scorecardresearch
 

Mohali Blast: पुलिस का आतंकी एंगल से इनकार, लेकिन अबतक अनसुलझे हैं ये 5 सवाल

Mohali Blast: मोहाली में जो ब्लास्ट हुआ उसकी जिम्मेदारी अबतक किसी ने नहीं ली है. मामले में आतंकी एंगल है या नहीं इसपर पुलिस की तरफ से अलग-अलग बयान आ रहे हैं.

X
मोहाली में पुलिस खुफिया विभाग के दफ्तर में ब्लास्ट हुआ था मोहाली में पुलिस खुफिया विभाग के दफ्तर में ब्लास्ट हुआ था
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मोहाली ब्लास्ट पर DGP ने कहा- हमले में TNT का हुआ इस्तेमाल
  • DGP बोले- हमले के वक्त खाली था खुफिया विभाग का ऑफिस

Mohali Blast: बॉर्डर स्टेट पंजाब के मोहाली का माहौल इस वक्त गर्म है. वहां पुलिस खुफिया विभाग के मुख्यालय में देर शाम ब्लास्ट हुआ था. मामले की छानबीन वैसे तो जारी है लेकिन फिलहाल कुछ सवाल हैं जिनके जवाब अबतक सामने नहीं आए हैं. कुछ बातें ऐसी भी हैं जिनपर सरकार और पुलिस के बयान अलग हैं.

बता दें कि मोहाली में मौजूद पंजाब पुलिस के खुफिया विभाग के मुख्यालय में ब्लास्ट हुआ था. बाद में पता चला था कि वहां RPG यानी Rocket-propelled grenade से ग्रेनेड फेंका गया है.

माना जा रहा है कि इस हमले में दो लोग शामिल थे जो कि सफेद रंग की स्विफ्ट डिजायर कार में आए थे. लेकिन ये लोग कौन थे, सफेद कार किसकी थी अबतक पता नहीं चला है. इसके अलावा भी कुछ सवाल हैं जिनके जवाब अभी मिलने बाकी हैं, जैसे - 

1. टेरर एंगल से इनकार क्यों?

मोहाली में जो ब्लास्ट हुआ उसे क्या किसी आतंकी संगठन ने अंजाम दिया है? यह सवाल अबतक अनसुलझा है. पंजाब पुलिस की तरफ से पहले कहा गया कि इसमें कोई टेरर एंगल नहीं है. लेकिन आज दोपहर में पंजाब के डीजीपी वीके भावरा ने भी जब आज दोपहर में प्रेस कॉन्फ्रेंस की तो उनसे आतंकी लिंक पर सवाल किया गया था. लेकिन उन्होंने इसपर कुछ साफ ना बोलते हुए कहा कि जो भी होगा वह बता दिया जाएगा.

मीडिया से बात करते हुए DGP ने यह भी कहा कि हो सकता है हमले में TNT का इस्तेमाल हुआ हो. बता दें कि TNT बेहद विस्फोटक सामग्री होती है. हो सकता है कि ग्रेनड में TNT विस्फोटक भरा गया हो.

यह भी पढ़ें - Science Behind RPG: कितना खतरनाक होता है Rocket Propelled Grenade, जिससे मोहाली में किया गया हमला

दूसरी तरफ नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) का मामले की जांच करना भी इस घटना की गंभीरता दिखा रहा है. NIA की टीम कल रात ही मोहाली पहुंच गई थी. फिर आज दोपहर में भी NIA टीम घटनास्थल पर पहुंची.

2. गिरफ्तारी हुई या नहीं इसपर सवाल?

पंजाब पुलिस और सरकार इस ब्लास्ट पर अलग-अलग बातें कर रहे हैं. पंजाब के सीएम भगवंत मान ने आज डीजीपी समेत कई बड़े अधिकारियों से मीटिंग की थी. मीटिंग के बाद उन्होंने कहा था कि मोहाली ब्लास्ट केस में कुछ गिरफ्तारियां हुई हैं.

वहीं डीजीपी ने जब मीडिया से बात की तो वह बोले कि जब कोई गिरफ्तारी होगी तो बता दिया जाएगा. सूत्रों से अबतक इस मामले में 11 लोगों को हिरासत में लिये जाने की बात जरूर सामने आई है, जिनसे पूछताछ जारी है.

3. क्या हथियार रूस से आए?

मोहाली में हमला होने के बाद जानकारी सामने आई थी कि वहां RPG (rocket-propelled grenade) इस्तेमाल हुआ है. पता चला कि RPG के बिल्डिंग की तीसरी मंजिल पर ग्रेनेड दागा गया था. बाद में आशंका जताई गई कि पंजाब में ग्रेनेड फेंकने के लिए इस्तेमाल RPG रूस में बना RPG-26 Aglen हो सकता है.

रूस से इसकी तस्वीरें 2016 में सामने आई थीं. दोनों की मार्किंग बिल्कुल एक जैसी है. इसको देखकर RPG के रूसी होने का शक है. हालांकि, अबतक कुछ साफ नहीं हुआ है.

4. फिर एक्टिव हुआ खालिस्तान?

पंजाब में पिछले कुछ दिनों में खालिस्तानी समर्थक आतंकी फिर से एक्टिव दिख रहे हैं. पटियाला में हिंसा में खालिस्तानी समर्थकों का नाम आया. फिर करनाल से दो खालिस्तानी समर्थक पकड़े गए थे जो पंजाब से कार में विस्फोट महाराष्ट्र की तरफ लेकर जा रहे थे.

यह भी पढ़ें - 'मोहाली से सबक लें...', खालिस्तानी संगठन सिख फॉर जस्टिस की हिमाचल प्रदेश के CM को धमकी!

पंजाब के साथ-साथ हिमाचल प्रदेश में भी खालिस्तानी एक्टिव हो रहे हैं. पिछले दिनों धर्मशाला में मौजूद हिमाचल विधानसभा के बाहर खालिस्तानी झंडे देखे गए थे. सिख फॉर जस्टिस की तरफ से बार-बार हिमाचल प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर को धमकी दी जा रही है. कहा जा रहा है कि हिमाचल में जनमत संग्रह कराकर इसको दोबारा से पंजाब का हिस्सा बनाया जाएगा.

5. पाकिस्तान की भूमिका है या नहीं?

मोहाली में जो हमला हुआ क्या उसमें पाकिस्तान का भी कोई रोल है? यह भी अबतक साफ नहीं किया गया है. दरअसल, माना जा रहा है कि हमले में इस्तेमाल rocket-propelled grenade को ड्रोन की मदद से पाकिस्तान से भारत भेजा गया होगा.

इसका शक इसलिए भी है क्योंकि पाकिस्तान ने पिछले कुछ वक्त में ड्रोन से गतिविधियां बढ़ाई हैं. ड्रग्स के साथ-साथ हथियार भी ड्रोन की मदद से पाकिस्तान में बैठे आतंकी भारत भेज रहे हैं.

मोहाली ब्लास्ट मामले में फिलहाल पुलिस के हाथ कुछ ठोस नहीं लगा है. फिलहाल 11 संदिग्धों से पूछताछ जारी है. इसके अलावा उस इलाके के सात हजार फोन कॉल ऐसे हैं जिनकी जांच हो रही है. वहीं आसपास के सीसीटीवी फुटेज को भी खंगाला जा रहा है.

बता दें कि मंगलवार को मोहाली में दूसरे ब्लास्ट की भी खबरें आई थीं, लेकिन बाद में पंजाब पुलिस के एसएसपी विवेक सोनी ने खुद इससे इनकार कर दिया था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें