scorecardresearch
 

मिर्जापुरः 8 साल पहले चाचा को पीटा था, भतीजों ने अब हत्या से लिया बदला, 3 गिरफ्तार

मिर्जापुर में 8 साल पहले हुई चाचा की पिटाई का बदला भतीजों ने हत्या से लिया. पारिवारिक रंजिश में हुई इस हत्या के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. तीनों ने हत्या करने की बात कबूल की है.

X
पुलिस की गिरफ्त में तीनों आरोपी. पुलिस की गिरफ्त में तीनों आरोपी.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मिर्जापुर में हत्या का सनसनीखेज मामला
  • पुलिस ने तीन आरोपियों को किया अरेस्ट
  • तीनों ने हत्या करने की बात कबूल की

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर (Mirzapur) में हत्या का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. आरोपियों ने 8 साल पहले हुई अपने चाचा की पिटाई का बदला हत्या (Murder) से लिया है. पारिवारिक रंजिश में हुई इस वारदात में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार (Arrest) किया है. इन तीनों ने हत्या की बात कबूल की है. 

दरअसल, 8 साल पहले आरोपी के चाचा की पिटाई हो गई थी. इसका बदला लेने के लिए आरोपी ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर पिटाई करने वाले परिवार के लड़के की हत्या कर दी. हत्या के बाद आरोपियों ने उसके शव को तालाब में फेंक दिया था, जिसकी लाश 15 जुलाई को पुलिस को मिली थी. इस मामले में तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है. 

विंध्याचल थाना क्षेत्र के अष्टभुजा में पुलिस चौकी से महज चंद कदम की दूरी पर 15 जुलाई को 24 वर्षीय सुनील का शव मिला था. पुलिस ने इस मामले में अष्टभुजा से तीन लोगों को गिरफ्तार किया था. तीनों आरोपी अमित विक्रम सिंह, हर्ष विक्रम सिंह और मोहित गिरी ने पूछताछ में सुनील की हत्या करने की बात कबूल की.

ये भी पढ़ें-- गोंडा: पहले गड़ासे से काटकर पत्नी की हत्या की, फिर ट्रेन के सामने लेटकर दी जान

मामले की जानकारी देते हुए एसपी अजय कुमार सिंह ने बताया कि मृतक सुनील और आरोपी अमित विक्रम सिंह के परिवार के बीच पुरानी रंजिश थी. सुनील के परिजनों ने 2012 में अमित के चाचा लाखन सिंह की पिटाई कर दी थी. इस पिटाई से लाखन सिंह अर्ध विक्षिप्त हो गया था. इसी का बदला लेने के लिए अमित ने अपने चचेरे भाई हर्ष विक्रम सिंह और दोस्त मोहित गिरी के साथ मिलकर सुनील की हत्या कर दी. हत्या के बाद आरोपियों ने शव को तालाब में फेंक दिया था.

पुलिस ने बताया कि आरोपियों की निशानदेही पर हत्या में इस्तेमाल होने वाला लाल अंगोछा और पत्थर बरामद कर लिया गया है. फिलहाल तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें