scorecardresearch
 

यूपी: शुक्रवार की हिंसा के बाद अब तक 229 लोग गिरफ्तार, नूपुर शर्मा के खिलाफ सड़कों पर उतरे थे लोग

यूपी पुलिस ने अलग-अलग शहरों में हुई हिंसा के मामले में अब तक 229 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. प्रयागराज में सबसे ज्यादा 70 गिरफ्तारियां हुई हैं.

X
प्रयागराज में उपद्रवियों पर लाठीचार्ज करती पुलिस (फाइल फोटोः पीटीआई) प्रयागराज में उपद्रवियों पर लाठीचार्ज करती पुलिस (फाइल फोटोः पीटीआई)
32:49
स्टोरी हाइलाइट्स
  • प्रयागराज में सबसे ज्यादा 70 गिरफ्तार
  • सहारनपुर में 48, हाथरस में 50 गिरफ्तारियां

नूपुर शर्मा के बयान के खिलाफ शुक्रवार के दिन जुमे की नमाज के बाद यूपी के कई शहरों में लोग सड़कों पर उतर आए थे. प्रदर्शन के दौरान हिंसा भड़क उठी थी. हिंसक प्रदर्शन के इस मामले में यूपी पुलिस अब एक्शन में आ गई है. यूपी पुलिस ने अलग-अलग शहरों में हुई हिंसा के मामले में अब तक 229 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.

सबसे ज्यादा 70 गिरफ्तारियां प्रयागराज में हुई हैं. यूपी पुलिस ने सहारनपुर में 48, हाथरस में 50, मुरादाबाद में 25, फिरोजाबाद में 8, अंबेडकरनगर में 28 लोगों की गिरफ्तारी पुलिस ने की है. शुक्रवार के दिन भड़की हिंसा के मामले में पुलिस ने 5000 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

प्रयागराज में एक दिन पहले हुई हिंसा के बाद पुलिस-प्रशासन अलर्ट मोड में है. पूरे जिले में धारा 144 लागू कर दिया गया है. हिंसा प्रभावित खुल्दाबाद और करेली थाना क्षेत्रों में पुलिस ने पैट्रोलिंग बढ़ा दी है. पुलिस ने उपद्रवियों की शिनाख्त कर गिरफ्तारी की कार्रवाई भी तेज कर दी है. पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक प्रयागराज हिंसा मामले में पुलिस ने तीन मामले दर्ज किए हैं.

प्रयागराज के खुल्दाबाद और करेली थाने में पुलिस ने एफआईआर दर्ज की हैं. पुलिस की टीमें उपद्रवियों की पहचान कर धरपकड़ में जुटी हैं. पुलिस प्रशासन ने हालात पूरी तरह नियंत्रण में और शांतिपूर्ण होने का दावा किया है. गौरतलब है कि शुक्रवार के दिन भड़की हिंसा में प्रयागराज काफी प्रभावित रहा था.

गौरतलब है कि पैगंबर को लेकर नूपुर शर्मा के बयान के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन हुए थे. जुमे की नमाज के बाद यूपी के कई शहरों में भी लोग सड़कों पर उतर आए और विरोध-प्रदर्शन किया. इस दौरान प्रयागराज के अटाला इलाके के साथ ही कई अन्य इलाकों में भी पथराव की घटनाएं हुईं. आगजनी की घटनाएं भी हुई थीं. हालात को काबू करने के लिए अतिरिक्त पुलिस फोर्स प्रयागराज भेजनी पड़ी थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें