scorecardresearch
 

चार दिन में 5 शहर... जानिए- गालीगलौज पर बवाल बढ़ने के बाद कहां-कहां छुपता रहा श्रीकांत त्यागी

नोएडा के ओमेक्स सोसाइटी में महिला के साथ बदसलूकी का आरोपी श्रीकांत त्यागी नोएडा से दिल्ली, उत्तर प्रदेश होते हुए उत्तराखंड में रहा. वह ऋषिकेश, हरिद्वार, सहारनपुर, बागपत और मेरठ पहुंचा तो गिरफ्तार हो गया.

X
श्रीकांत त्यागी (फाइल फोटो) श्रीकांत त्यागी (फाइल फोटो)

नोएडा के ओमेक्स सोसाइटी में महिला के साथ बदसलूकी के आरोपी श्रीकांत त्यागी और नोएडा पुलिस के बीच लुकाछिपी का खेल आखिरकार खत्म हो गया. श्रीकांत त्यागी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. जांच के दौरान बेहद चौंकाने वाली बातें सामने आई हैं. यह बात भी सामने आई है कि फरारी के दौरान 4 दिन तक श्रीकांत त्यागी 15 गाड़ियां बदलता रहा.

इसके अलावा उसने दो मोबाइल फोन भी बदले जबकि एक फोन वह अपने घर पर छोड़ कर गया था. इस दौरान श्रीकांत नोएडा से दिल्ली, उत्तर प्रदेश होते हुए उत्तराखंड में रहा. वह ऋषिकेश, हरिद्वार, सहारनपुर, बागपत और मेरठ पहुंचा तो गिरफ्तार हो गया. इतना ही नहीं दिल्ली से भागने की फिराक में था लेकिन एयरपोर्ट जाते वह उसको खतरा नजर आया.

2018 में त्यागी को मिले थे गनर

पुलिस के आला अफसरों की माने तो गौतम बुद्ध नगर पुलिस के साथ स्पेशल टास्क फ़ोर्स (एसटीएफ) की 12 टीमें श्रीकांत त्यागी की तलाश में जुटी थी, जिसमें एसटीएफ़ की बड़ी सर्विलंस टीम भी शामिल थी. श्रीकांत त्यागी से पूछताछ में रोज नए खुलासे हो रहे हैं. भाजपा सरकार बनने के बाद 8 अक्टूबर 2018 को श्रीकांत त्यागी को गनर मिले थे.

श्रीकांत त्यागी को गाजियाबाद से तीन सरकारी गनर मुहैया कराए गए थे. उस वक्त उत्तर प्रदेश गृह विभाग के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी अरविंद कुमार हुआ करते थे जबकि गाजियाबाद के एसएसपी वैभव कृष्ण थेय गाजियाबाद के एसएसपी मुनिराज ने इसकी डिटेल रिपोर्ट शासन को भेज दी है .

पुलिस ने तीन गाड़ियां की सीज

ऐसा माना जा रहा है कि श्रीकांत त्यागी को गनर मुहैया कराने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की तैयारी की जा रही है. साथ ही यह जांच की जा रही है कि ये सुरक्षा किस खतरे के मद्देनज़र मुहैया कराई गई थी. अवैध अतिक्रमण को ध्वस्त करने के साथ-साथ श्रीकांत त्यागी की तीन गाड़ियों को पुलिस ने सीज किया है.

जानकारी यह भी मिली है कि लखनऊ में हुए पत्नी और गर्लफ्रेंड के विवाद के दौरान भी श्रीकांत के पास भारी भरकम पुलिस सुरक्षा मौजूद थी. जैसे-जैसे श्रीकांत त्यागी की क्राइम फ़ाइल खुलती जा रही है, उसके नए कारनामे सामने आ रहे हैं. श्रीकांत त्यागी के तार खनन माफियाओं से जुड़े हुए भी पाए गए हैं.

खनन का बड़ा कारोबारी है श्रीकांत त्यागी

सोनभद्र, मिर्जापुर इलाक़े में श्रीकांत का खनन का बड़ा कारोबार है. यूं तो त्यागी पर आधा दर्जन से ज़्यादा आपराधिक मामले दर्ज हैं, लेकिन उस पर हत्या के प्रयास का मामला 2012 में दर्ज हुआ था. आरोप है कि नोएडा के सेक्टर 12 में त्यागी और उसके साथियों ने फ़ायरिंग की थी. सेक्टर 24 थाने में 2012 में हत्या की कोशिश का मामला दर्ज किया गया था.

गौरतलब है कि बीते 5 अगस्त को श्रीकांत त्यागी ने नोएडा के सेक्टर 93 की ग्रांड ओमेक्स सोसाईटी में एक महिला के साथ बदतमीजी और मारपीट की थी, जिसका वीडियो वायरल होने के बाद हंगामा हो गया और पुलिस ने श्रीकांत त्यागी के खिलाफ मामला दर्ज किया और गैंगस्टर तामील कर दी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें