scorecardresearch
 

ऑनर किलिंगः 3 साल बाद दामाद का कत्ल, खेत में लाश दबाकर चलाया पानी

पुलिस के मुताबिक मनोज की हत्या गला दबाकर की गई है. बाद में मनोज के शव को गन्ने के खेत में गाड़ दिया गया. पुलिस शव को ना ढूंढ सके. इसी को लेकर गन्ने के खेत में पानी से सिंचाई कर दी गई.

पुलिस मामले की छानबीन कर रही है पुलिस मामले की छानबीन कर रही है

मुजफ्फरनगर में एक ऑनर किलिंग का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है, जहां अपनी झूठी शान की खातिर प्रेम विवाह के तीन साल बाद लड़की के परिजनों ने ही उसके पति को मौत के घाट उतार दिया. यही नहीं हत्या करने के बाद उन्होंने मृतक का गन्ने के खेत में कई फीट जमीन के नीचे गाड़ दिया और ऊपर से मिट्टी डालकर सिंचाई के लिए पानी चला दिया.

दिल दहला देने वाली यह वारदात जनपद मुज़फ्फरनगर के शाहपुर थाना क्षेत्र की है. जहां कुटबा गांव में ऑनर किलिंग की इस घटना से हड़कम्प मच गया है. शादी के 3 साल बाद पहली बार अपनी ससुराल आए युवक मनोज शर्मा का शव खेत में बनाए गए एक गहरे गड्ढे से बरामद किया गया. मृतक युवक दो दिन से गायब था.

मृतक की पत्नी (महिला लेखपाल) लगातार अपने भाई और परिजनों पर पति के अपहरण का आरोप लगाकर उसकी हत्या की आशंका जता रही थी, जिसके बाद पुलिस ने गांव में तलाश ली. लेकिन कोई सफलता हाथ नहीं लगी. देर रात पुलिस ने कई घंटों की कड़ी मशक्कत के बाद महिला लेखपाल के अपहृत पति मनोज के शव को कुटबा गांव के एक गन्ने के खेत में कई फीट गहरे गड्ढे से बरामद किया.

पुलिस के अनुसार प्रथम दृष्टया उसकी गला दबाकर हत्या की गई है. बाद में मनोज के शव को गन्ने के खेत में गाड़ दिया गया. पुलिस शव को ना ढूंढ सके. इसी को लेकर गन्ने के खेत में पानी से सिंचाई कर दी गई. बहराल पुलिस ने शव बरामद कर एक आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है.

बताया जा रहा है कि लगभग 3 वर्ष पूर्व बागपत निवासी मनोज शर्मा ने जनपद मुजफ्फरनगर के कुटबा गांव की रहने वाली एक अंतरजातीय युवती से प्रेम विवाह कर लिया था. मनोज शर्मा की सरकारी नौकरी लग गई और वह महाराष्ट्र में नौकरी करने लगा. इसी दौरान मनोज की पत्नी कि नौकरी भी उत्तर प्रदेश में लेखपाल के पद पर लग गई.

वह भी नौकरी करने लगी कुछ दिन बीते तो दोनों को एक बेटा पैदा हुआ और हंसी खुशी दोनों रहने लगे. महिला लेखपाल का ट्रांसफर उसके मायके कुटबा गांव के पास जनपद शामली में हो गया. जिसके बाद महिला लेखपाल के परिजनों ने उसे गांव में ही रहकर नौकरी करने की सलाह दी.

महिला ने परिजनों द्वारा प्रेम विवाह से कोई नाराजगी न होने की बात सोच कर अपने मायके कुटबा गांव में ही रहकर नौकरी करने लगी. अभी कुछ दिन पूर्व उसके पति का तबादला दिल्ली हो गया और इसी की खुशखबरी अपनी पत्नी से बांटने के लिए वह पहली बार अपनी ससुराल जनपद मुजफ्फरनगर के गांव कुटबा पहुंच गया.

जहां पर उसकी पत्नी के परिजनों ने मनोज का अपहरण कर लिया. महिला लेखपाल ने अपने पति का अपहरण किए जाने की शिकायत शाहपुर थाने में करते हुए खुद अपने चार परिजनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया और हत्या की आशंका भी जताई. इसके बाद मुजफ्फरनगर पुलिस ने मनोज को सकुशल बरामद करने के प्रयास किए.

मगर कई घंटों की मशक्कत करने के बाद मनोज का शव गन्ने के खेत में गड़ा मिला. जिसे पुलिस ने बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को हिरासत में लिया है. जिससे पूछताछ की जा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें