scorecardresearch
 

Pooja Singhal News: 9 घंटे लंबी पूछताछ... जब ईडी के सवालों ने IAS पूजा सिंघल को कर दिया असहज

आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल, उनके पति अभिषेक झा और सीए सुमन कुमार से प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने 9 घंटे से अधिक वक्त तक पूछताछ की. बाद में सुमन कुमार को ईडी ने रिमांड पर ले लिया.

X
IAS पूजा सिंघल IAS पूजा सिंघल
स्टोरी हाइलाइट्स
  • चर्चित आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल की बढ़ीं मुश्किलें
  • प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने की कड़ी पूछताछ

झारखंड की चर्चित आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल पर प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने अपना शिकंजा और कस दिया है. मंगलवार को ईडी ऑफिस में पूजा सिंघल, उनके पति अभिषेक झा और सीए सुमन कुमार से 9 घंटे से ज्यादा देर तक पूछताछ हुई. बताया जा रहा है कि इस दौरान उनसे कई तीखे सवाल किए गए. कुछ सवालों ने तो पूजा सिंघल को असहज कर दिया और वो उनका जवाब सही से नहीं दे पाईं.

जब पूजा सिंघल, अभिषेक झा और सुमन कुमार तीनों को एकसाथ बिठाकर पूछताछ की गई तो तीनों ही ईडी के सवालों से असहज हो गए. इसी दौरान सुमन ने बताया कि पैसे उसके नहीं है. इससे पहले सुमन कुमार कह रहा था कि सारे पैसे उसी के हैं. पूछताछ के बाद पूजा सिंघल और उनके पति अपने घर चले गए, जबकि CA सुमन कुमार को गिरफ्तार करने के बाद 5 दिनों की रिमांड पर ईडी ने ले लिया. बुधवार (12 मई) को सुमन कुमार को स्पेशल PMLA कोर्ट में पेश किया जाएगा.

पूछताछ के दौरान सुमन और पूजा सिंघल के घर, अस्पताल और दफ्तर से जब्त कागजातों को भी दफ्तर लाया गया. दो बड़े-बड़े बक्से में भरे दस्तावेज कड़ी सुरक्षा के बीच ईडी दफ्तर लाए गए. ईडी ने शेल कंपनियों से जुड़े दस्तावेज भी मंगाए. पूजा सिंघल, अभिषेक झा और सुमन तीनों से ईडी ने शेल कंपनियों को लेकर भी पूछताछ की. शेल कंपनी से संबंधित जानकारी के लिए ईडी ने ईवैल्यूएटर को भी बुलाया. उनसे सुमन और उसके भाई से जुड़ी कंपनियों की जानकारी ली गई.

बता दें कि हाल ही में ईडी ने पूजा सिंघल के करीबियों के रांची और बाकी ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापे मारे थे. छापे के दौरान ईडी को 19 करोड़ से अधिक कैश और कई अहम दस्तावेज मिले थे. इस मामले में ईडी तेजी से जांच कर रहा है. 

HC में याचिका दाखिल
इस बीच झारखंड हाई कोर्ट में अरुण दुबे ने हस्तक्षेप याचिका (IA petition)  दाखिल की है. याचिका में उन्होंने अदालत से मांग की है कि पूजा सिंघल के मामले की जांच सीबीआई से कराई जाए. साथ ही उन्होंने हस्तक्षेप याचिका में यह भी मांग की है कि इस मामले की जांच कर रही एजेंसी ईडी के कार्यालय की सुरक्षा बढ़ाई जानी चाहिए. अदालत से यह गुहार लगाई गई है कि पूजा सिंघल के साथ-साथ झारखंड के कुछ अन्य वरिष्ठ IAS अफसरों की संपत्ति की जांच सीबीआई और ईडी से कराई जाए.

इससे पहले खूंटी के मनरेगा घोटाला की जांच के लिए भी अरुण कुमार दुबे ने हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर की, जिस पर अदालत सुनवाई कर रही है. अगर कोर्ट में इन याचिकाओं पर कार्रवाई होती है तो पूजा और उनकी करीबियों की परेशानियां बढ़ सकती हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें