scorecardresearch
 

Mohali Blast: कार सवार हमलावर, रॉकेट लॉन्चर और निशाने पर पुलिस... पढ़ें मोहाली हमले की Inside Story

Mohali Blast: पंजाब के मोहाली में सोमवार को रात 8 बजे के करीब एक धमाका हुआ जिसने सबको चौंका दिया. यह ब्लास्ट पुलिस खुफिया विभाग के मुख्यालय में हुआ था, जिसकी जांच अब NIA कर रही है.

X
मोहाली में पुलिस खुफिया विभाग के मुख्यालय में ब्लास्ट हुआ था मोहाली में पुलिस खुफिया विभाग के मुख्यालय में ब्लास्ट हुआ था
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जानकारी के मुताबिक, हमलावर स्विफ्ट डिजायर कार से आए
  • 7 हजार फोन नंबर्स उस वक्त इलाके में एक्टिव थे
  • अभी तक 11 लोग हिरासत में, पूछताछ जारी

Mohali Blast: शाम का वक्त था. मोहाली में मौजूद पंजाब पुलिस के खुफिया विभाग के मुख्यालय में भी माहौल सामान्य ही था. लेकिन 7 बजकर 45 मिनट पर तीसरी मंजिल की खिड़की को तोड़ती एक चीज अंदर दाखिल होती है और तेज धमाका होता है. अफरातफरी मच जाती है. किसी को समझ नहीं आता कि आखिर हुआ क्या है. लेकिन बाद में धीरे-धीरे जांच में परत खुलती हैं और पता चलता है कि खुफिया विभाग के मुख्यालय को निशाना बनाकर एक ग्रेनेड फेंका गया था.

मोहाली में हुए ब्लास्ट के बाद शुरुआती तौर पर कहा गया कि ब्लास्ट बिल्डिंग में ही रखी किसी चीज में हुआ. लेकिन बाद में साफ हो गया कि RPG यानी Rocket-propelled grenade से हमला किया गया था.

RPG से हुए इस हमले में कोई बड़ा नुकसान तो नहीं हुआ लेकिन सुरक्षा व्यवस्था पर इसने सवाल खड़े कर दिये हैं, कि आखिर पुलिस के खुफिया विभाग के मुख्यालय को ही दहशतगर्दों ने कैसे निशाना बना लिया. पुलिस टेरर एंगल से इनकार नहीं कर रही और NIA की टीम भी इस मामले की जांच में जुट गई है.

स्विफ्ट डिजायर में आए थे हमलावर? 7 हजार फोन नंबर्स पर निगाहें

मोहाली मामले की शुरुआती जांच के मुताबिक, मोहाली में खुफिया विभाग के मुख्यालय पर हमला करने वाले दो आरोपी स्विफ्ट डिजायर कार में सवार होकर आए थे. माना जा रहा है कि करीब 80 मीटर की दूरी से RPG को लॉन्च किया गया था. मतलब इतनी दूर से बिल्डिंग पर ग्रेनेड फेंका गया था.

यह भी पढ़ें - Mohali Blast: मोहाली धमाके में रूस जैसे हथियार का इस्तेमाल? 2016 में सामने आई थी ऐसी ही तस्वीर

धमाका करनेवालों की खोज में पुलिस मोबाइल नंबर्स को भी खंगाल रही है. जानकारी के मुताबिक, मोहाली के आसपास मौजूद तीन मोबाइल टावर्स के डेटा के मुताबिक, वहां 7 हजार फोन एक्टिव थे.

मोहाली ब्लास्ट: FIR में कौन सी धाराएं?

ब्लास्ट मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज हो चुकी है. इसमें आईपीसी की धारा  307 (हत्या की कोशिश) लगाई गई है. इसके साथ-साथ गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (UAPA) और विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के तहत भी केस दर्ज हुआ है. यह केस एसआई बलकार सिंह के बयान के बाद दर्ज किया गया है. वह हेडक्वार्टर के सिक्योरिटी इंचार्ज हैं.

मोहाली में हुए ब्लास्ट की जांच फिलहाल NIA कर रही है. टीम आज फिर मौके पर जाएगी. सोमवार रात भी अधिकारी वहां पहुंचे थे.

मोहाली धमाके में रूस जैसे हथियार का इस्तेमाल?

हमले में जो RPG (rocket-propelled grenade) इस्तेमाल हुआ वह क्या रूस का था? ऐसे सवाल भी उठ रहे हैं. दरअसल, आशंका है कि पंजाब में ग्रेनेड फेंकने के लिए इस्तेमाल RPG रूस में बना RPG-26 Aglen हो सकता है. रूस से इसकी तस्वीरें 2016 में सामने आई थीं. दोनों की मार्किंग बिल्कुल एक जैसी है. इसको देखकर RPG के रूसी होने का शक है.

एजेंसियों को शक है कि यह RPG ड्रोन की मदद से पाकिस्तान के रास्ते भारत भेजा गया होगा. पाकिस्तान की तरफ से ड्रोन के जरिये हथियार भेजने का सिलसिला लगातार जारी है. इस साजिश का कई बार पर्दाफाश हो चुका है, लेकिन पड़ोसी देश बाज नहीं आता.

भगवंत मान ने किया ट्वीट, कुछ गिरफ्तारियां भी हुईं

ब्लास्ट मामले पर पंजाब के सीएम भगवंत मान का भी बयान आया है. उन्होंने कहा कि मोहाली में हुए ब्लास्ट की जांच पुलिस कर रही है, जिसने भी हमारे पंजाब का माहौल खराब करने की कोशिश की उसे बख़्शा नहीं जाएगा.

CM भगवंत मान ने आज डीजीपी सहित सभी बड़े अधिकारियों संग मीटिंग भी की. इसके बाद वह बोले कि मामले में कुछ गिरफ्तारियां हुई हैं, बाकी गिरफ्तारी जल्द हो जाएगी. मान ने कहा कि इंटेलिजेंस और पुलिस के अफसर इस मामले को देख रहे हैं. शाम तक काफी कुछ साफ हो जाएगा. वह बोले कि बहुत जल्द दोषी सलाखों के पीछे होंगे.

वहीं पंजाब पुलिस के सूत्रों ने बताया है कि ब्लास्ट के मामले में पूछताछ के लिए 11 लोगों को हिरासत में लिया गया है.

पंजाब ब्लास्ट पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल का भी बयान आया है. उन्होंने कहा कि मोहाली ब्लास्ट उन लोगों की कायराना हरकत है जो पंजाब की शांति भंग करना चाहते हैं. आम आदमी पार्टी की पंजाब सरकार उन लोगों के मंसूबे पूरे नहीं होने देगी और दोषियों को कड़ी से कड़ी सज़ा दिलवाई जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें