scorecardresearch
 

मुख्तार अंसारी एंड फैमिली पर कसा योगी सरकार का शिकंजा, बैंक खातों की होगी जांच

अब मुख्तार अंसारी और उनके परिजनों के बैंक खातों की छानबीन होगी. योगी सरकार ने इनके और सभी नजदीकी लोगों के बैंक खातों और लेन-देन की जानकारी मांगी है.

बाहुबली मुख्तार अंसारी (फाइल फोटो) बाहुबली मुख्तार अंसारी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मुख्तार के खिलाफ योगी सरकार का एक्शन जारी
  • करीबियों से मांगी गई बैंक अकाउंट की जानकारी
  • बैंक खातों से लेन-देन की भी होगी जांच

उत्तर प्रदेश के बाहुबली मुख्तार अंसारी और उनके परिजनों पर योगी सरकार के तेवर और सख्त हुए हैं. अब मुख्तार अंसारी और उनके परिजनों के बैंक खातों की छानबीन होगी. योगी सरकार ने इनके और सभी नजदीकी लोगों के बैंक खातों और लेन-देन की जानकारी मांगी है. अब तक मुख्तार अंसारी के गैंग से जुड़े 82 लोगों पर गैंग्स्टर एक्ट के तहत कार्रवाई हुई है.

अब मुख्तारी अंसारी गैंग से जुड़े सभी लोगों की सम्पत्ति जब्त होने के साथ-साथ इनके बैंक खातों से लेन-देन की भी जांच होगी. जानकारी के मुताबिक, कुछ दिन पहले कराई गई जांच के दौरान मुख्तार की बेनामी सम्पत्तियों और बैंक खातों से बड़े लेन-देन की बात सामने आई है. मुख्तार और परिजनों के खातों की जांच नोटबंदी के समय से की जाएगी.

पता चला है कि मुख्तार अंसारी के कई करीबियों के खातों से पैसों को इधर-उधर किया गया. कई कम्पनियां बनाकर उनमें भी पैसे निवेश किए गए. दर्जनों अवैध सम्पत्तियां खरीदी गईं. कई ऐसे लोगों की भी जानकारी मिली है, जिनके पास छोटी-मोटी नौकरी या फिर मुख़्तार के लिए काम करते हैं, लेकिन उनके नाम से अवैध कम्पनियां और बैंक खाते खोले गए.
 
योगी सरकार, मुख्तार अंसारी और परिजनों के खातों पर भी कार्रवाई की तैयारी कर रही है. जांच में अगर मनी लॉड्रिग का मामला सामने आया तो आगे दूसरी एजेंसियों को भी रिपोर्ट भेजी जा सकती है. उसके आधार पर मनी लॉड्रिंग का केस भी दर्ज किया जा सकता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें