ में आया संतोष जाधव पुणे में भी एक हत्या के मामले में आरोपी है. महाराष्ट्र पुलिस ने उसके खिलाफ मकोका के तहत मामला दर्ज किया है. पुणे पुलिस बिश्नोई से इस बात का भी पता करेगी कि महाराष्ट्र के कितने लोग उसकी गैंग में शामिल हैं. जाधव पुणे के करीबी खेड तहसील का रहने वाला है.

दरअसल, सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड की तहकीकात कर रही पुलिस के हाथ संतोष जाधव का एक फोटो लगा था. इस फोटो में जाधव गैंगस्टर अरुण गवली की पत्नी आशा गवली के साथ नजर आया था.

पुणे पुलिस ने किया था महाकाल को गिरफ्तार

सिद्धू मूसेवाला की हत्या के एक हफ्ते बाद पुणे पुलिस ने सिद्धेश कांबले उर्फ महाकाल नाम के एक अपराधी को गिरफ्तार किया था. उसका दावा है कि उसे एक हफ्ते पहले ही पता चल गया था कि मूसेवाला की हत्या होने वाली है. महाकाल भी लॉरेंस बिश्नोई गैंग का गुर्गा है. 

महाकाल से सलमान खान को धमकी वाले मामले में मुंबई क्राइम ब्रांच की पुलिस पूछताछ कर चुकी है. वहीं मूसेवाला मर्डर केस में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और पंजाब पुलिस की टीम सवाल-जवाब कर चुकी है. महाराष्ट्र पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है कि महाकाल इस हत्याकांड में सीधे तौर पर शामिल नहीं था.

जानकारी अब तक मिली है उसके मुताबिक उसे पता था कि मूसेवाला की हत्या होने वाली है. क्योंकि लॉरेंस बिश्नोई गैंग को कनाडा से चला रहे विक्राम बराड़ ने उसके साथ मूसेवाला को लेकर कई बार बातचीत की थी. पुलिस अधिकारी ने बताया कि मूसेवाला की हत्या की तारीख यानी 29 मई से हफ्ते भर पहले से महाकाल विक्रम बराड़ के संपर्क में था.

पंजाब पुलिस ने किया था केकड़ा को गिरफ्तार

सिद्धू मूसेवाला की हत्याकांड का मुख्य किरदार संदीप उर्फ केकड़ा की भी गिरफ्तारी हो चुकी है. उसी ने मूसेवाला की रेकी की और विदेश में बैठे गोल्डी बरार को जानकारी दी थी. पंजाब पुलिस की पूछताछ में केकड़ा ने बताया था कि मूसेवाला की रेकी की डील 15 हजार रुपए में हुई थी. वो कई बार रेकी करने गया था.

जांच में ये भी सामने आया है कि 13 बार केकड़ा की फोन पर गोल्डी बराड़ से बात हुई थी. 29 तारीख को जिस दिन सिद्धू मूसेवाला की हत्या हुई उस दिन केकड़ा ही वो शख्स था, जिसने गोल्डी बरार को ये जानकारी दी थी कि मूसेवाला निकल गया है. उसके साथ सिक्योरिटी नहीं है और वो बुलेटप्रूफ गाड़ी में भी नहीं है. बता दें कि पंजाबी सिंगर और कांग्रेस नेता सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें