scorecardresearch
 

आतंकी मॉड्यूलः जीशान ने कहा- ब्रेनवॉश करने के लिए दिखाए मुजफ्फरनगर और गुजरात दंगों के वीडियो

ओसामा और जीशान को ट्रेनिंग के दौरान बताया गया था कि अगर बम धमाके करने में कामयाब न हो तो भारत को आर्थिक नुकसान पहुंचाओ. जिसके लिए बड़ी निजी फैक्ट्री, निजी गोदाम, बड़े शो रूम्स, बड़े शॉप्स में आगजनी की वारदातों को अंजाम दो.

X
ओसामा और जीशान को पाकिस्तान में आईएसआई ने ट्रेनिंग दी थी ओसामा और जीशान को पाकिस्तान में आईएसआई ने ट्रेनिंग दी थी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली पुलिस ने हाल ही में एक टेरर मॉड्यूल का भंडोफोड़ किया
  • गिरफ्तार आतंकी जीशान ने एमबीए किया है

पाकिस्तानी आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश होने के बाद पकड़े गए आरोपी जीशान ने बताया कि पाकिस्तान में ट्रेनिंग के दौरान उनका ब्रेनवॉश करने और उन्हें उकसाने के लिए मुजफ्फरनगर और गुजरात के दंगों के वीडियो दिखाए गए थे. वीडियो दिखाकर उन्हें बताया गया कि किस तरह से समुदाय विशेष की महिलाओं पर अत्याचार किए गए. कैसे समुदाय विशेष के लोगों का कत्ल-ए-आम किया गया. इसके अलावा भी ज़ीशान ने पूछताछ में कई अहम खुलासे किए हैं.

आरोपी जीशान ने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से फाइनेंस में एमबीए (MBA) किया हुआ है. सूत्रों के मुताबिक इस मामले में फरार संदिग्धों के खिलाफ जल्द ही लुकआउट सर्कुलर जारी किया जाएगा. ताकि वो देश छोड़कर फरार न हो जाएं. जिशान ने खुलासा करते हुए बताया कि भारत को इकोनॉमी के स्तर पर बड़ा नुकसान करने के प्लानिंग थी. ताकि कोविड के बाद भारत की इकॉनोमी तोड़कर अलग तरह का आतंक फैलाया जा सके. इसके लिए भारत की बड़ी फैक्ट्रियां, रेलवे के जरिए जानेवाले कॉटन व्यापार को धमाकों के जरिए मिटाने का प्लान था.

पूछताछ में पता चला है कि गुजरात दंगे और मुजफ्फरनगर दंगे की वीडियो दिखाकर धर्म विशेष के लोगों पर अत्याचार की बातें ओसामा और जीशान को बताई और दिखाई गईं फिर उन्हें जिहाद के लिए भड़काया गया. जान मोहम्मद से मुम्बई एटीएस ने भी पूछताछ की है. 

इसे भी पढ़ें-- आतंकी मॉड्यूलः निशाने पर थे ब्रिज और रेलवे ट्रैक, 93 की तर्ज पर करना चाहते थे सीरियल ब्लास्ट 

ओसामा और जीशान को ट्रेनिंग के दौरान बताया गया था कि अगर बम धमाके करने में कामयाब न हो तो भारत को आर्थिक नुकसान पहुंचाओ. जिसके लिए बड़ी निजी फैक्ट्री, निजी गोदाम, बड़े शो रूम्स, बड़े शॉप्स में आगजनी की वारदातों को अंजाम दो. पाकिस्तानी एजेंसी आईएसआई  ने भारत और अन्य देशों से जिहाद के नाम पर ट्रेनिंग करने वाले लड़को के लिए मस्कट में कांट्रैक्ट बेस्ड लोगों को हायर किया था. जिन्हें बकायदा हर महीने सैलरी दी जाती थी.

उन लोगों को जिम्मेदारी दी गई थी कि ट्रेनिंग के लिए आने वाले लड़कों को बोट के जरिये पाकिस्तान पहुंचाना. इस ऑपरेशन को आईएसआई ही लीड कर रही थी. जिस वक्त बोट से ट्रेनिंग के लिए लड़को को पाकिस्तान ले जाते थे, उस वक्त आईएसआई का एक बन्दा भी उनके साथ मौजूद रहता था. 

जीशान और ओसामा के मुताबिक ट्रेनिंग के दौरान एक शिफ्ट में मौलवी आता था जो जिहाद और एक विशेष समुदाय पर हुए जुल्म के भ्रामक वीडियो दिखाता था. एक शिफ्ट में हथियार चलाने की ट्रेनिंग से जुड़े लोग आते थे. एक शिफ्ट में विस्फोटक बनाने और प्लांट करने के एक्सपर्ट विजिट करते थे. जिस फॉर्म हाउस मे जीशान और ओसामा की ट्रेनिग हो रही थी, वहां बकायदा फायरिंग रेंज भी मौजूद थी. वो जगह बिल्कुल किसी हार्ड कोर आतंकी ट्रेनिंग कैम्प की शक्ल में थी.

ज़रूर पढ़ें-- राजस्थान इंटेलिजेंस और मिलिट्री इंटेलिजेंस की बड़ी कार्रवाई, पाकिस्तानी जासूस संदीप कुमार गिरफ्तार 

दिल्ली के जामिया से पकड़े गए आरोपी ओसामा का चाचा इस मामले में मास्टरमाउंड है, जो अभी तक फरार है. पाकिस्तान में ट्रेनिंग के लिए ओसामा और जीशान को भेजने में उसका अहम रोल है. ओसामा का पिता भी रडार पर हैं लेकिन वो दुबई में है. उसका रोल वेरिफाई करना है. स्पेशल सेल के लिए दोनों भाई वॉन्टेड हैं.

अंडरवर्ल्ड एजेंट जान मोहम्मद आईएसआई और अनीस इब्राहिम के आदेश पर आतंकियों को ऑर्डर देता था. उसी ने गोवा गुटखे के व्यापारी के यहां धमाका किया था. इसके अलावा अनवर नाम के एक बिजनेस मैन की हत्या की कोशिश में भी ये शामिल रहा है. अब अनीस इब्राहिम के आदेश पर ये आतंकियों को आदेश देता था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें