scorecardresearch
 

दिल्ली: 12 साल के बच्चे से काम कराती थी ACP! घर से भागा मासूम

दिल्ली पुलिस की एसीपी शिप्रा गिरि के घर पर काम करने वाले 12 साल के मासूम बच्चे ने मारपीट करने का आरोप लगाया है. बाल आयोग ने उस बच्चे को रेस्क्यू कर लिया है और पुलिस कमिश्नर से मामले की रिपोर्ट मांगी है.

बच्चे को उसके परिजनों के हवाले कर दिया गया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर) बच्चे को उसके परिजनों के हवाले कर दिया गया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 10 अक्टूबर की है घटना
  • अब तक नहीं हुई FIR

दिल्ली पुलिस की एसीपी के घर से भागे 12 साल के बच्चे को बाल आयोग ने रेस्क्यू कर लिया है. बच्चे ने एसीपी पर मारपीट करने का आरोप लगाया है. बच्चा मारपीट से तंग आकर ही घर से भाग गया था. घटना 10 अक्टूबर की बताई जा रही है, लेकिन इस मामले में अब तक कोई केस दर्ज नहीं किया गया है.

बताया जा रहा है कि ये बच्चा किसी गुमटी के पास बैठा रो रहा था. तभी किसी ने चाइल्ड हेल्पलाइन को फोन कर इसकी सूचना दी. चाइल्ड लाइन टीम ने बच्चे को रेस्क्यू किया और एसडीएम के सामने बयान दर्ज करवाकर परिजनों को सौंप दे दिया है. 

बच्चे ने पूछताछ में बताया है कि उससे घर पर बेइंतहा काम करवाया जाता था. जांच के दौरान बच्चे के शरीर पर चोट के निशान भी मिले हैं. इस पूरे मामले में नेशनल कमिशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट्स (NCPCR) ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना (Rakesh Asthana) को नोटिस भेजकर कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी है.

ये भी पढ़ें-- दिल्ली: 300 रुपये के लिए 19 वर्षीय युवक की हत्या, पांच आरोपी गिरफ्तार

क्या है पूरा मामला?

बच्चा राजस्थान के बीकानेर का रहने वाला है. गरीबी से तंग आकर उसके मामा ने बच्चे को एसीपी के पद पर तैनात शिप्रा गिरि को देखभाल के लिए दिया था. बच्चा एसीपी के साथ ही वसंत कुंज सी-9 सोसायटी स्थित घर पर रह रहा था. बच्चे को घरेलू काम के लिए यहां लाया गया था. लेकिन कुछ दिन पहले बच्चा घर से भाग गया था. इस मामले में अब तक FIR दर्ज नहीं हुई है. NCPCR ने पुलिस कमिश्नर को नोटिस भेजकर कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी है. इस नोटिस में बच्चे के साथ मारपीट और उत्पीड़न का भी आरोप है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें