scorecardresearch
 

गाजियाबाद में ऑनर किलिंग, प्रेम प्रसंग के चलते मां-बाप ने घोंटा बेटी का गला

परिवार वालों ने ही लड़की की हत्या कर शव खेत में फेक दिया था और उसके कपड़ों से छेड़छाड़ कर रेप जैसे हालात बनाने की कोशिश की थी.किसी अन्य समुदाय के युवक से प्रेम प्रसंग के चलते नाबालिग लड़की की हत्या को अंजाम दिया गया था.

माता-पिता, भाई ने मिलकर की थी हत्या माता-पिता, भाई ने मिलकर की थी हत्या

ग़ाज़ियाबाद पुलिस ने बीते सप्ताह एक नाबालिग लड़की की हत्या का पर्दाफाश कर दिया है. पुलिस के मुताबिक, नाबालिग की हत्या से पहले उसके साथ रेप नहीं हुआ था, बल्कि उसके परिवार वालों ने ही उसकी हत्या की थी. मामला ऑनर किलिंग का है. पुलिस ने नाबालिग लड़की की हत्या के आरोप में मृतका के पिता, भाई और मां को गिरफ्तार कर लिया है.

दरअसल गाजियाबाद के भोजपुर थाना क्षेत्र के फरीदनगर गांव में 1 जनवरी को एक 15 वर्षीय लड़की की लाश खेत में पड़ी मिली थी. लड़की के कपड़े अस्त व्यस्त थे. मृतका के पिता ने रेप के बाद हत्या की आशंका में रिपोर्ट दर्ज कराई थी. लेकिन पुलिस को जांच में पता चला कि पिता ने ही गला दबाकर अपनी बेटी की हत्या की थी.

पुलिस के अनुसार परिवार वालों ने ही लड़की की हत्या कर शव खेत में फेक दिया था और उसके कपड़ों से छेड़छाड़ कर रेप जैसे हालात बनाने की कोशिश की थी. पुलिस ने बताया कि किसी अन्य समुदाय के युवक से प्रेम प्रसंग के चलते नाबालिग लड़की की हत्या को अंजाम दिया गया था.

शुरुआत में पुलिस को गन्ने के खेत पर काम करने वाले मजदूर राहुल पर शक हुआ था. लेकिन स्थानीय पुलिस जब विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच में जुटी तो पुलिस को इस हत्याकांड में पिता की बातों में विरोधाभास का अहसास हुआ.

पुलिस जांच में पाया गया कि परिजनों को शक था कि लड़की राहुल से प्रेम करती है और उन्हें यह भी डर था कि कहीं उनकी लड़की उसके साथ भाग न जाए. समाज में नाक कटने के झूठे डर से माता-पिता और भाई ने मिलकर पहले लड़की का गला घोंट दिया और उसके बाद शव गांव में ही गन्ने के खेत में फेंक दिया.

मृतका की मां ने अपनी लड़की के शव के कमर के निचले हिस्से के कपड़े उतारकर पूरे मामले को रेप के बाद हत्या का रूप देने की कोशिश भी की. लेकिन पुलिस जांच में परिवार फंस गया और सच्चाई सामने आ गई.

गिरफ्तार मृतका के माता-पिता और भाई को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. पुलिस ने इस हत्याकांड का पर्दाफाश कर न सिर्फ एक निर्दोष को जेल जाने से बचा लिया बल्कि इज्जत की खातिर लोगों में पनप रही हत्या जैसी भावना का भी खुलासा किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें