scorecardresearch
 

चित्रकूट: चाइल्ड पोर्नोग्राफी का रैकेट चलाने वाला इंजीनियर गिरफ्तार, 50 से अधिक बच्चों को बनाया शिकार

यूपी सरकार में जूनियर इंजीनियर के पद पर तैनात रामभवन पर आरोप है कि उसने चित्रकूट, बांदा और महोबा जैसे जिलों में जेई रहते हुए 50 से अधिक बच्चों के साथ अश्लील हरकतें कीं और वीडियो बनाए.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मिलीं 50 से अधिक अश्लील वीडियो क्लिप्स
  • चित्रकूट में ही जेई से पूछताछ कर रही सीबीआई
  • कब्जे में लिया मोबाइल फोन, लैपटॉप, वेब कैमरा

उत्तर प्रदेश के चित्रकूट में सिंचाई विभाग के एक जूनियर इंजीनियर को सीबीआई ने आज बच्चों के साथ अश्लीलता करने, चाइल्ड पॉर्नोग्राफी बनाने, उसे ऑनलाइन बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया है. यूपी सरकार में जूनियर इंजीनियर के पद पर तैनात रामभवन पर आरोप है कि उसने चित्रकूट, बांदा और महोबा जैसे जिलों में जेई रहते हुए 50 से अधिक बच्चों के साथ अश्लील हरकतें कीं और वीडियो बनाए.

आरोप के मुताबिक, रामभवन ने ये वीडियोज अपने साथी की मदद से स्थानीय लोगों के साथ-साथ ऑनलाइन बेचने की भी कोशिश की. दिल्ली से पहुंची केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की टीम ने रामभवन को गिरफ्तार कर लिया है. उससे चित्रकूट में ही सीबीआई की टीम पूछताछ कर रही है. दरअसल, सीबीआई की एक यूनिट बच्चों से जुड़े अश्लील अपराध चाइल्ड पॉर्नोग्राफी पर नजर रखती है.

देखें: आजतक LIVE TV

सीबीआई की उसी विंग ने एक बड़े चाइल्ड पोर्नोग्राफी रैकेट को पकड़ा है. इस शख्स के बारे में बताया जा रहा है कि बुंदेलखंड के बांदा, चित्रकूट और महोबा में तैनात रहते हुए जेई ने 5 साल से लेकर 16 साल तक के बच्चों के साथ यौन अपराध किए और उनके अश्लील वीडियो बनाए और उसे ऑनलाइन बेचा.

सीबीआई सूत्रों के मुताबिक, यह जूनियर इंजीनियर पहले फेसबुक, इंस्टाग्राम जैसे सोशल साइट्स पर दोस्ती करता था. उसके बाद उन्हें महंगे गिफ्ट का प्रलोभन देता था. कई बच्चों लड़कों को उसने महंगे मोबाइल, घड़ी, विदेशी, चॉकलेट जैसे प्रलोभन देकर अपने जाल में फंसाता था. बच्चों का यौन शोषण करने के साथ-साथ चाइल्ड पोर्नोग्राफी में इस्तेमाल करता था.

सीबीआई ने बयान जारी कर कहा है कि आरोपी जेई के पास से बड़ी संख्या में बच्चों के अश्लील वीडियो क्लिप मिले हैं. कड़ाई से पूछताछ में रामभवन ने काफी कुछ कबूल भी कर लिया है. चित्रकूट में उसके घर पर भी सीबीआई की टीम ने छापेमारी कर लैपटॉप, वेब कैमरा, मोबाइल कब्जे में ले लिए. कई ईमेल मिले हैं, जिसके माध्यम से उसके चाइल्ड पोर्नोग्राफी क्लिप बेचने का खुलासा हुआ है.

सोनभद्र से भी हुई थी एक की गिरफ्तारी

सीबीआई ने चाइल्ड पोर्नोग्राफी से ही संबंधित एक अन्य मामले में सोनभद्र से नीरज यादव नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया था. नीरज पर आरोप है कि वह सोशल मीडिया के जरिए चाइल्ड पोर्नोग्राफी की क्लिप्स पैसे लेकर लोगों को मुहैया कराता था.

सीबीआई ने उसका मोबाइल फोन भी कब्जे में लिया था. सीबीआई के मुताबिक, एक व्यक्ति की ओर से इंस्टाग्राम पर चाइल्ड पोर्नोग्राफी से संबंधित सामग्री बेचने का प्रस्ताव दिया था. सीबीआई ने इसकी तहकीकात शुरू की तो खुलासा हुआ कि जिस सोशल मीडिया अकाउंट से यह प्रस्ताव अपलोड किया गया था, वह सोनभद्र जिले के अनपरा निवासी नीरज यादव का है.

नीरज ने क्लाउड स्टोरेज की आड़ में अलग-अलग ई-मेल आईडी से ऐसे अश्लील और प्रतिबंधित वीडियो क्लिप्स को स्टोर कर रखा था. खरीदने वाले से रकम मिलने के बाद वह वॉट्सएप, इंस्टाग्राम जैसे माध्यमों से चाइल्ड पोर्नोग्राफी की क्लिप्स फॉरवर्ड कर देता था. बताया यह जा रहा है कि उसी कड़ी में इस जूनियर इंजीनियर को भी गिरफ्तार किया गया है. बताया जाता है कि ये सभी चाइल्ड पोर्नोग्राफी के एक रैकेट में लिप्त हैं.

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें