scorecardresearch
 

बिहारः विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर 300 लोगों से ठगी, सबके पासपोर्ट लेकर कंपनी फरार

जीवीएम मैन पावर नाम की कंपनी पिछले कई महीनों से पटना में लोगों को विदेश भेजने का प्रलोभन देकर प्रति व्यक्ति 12 से 17 हज़ार रुपये के साथ-साथ आवेदकों से उनके पासपोर्ट भी ले रही थी.

आरोपी कंपनी पैसे के साथ-साथ लोगों के पासपोर्ट भी ले गई आरोपी कंपनी पैसे के साथ-साथ लोगों के पासपोर्ट भी ले गई
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जीवीएम मैन पावर के नाम से खोला था दफ्तर
  • देश के तीन शहरों में खोले थे ऑफिस
  • पैसे के साथ-साथ लिए थे पासपोर्ट

बिहार की राजधानी पटना में बेरोजगार लोगों को विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर एक कंपनी ने करोड़ों रुपये की उगाही की और बाद में आवेदकों के पासपोर्ट लेकर कंपनी रातों रात फरार हो गई. जांच में पता चला कि इस कंपनी ने लोगों को चूना लगाने के लिए पटना समेत देश के तीन बड़े शहरों में अपने ऑफिस बनाए थे. लोग इनके झांसे में आते गए और कंपनी ने उन सभी को चूना लगा दिया.
 
जानकारी के मुताबिक जीवीएम मैन पावर नाम की कंपनी पिछले कई महीनों से पटना में लोगों को विदेश भेजने का प्रलोभन देकर प्रति व्यक्ति 12 से 17 हज़ार रुपये ले रही थी. साथ ही आवेदकों से उनके पासपोर्ट भी मांग रही थी. जांच में पता चला कि जीवीएम मैन पावर नाम की कंपनी का कहीं रजिस्ट्रेशन नहीं है. जबकि इस कंपनी ने पटना के अलावा विशाखापत्तनम और गुड़गांव में भी ऑफिस खोले थे. 

ज़रूर पढ़ें-- फोटोशूट कराने होटल पहुंची नाबालिग मॉडल, गैंगरेप की कोशिश

पटना के नियोजन भवन स्थित इमिग्रेशन दफ्तर में अभी तक इस कंपनी के खिलाफ 100 लोग शिकायत दर्ज करा चुके हैं. बिहार और झारखंड के कई जिलों के लोगों ने विदेश जाने के लिए इस कंपनी से संपर्क किया था. लेकिन अचानक कंपनी के फरार हो जाने से उनके पैरों तले से जमीन खिसक गई है. लोगों ने आंख मूंदकर कंपनी पर विश्वास कर लिया था. 

ज़रूर सुनें-- सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद बीमा कंपनी मुआवज़ा देने से नहीं बच सकता

कंपनी ने लोगों को अबूधाबी की एडनाक और नेशनल पेट्रोलियम कांट्रैटिंग कंपनी में नौकरी दिलाने का वादा किया था. अब इस मामले में पुलिस ने FIR दर्ज कर तहकीकात शुरू कर दी है. जानकारों का कहना है कि विदेश में नौकरी के लिए जाने वाले लोगों के लिये भारत सरकार की समुद्र पार योजना को ठीक से बिहार में लागू नहीं किया गया.

यही कारण है कि लोग ऐसी फर्ज़ी कंपनियों के चक्कर में फंस जाते हैं. और जो लोग इन कंपनियों के जरिये विदेश पहुंच भी जाते हैं, उन्हें अधिकतर शोषण का शिकार होना पड़ता है. इस मामले में बिहार सरकार के श्रम मंत्री जीवेश कुमार ने कड़ी कार्रवाई का निर्देश देते हुए कहा कि दोषी बख्शे नहीं जाएंगे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें