scorecardresearch
 

दिल्ली पुलिस के दो जवानों को स्पेशल सेल ने किया गिरफ्तार, गैंगस्टर्स के गुर्गों से साठ-गांठ का आरोप

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हाल ही में हुए रोहिणी शूट आउट मामले (Rohini Shootout Case) में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल (Delhi Police Special Cell) ने दो जवानों (Two Policemen Arrested) को गिरफ्तार किया है.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली पुलिस के दो जवान गिरफ्तार
  • बिश्नोई गैंग के गुर्गों से साठ-गांठ करने का आरोप

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हाल ही में हुए रोहिणी शूट आउट मामले (Rohini Shootout Case) में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल (Delhi Police Special Cell) ने दो जवानों (Two Policemen Arrested) को गिरफ्तार किया है. दोनों पर कुख्यात बदमाश जितेंद्र गोगी और गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई गैंग के गुर्गों से सांठ-गांठ करने का आरोप लगा है.

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा गिरफ्तार किए गए दोनों जवानों के नाम दिनेश और सुमित हैं. दोनों को जेल भेज दिया गया है. पिछले दिनों रोहिणी शूट आउट के बाद दिल्ली पुलिस ने गोगी और राजस्थान की जेल में बंद लॉरेंस बिश्नोई गैंग के चार इनामी शार्प शूटरों को गिरफ्तार किया था. इससे आने वाले दिनों में संभावित गैंगवार टल गई. 

पुलिस ने जानकारी दी थी कि सभी शूटर दिल्ली के मंडोली जेल में बंद टिल्लू ताजपुरिया की हत्या की प्लानिंग बनाकर उसे अंजाम देने की फिराक में थे. टिल्लू ताजपुरिया पर ही आरोप है कि उसने रोहिणी जेल में रहकर अपने शूटरों को निर्देश देते हुए जितेंद्र गोगी को कोर्ट रूम में मरवा दिया था. इसके बाद देशभर में हड़कंप मच गया.

यह भी पढ़ें: रोहिणी कोर्ट शूटआउट: कब, क्या और कैसे हुआ? जानिए क्या कहती है मामले में दर्ज FIR

गिरफ्तार किए गए चारों शूटरों ने पूछताछ में चौंकाने वाले खुलासे किए थे. उन्होंने बताया था कि दिल्ली के सरोजिनी नगर में तैनात एक कॉन्स्टेबल और दिल्ली पुलिस की सिक्योरिटी विंग में तैनात कॉन्स्टेबल इस गैंग की मदद कर रहे थे. इन्हीं पुलिसकर्मियों ने दिल्ली में रुकने के लिए शेल्टर भी दिया था. इस खुलासे के बाद ही दोनों पुलिसकर्मियों को अरेस्ट कर जेल भेज दिया गया.

रोहिणी शूटआउट में क्या हुआ था?
दरअसल, पिछले दिनों दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में फायरिंग हुई थी, जिसमें तीन लोगों की जान चली. कोर्ट रूम में दो हमलावरों ने गैंगस्टर जितेंद्र गोगी पर गोलीबारी कर दी थी और इसमें उसकी जान चली गई थी. वहीं, पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए दोनों बदमाशों को वहीं ढेर कर दिया था. दोनों बदमाश टिल्लू ताजपुरिया गैंग से जुड़े हुए थे और खुद टिल्लू जेल से ही उन्हें निर्देश भी दे रहा था. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें