scorecardresearch
 

खुद को दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री बताने वाली कल्पना सिंह के पति गिरफ्तार

एसपी ने बताया कि प्रशांत सिंह पर रायबरेली और बाराबंकी में करीब 15 आपराधिक मामले दर्ज हैं. उसका लंबा आपराधिक इतिहास रहा है और अब उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेजा जा रहा है.

नीली शर्ट में प्रशांत सिंह नीली शर्ट में प्रशांत सिंह
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एसओजी और पुलिस ने की कार्रवाई
  • बाराबंकी से शराब तस्करी का मुकदमा हुआ था दर्ज

उत्तर प्रदेश के रायबरेली के ऊंचाहार बाजार से शनिवार शाम यूपी पुलिस ने छत्तीसगढ़ समाज कल्याण बोर्ड की सदस्य और खुद को राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त बताने वाली कल्पना सिंह के पति प्रशांत सिंह को अरेस्ट कर लिया. प्रशांत सिंह के ऊपर बाराबंकी से शराब तस्करी का मुकदमा दर्ज हुआ था और वह वांछित चल रहा था. उस पर 50 हजार रुपये का इनाम भी था.

वहीं छतीसगढ़ सरकार की समाज कल्याण मंत्री अनिला भेड़िया के मुताबिक कल्पना सिंह समाज कल्याण विभाग की सदस्य हैं, लेकिन 'राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त' नहीं हैं.

बहरहाल, ऊंचाहार बाजार में शनिवार देर शाम जब अचानक तीन गाड़ियों को चारों तरफ से पुलिस वालों ने घेर लिया तो हड़कंप मच गया. उस गाड़ी के साथ सुरक्षा के तमाम इंतजाम थे. इसी में कल्पना सिंह का पति प्रशांत सवार था. एसओजी टीम ने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर उसे गिरफ्तार कर लिया.

उनके पास से एक पिस्टल, जिंदा कारतूस भी बरामद किया गया था. उनके खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है. जब प्रशांत सिंह को गिरफ्तार किया गया तो उसने धौंस दिखाते हुए अपनी राजनीतिक पहुंच का हवाला दिया और पुलिस वालों के साथ गाली-गलौज, वर्दी उतरवाने और जाने से मारने तक की धमकी दी.  

एसपी ने बताया कि प्रशांत सिंह पर रायबरेली और बाराबंकी में करीब 15 आपराधिक मामले दर्ज हैं. उसका लंबा आपराधिक इतिहास रहा है और अब उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेजा जा रहा है. जब उनसे पूछा गया कि क्या प्रशांत की पत्नी छत्तीसगढ़ में दर्जा प्राप्त मंत्री हैं तो पुलिस ने इस बारे में जानकारी न होने की बात कही. 

देखें आजतक लाइव टीवी

बताया जा रहा है कि प्रशां​त सिंह अपने परिवार के एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आया था. मुखबिर की सूचना पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया. प्रशांत को छुड़ाने के लिए कई स्तर पर दबाव बनाया गया, लेकिन पुलिस प्रशासन ने किसी की एक नहीं सुनी.

वहीं उनकी पत्नी कल्पना सिंह ने इन सबके पीछे अपने विरोधी और भारतीय जनता पार्टी के नेता दिनेश प्रताप सिंह और उनके भाइयों पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह सब उनके द्वारा करवाया गया है और बार-बार समझौते के लिए दबाव डाला जा रहा है.

ये भी पढ़ें-

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें