scorecardresearch
 

चंदौलीः दिनदहाड़े बैंक ग्राहक सेवा केंद्र के संचालक को बदमाशों ने मारी गोली

शुक्रवार की सुबह 10 बजे जितेंद्र कुमार सेंटर पर पहुंचे और वह ग्राहक सेवा केंद्र खोलकर बैठे ही थे कि तभी पहले से घात लगाए दो नकाबपोश युवक वहां पहुंचे और उन्होंने जितेंद्र कुमार के पास से वह बैग छीनने की कोशिश की, जिसमें पैसे रखे हुए थे.

घायल जितेंद्र को प्राथिमक इलाज के बाद बनारस रेफर कर दिया गया है घायल जितेंद्र को प्राथिमक इलाज के बाद बनारस रेफर कर दिया गया है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • लूट की नीयत से गांव में आए थे आरोपी
  • दिनदहाड़े हुई वारदात से इलाके में दहशत
  • गोली मारकर मौके से फरार हो गए बदमाश

उत्तर प्रदेश के चंदौली में अज्ञात नकाबपोश हमलावरों ने एक बैंक ग्राहक सेवा केंद्र चलाने वाले युवक को लूट के इरादे से गोली मार दी. हालांकि बाइक सवार बदमाश लूट की वारदात को अंजाम देने में सफल नहीं हो पाए. लेकिन बदमाशों की गोली से घायल युवक जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहा है. पुलिस ने हमलावरों की तलाश में पूरे जिले में नाकाबंदी कर दी है.

घटना चंदौली कोतवाली क्षेत्र के फगुईया गांव की है. जहां जगदीश सिंह का बैंक ग्राहक सेवा केंद्र है. जिसका संचालन और देख-रेख उनका रिश्तेदार जितेंद्र कुमार करता है. शुक्रवार की सुबह 10 बजे जितेंद्र कुमार सेंटर पर पहुंचे और वह ग्राहक सेवा केंद्र खोलकर बैठे ही थे कि तभी पहले से घात लगाए दो नकाबपोश युवक वहां पहुंचे और उन्होंने जितेंद्र कुमार के पास से वह बैग छीनने की कोशिश की, जिसमें पैसे रखे हुए थे. 

लेकिन जितेंद्र ने उनका विरोध किया तो नकाबपोश बदमाशों ने फायरिंग कर दी. बदमाशों के इस हमले में जितेंद्र कुमार के पेट में गोली लगी और घायल होकर वहीं गिर पड़े. गोली की आवाज सुनते ही पूरे इलाके में सनसनी फैल गई. लोग ग्राहक सेवा केंद्र की तरफ दौड़ पड़े. अपने आप को घिरता देख दोनों बदमाश तमंचा लहराते हुए मौका-ए-वारदात से फरार हो गए. आसपास के लोगों ने आनन-फानन में पुलिस को सूचना दी.

इसे भी पढ़ें-- यूपी: पहले चाबुक से पीटा, फिर लगाया करंट... चोरी के शक में 5 बच्चों को तालिबानी सजा

घायल जितेंद्र को अस्पताल भिजवाया गया. जिला अस्पताल में प्रारंभिक इलाज के बाद जितेंद्र को वाराणसी के ट्रॉमा सेंटर में रेफर कर दिया गया है. जितेंद्र की हालत फिलहाल स्थिर बताई जा रही है. पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है. नकाबपोश बदमाशों की तलाश में पूरे जिले में नाकेबंदी की गई है. पुलिस का दावा है कि जल्द ही बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

ज़रूर सुनें-- अंग्रेज़ों का बनाया राजद्रोह क़ानून सरकारें क्यों नहीं हटाना चाहतीं?

चंदौली के एडिशनल एसपी दयाराम सरोज ने बताया कि जितेंद्र को बेहतर इलाज के लिए वाराणसी रेफर किया गया है. बदमाश रुपए छीन नहीं पाए. तहरीर मिलने के बाद मुकदमा पंजीकृत किया जा रहा है और जल्द ही इस मामले का खुलासा कर लिया जाएगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें