scorecardresearch
 

यूपीः चोरी का आरोप लगाकर दबंगों ने दलित युवक को पीटा, फिर गला दबाकर कर दी हत्या

यह खौफनाक घटना अलीगढ़ के थाना हरदुआगंज इलाके की है. जहां गांव नगरिया भूड़ में रहने वाले एक दलित युवक रविंद्र पाल के ऊपर दबंगों ने गेहूं चोरी का इल्जाम लगाया और फिर उसे पीट-पीटकर मार डाला.

दलित युवक आरोपियों से रहम की भीख मांगता रहा लेकिन उन्हें तरस नहीं आया दलित युवक आरोपियों से रहम की भीख मांगता रहा लेकिन उन्हें तरस नहीं आया
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दलित युवक पर लगाया गेहूं चोरी का आरोप
  • दबंगों ने घर से बाहर खींचकर की पिटाई
  • पुलिस ने मुख्य आरोपी को किया गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में हत्या का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. जहां दबंगों ने पहले एक दलित युवक पर गेंहू चोरी का इल्जाम लगाकर उसकी जमकर पिटाई की. फिर बिजली के खंबे के साथ खड़ा कर उसी की शर्ट से उसका गला दबाकर उसे मौत के घाट उतार दिया. आरोपी उच्च वर्ग के बताए जा रहे हैं, जो वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए.

यह खौफनाक घटना अलीगढ़ के थाना हरदुआगंज इलाके की है. जहां गांव नगरिया भूड़ में रहने वाले एक दलित युवक रविंद्र पाल के ऊपर दबंगों ने गेहूं चोरी का इल्जाम लगाया. इसके बाद घर से खींचकर उस दलित युवक की लात घुसों से जमकर पिटाई की. इस पर भी आरोपियों का दिल नहीं भरा तो उन्होंने अधमरे हो चुके दलित युवक को बिजली के खंबे के साथ खड़ा कर उसकी शर्ट से ही उसका गला घोंट दिया. जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई.

दलित युवक रविंद्र पाल की हत्या करने के बाद दबंग आरोपी बाप, बेटा और भांजा मौके से फरार हो गए. दलित युवक की हत्या की खबर गांव में आग की तरह फैल गई. काफी संख्या में लोगों की भीड़ मौके पर जमा हो गई. पीड़ित परिवार ने बेटे की हत्या की सूचना पुलिस को दी. भारी पुलिस फोर्स के साथ अधिकारी गांव में पहुंचे और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाया.

ज़रूर पढ़ें-- फोटोशूट कराने होटल पहुंची नाबालिग मॉडल, गैंगरेप की कोशिश

पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) शुभम पटेल ने हत्यारों की तलाश के लिए पुलिस की 6 टीम गठित की हैं. मृतक के परिजनों की तहरीर पर थाना हरदुआगंज में देर रात आरोपियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया. पुलिस ने इस मामले में बीती देर रात ही दलित युवक की हत्या करने वाले मुख्य आरोपी ठाकुर राजबहादुर सिंह को गिरफ्तार कर लिया. अब पुलिस उससे पूछताछ कर रही है. जबकि अन्य आरोपियों की तलाश में छापेमारी जारी है.

मृतक के पिता रामपाल ने बताया कि गांव के अंदर उनकी एक छोटी सी परचून की दुकान है. उनका बेटा रविंद्र पाल बुधवार को दुकान का सामान लाने जलाली कस्बे में गया था. उसी दौरान गांव का एक युवक राजू रास्ते में गेंहू को पिसाई के लिए ले जाने के लिए बैठा हुआ था. जैसे ही उनका बेटा रविंद्र पाल उसके करीब पहुंचा तभी राजू ने उसकी गाड़ी रुकवा ली. उसने रविंद्र पाल से कहा कि मेरे गेहूं का कट्टा रखकर ले चलो. मुझे भी गेहूं पिसाई कराने जाना है. 

फिर राजू ने अपना गेहूं का कट्टा रविंद्र की गाड़ी में रख लिया और उसके साथ जलाली कस्बा चला गया. जहां रविंद्र पाल ने राजू को उसकी बताई जगह छोड़ दिया. बाद में वो जलाली कस्बे से दुकान का सामान लेकर देर रात वापस घर आ गया. लेकिन थोड़ी देर बाद ही राजू उर्फ ठाकुर राजबहादुर सिंह उनके घर आया और उनके बेटे पर गेहूं चोरी का इल्जाम लगाने लगा. लेकिन दलित युवक रविंद्र पाल ने गेहूं चोरी से साफ इंकार कर दिया और उनसे रहम की भीख मांगने लगा.

ज़रूर सुनें-- सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद बीमा कंपनी मुआवज़ा देने से नहीं बच सकता

लेकिन वो नहीं माने और राजबहादुर सिंह अपने पिता और भांजे के साथ मिनकर रविंद्र पाल को उसके घर से बाहर खींच लाया और उसकी पिटाई शुरू कर दी. उन्होंने रविंद्र पाल को लात घुसों और लाठी-डंडों से जमकर पीटा. पिटाई करते हुए तीनों दबंगों ने उसे बिजली के खंबे से सटाकर खड़ा कर दिया. और उसकी कमीज को उसके गले में लपेट कर कस दिया और उसका गला घोंट दिया. थोड़ी देर बाद ही उसकी मौत हो गई. 

पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) शुभम पटेल ने जानकारी देते हुए बताया कि मृतक के परिजनों ने तीन लोगों के खिलाफ हत्या की तहरीर पुलिस को दी है. पुलिस ने तत्काल तहरीर के आधार पर तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया और कार्रवाई शुरू कर दी है. हत्या करने वाले मुख्य आरोपी राजबहादुर सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है. अन्य फरार आरोपियों की तलाश जारी है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें