scorecardresearch
 

यूपी: 3 साल की बच्ची से रेप, खून से लथपथ तड़पती रही, कोरोना के डर से नहीं मिला इलाज

लखनऊ से एक शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है. जहां पर एक तीन साल की मासूम रेप पीड़िता बच्ची को रातभर इलाज नहीं मिला. बच्ची के माता-पिता एंबुलेंस में लेकर कई अस्पताल गए. लेकिन कोरोना के चलते अस्पताल में उसे भर्ती नहीं किया गया.

(प्रतीकात्मक फोटो) (प्रतीकात्मक फोटो)

  • बच्ची से सगे ताऊ ने किया बलात्कार
  • रातभर अस्पतालों में नहीं मिला इलाज

उत्तर प्रदेश के लखनऊ से एक दर्दनाक घटना सामने आई है. जहां पर एक रेप पीड़ित मासूम बच्ची को कोरोना संक्रमण के चलते अस्पताल में इलाज मिलना बेहद मुश्किल हो गया. गंभीर हालात में बच्ची के माता-पिता उसे एंबुलेंस में लेकर दर-दर भटक रहे हैं. हरदोई से लखनऊ पहुंचे माता-पिता को उम्मीद थी कि यहां पर उनकी बच्ची को सही इलाज मिल जाएगा. लेकिन कई जगह भटकने के बावजूद रातभर इलाज नहीं मिल पाया.

जानकारी के मुताबिक जिला हरदोई की रहने वाली तीन साल की मासूम बच्ची के साथ उसके सगे ताऊ ने पर रेप किया. बच्ची को इलाज के लिए परिजन लखनऊ में केजीएमसी हॉस्पिटल, सिविल हॉस्पिटल और लोहिया हॉस्पिटल पहुंचे. लेकिन डॉक्टरों ने बच्ची को इलाज देने से मना कर दिया. पीड़ित परिजनों को बोला गया कि कोरोना वायरस के चलते बच्ची को अस्पताल में भर्ती नहीं किया जा सकता है.

तीन साल की बच्ची खून से लथपथ पड़ी रही

अस्पताल प्रशासन का कहना था कि कोरोना संक्रमण के चलते बेड की व्यवस्था नहीं है और लखनऊ में जबरदस्त तरीके से संक्रमण फैला हुआ है इसलिए बच्ची को एडमिट नहीं किया जा सकता. इस दौरान बच्ची की हालत बिगड़ती जा रही थी. पीड़ित परिवार को कहीं से कोई मदद नहीं मिल पा रही थी.

बच्ची को सुबह अस्पताल में भर्ती किया गया

पूरी रात अस्पताल के बाहर इंतजार करने के बाद आखिरकार बच्ची का इलाज हुआ. राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल के पीआरओ श्रीकेश के मुताबिक, बच्ची को सुबह एडमिट कर लिया गया है और उसका ऑपरेशन किया जा रहा है. बच्ची को काफी ब्लीडिंग हो गई थी. अभी उसकी हालत में सुधार है. डॉक्टर पूरी तरह से निगरानी रख रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें