scorecardresearch
 

नौ साल बाद पकड़ा गया पत्नी का हत्यारा, गाजियाबाद पुलिस ने ओडिशा से किया गिरफ्तार

गाजियाबाद पुलिस ने एक ऐसे हत्यारे पति को गिरफ्तार किया है जिसने करीब 9 साल पहले अपनी पत्नी की हत्या कर दी थी और फरार हो गया था. गाजियाबाद के पॉश इलाके थाना इंदिरापुरम के वसुंधरा में रहने वाला यह शख्स हत्या के बाद ओडिशा में रहने लगा था.

गाजियाबाद पुलिस ने हत्यारोपी को किया गिरफ्तार (फोटो- आजतक) गाजियाबाद पुलिस ने हत्यारोपी को किया गिरफ्तार (फोटो- आजतक)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पत्नी की हत्या करने के बाद से था फरार
  • गाजियाबाद पुलिस ने किया गिरफ्तार
  • नौ साल बाद हुई आरोपी की गिरफ्तारी

गाजियाबाद पुलिस ने एक ऐसे हत्यारे पति को गिरफ्तार किया है जिसने करीब 9 साल पहले अपनी पत्नी की हत्या कर दी थी और फरार हो गया था. गाजियाबाद के पॉश इलाके थाना इंदिरापुरम के वसुंधरा में रहने वाला यह शख्स हत्या के बाद ओडिशा में रहने लगा था.

बीते 9 साल से उस हत्याकांड में पुलिस के हाथ खाली थे. लेकिन कहते हैं कि अपराधी कितना भी शातिर हो एक न एक दिन पुलिस की गिरफ्त में आ ही जाता है. आरोपी शख्स का नाम मनोरंजन तिवारी है. जिसे गाजियाबाद पुलिस ने गिरफ्तार किया है. 

मनोरंजन तिवारी ने अपनी पत्नी गीता यादव की साल 2012 के सितंबर महीने की 29 तारीख की शाम बीच सड़क पर गोली मारकर हत्या कर दी थी. उसके बाद यहां से फरार हो गया था. मनोरंजन अपने पैतृक गांव जो ओडिशा में पड़ता है वहां जाकर रहने लगा था. करीब 10 साल बाद मनोरंजन तिवारी को पुलिस ने ओडिशा से गिरफ्तार किया है. गाजियाबाद पुलिस ने इसकी गिरफ्तारी के लिए सर्विलांस और ओडिशा पुलिस का सहयोग भी  लिया है.

प्रेम विवाह के 5 साल बाद पत्नी की हत्या

गिरफ्तार आरोपी मनोरंजन तिवारी गाजियाबाद में कलर लैब चलाता था. वहीं 25 वर्षीय युवती गीता यादव से उसकी मुलाकात हुई थी. दोनों को एक दूसरे का साथ अच्छा लगने लगा था और फिर दोनों ने 2007 में प्रेम विवाह कर लिया. लेकिन बाद में दोनों में खटपट होने लगी और फिर साल 2010 में दोनों अलग हो गए. गीता, वसुंधरा इलाके में एक फ्लैट किराए पर लेकर घरेलू मेड का काम कर अपना गुजारा करने लगी. 

और पढ़ें- नोएडा: ऑन डिमांड लग्जरी गाड़ियां चुराने वाले गैंग का भंडाफोड़, 3 गिरफ्तार

मनोरंजन तिवारी को ये ठीक नहीं लगा और उसने 29 सितंबर, शाम करीब 9.30 बजे उस समय गीता की गोली मारकर हत्या कर दी जब गीता काम से घर लौट रही थी. गोली गीता की कमर में लगी थी जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गयी. जिसके बाद से आरोपी पति मनोरंजन फरार चल रहा था.

9 साल लगे पुलिस को आरोपी पति को पकड़ने में

9 साल लगे लेकिन पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर ही लिया. इसलिए कहा जाता है कि अपराधी कितना भी शातिर हो और वह कितनी भी चालाकी से क्राइम करे लेकिन कानून के लंबे हाथों से वह कभी बच नहीं पाता है. हालांकि इस दौरान आरोपी ने कई बार अपना हुलिया और जगह बदली. पुलिस के मुताबिक अब वो तांत्रिक का भी काम करने लगा था. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें