scorecardresearch
 

बाहुबली मुख्तार अंसारी की पत्नी के बाद अब दोनों बेटों पर एक्शन, इनामी अपराधी घोषित

पंजाब की रोपड़ जेल में बंद मुख्तार अंसारी का बी वारंट तैयार कराने के साथ ही पुलिस ने उसके दोनों बेटे उमर और अब्बास पर 25-25 हजार रुपये का इनाम भी घोषित कर दिया गया है.

मुख्तार अंसारी (फाइल फोटो) मुख्तार अंसारी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मुख्तार अंसारी पर पुलिस का एक्शन
  • मुख्तार अंसारी के दोनों बेटों पर इनाम
  • 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार बाहुबली विधायक और माफिया मुख्तार अंसारी के खिलाफ एक के बाद एक एक्शन ले रही है.अब मुख्तार अंसारी के साथ ही उसके दोनों बेटों पर भी राजधानी पुलिस कानूनी शिकंजा कसने की तैयारी में है. इस बीच मुख्तार अंसारी के दोनों बेटों पर इनाम की घोषणा की गई है.

योगी सरकार बाहुबली मुख्तार अंसारी और उसके परिवार को बख्शने के मूड में नजर नहीं आ रही है. पंजाब की रोपड़ जेल में बंद मुख्तार अंसारी का बी वारंट तैयार कराने के साथ ही पुलिस ने उसके दोनों बेटे उमर और अब्बास पर 25-25 हजार रुपये का इनाम भी घोषित कर दिया गया है. वहीं इससे पहले मुख्तार अंसारी की पत्नी आफसा अंसारी पर गैंगस्टर एक्ट लगा दिया गया था.

मुख्तार का वारंट और उसके दोनों बेटों पर इनाम की कार्रवाई हजरतगंज के डालीबाग में सरकारी जमीन पर अवैध निर्माण कराने के मुकदमे में की गई है. मुख्तार, उसके बड़े बेटे अब्बास और छोटे बेटे उमर के खिलाफ हजरतगंज की डालीबाग कॉलोनी में निष्क्रांत जमीन पर कब्जा करके दो टॉवर का निर्माण कराने की एफआईआर दर्ज है.

जमीन पर अवैध कब्जा

ये दोनों टॉवर एलडीए के दस्ते ने 27 अगस्त को ढहा दिए थे. जियामऊ के लेखपाल सुरजन लाल ने मुख्तार अंसारी और उनके बेटे उमर और अब्बास के खिलाफ हजरतगंज कोतवाली में जालसाजी, साजिश रचने, जमीन पर अवैध कब्जा करने के आरोप में केस दर्ज कराया था. 

दरअसल, ये जमीन मोहम्मद वसीम की थी. सरकारी दस्तावेजों के मुताबिक वसीम साल 1952 में पाकिस्तान चला गया तो संपत्ति निष्क्रांत यानी शत्रु संपत्ति के रूप में दर्ज हो गई. वहीं इस जमीन के फर्जी दस्तावेज बनाकर मुख्तार के बेटों ने वहां कब्जा करके दो टॉवर का निर्माण करा लिया था. जमीन पर एक मस्जिद भी बना ली थी.

अब्बास पर धोखाधड़ी का मामला

बता दें कि मुख्तार का बेटा अब्बास अंसारी नेशनल शूटर है और उसके खिलाफ 12 अक्टूबर 2019 को महानगर कोतवाली में शस्त्र लाइसेंस के मामले में धोखाधड़ी की एफआईआर भी दर्ज कराई गई थी. उस वक्त इस मामले की जांच एसटीएफ ने की थी. मामला दर्ज होने के बाद लखनऊ पुलिस की एक टीम ने दिल्ली के बसंतकुंज स्थित अब्बास के किराए के मकान की तलाशी ली थी.

तलाशी के दौरान वहां इटली से ऑस्ट्रिया तक के असलहे मिले थे. अब्बास पर आरोप है कि उसने डीएम की अनुमति के बगैर अपना शस्त्र लाइसेंस दिल्ली के पते पर ट्रांसफर करा लिया और वहां पांच असलहे और खरीदे थे. अब अब्बास अंसारी और उमर अंसारी पर इनाम घोषित होने के बाद जल्द उनकी गिरफ्तारी की आशंका है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें