scorecardresearch
 

गाजियाबाद में फर्जी कॉल सेंटर का पर्दाफाश, मुंबई वालों से ठगी, 30 लोग गिरफ्तार

इस कॉल सेंटर के जरिए दिल्ली एनसीआर ही नहीं, देश के दूसरे राज्यों में भी टेलीकॉलिंग के जरिए ठगी की वारदात को अंजाम दिया जा रहा था. इस गिरोह ने मुंबई के भी कई लोगों को ठगी का शिकार बनाया है.

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी और बरामद सामान पुलिस की गिरफ्त में आरोपी और बरामद सामान
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पकड़े गए 30 में 14 महिलाएं भी शामिल
  • टेलीकॉलिंग के जरिए करते थे ठगी

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटे यूपी के गाजियाबाद में पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो लोगों को पॉलिसी पर लोन कराने के नाम पर अपने झांसे में लेकर ठगी करता था. गाजियाबाद पुलिस की साइबर सेल और थाना शहर कोतवाली की टीम ने लोन कराने के नाम पर फर्जी बैंक खाते में पैसा डलवाकर लोगों से ठगी करने वाले गिरोह के 30 सदस्यों को गिरफ्तार कर फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़ किया है.

जानकारी के मुताबिक गिरफ्तार किए गए 30 में 14 महिलाएं भी शामिल हैं. गाजियाबाद पुलिस की साइबर सेल ने ऑपरेशन 420 चलाते हुए 30 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इनमें 14 महिलाएं भी शामिल हैं. पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से 19 मोबाइल फोन, 14 कोडलेस वॉकी, 1160 डेटा पेपर शीट, एक पासबुक, 22 चेक मय डेटा, एक कार बरामद किए हैं.

बताया जाता है कि फर्जी कॉल सेंटर के जरिए पॉलिसी के नाम पर आम लोगों की गाढ़ी कमाई पर हाथ साफ किया जा रहा था. इस कॉल सेंटर के जरिए दिल्ली एनसीआर ही नहीं, देश के दूसरे राज्यों में भी टेलीकॉलिंग के जरिए ठगी की वारदात को अंजाम दिया जा रहा था. इस गिरोह ने मुंबई के भी कई लोगों को ठगी का शिकार बनाया है. मुंबई पुलिस की टीम भी गाजियाबाद पहुंच चुकी है. मुंबई पुलिस भी आरोपियों से पूछताछ करेगी. 

पुलिस के मुताबिक पकड़े गए आरोपी अपने फरार साथियों के साथ मिलकर फर्जी आईडी पर सिम कार्ड लेते थे और बैंक में खाते खुलवाकर पॉलिसी धारकों को अपना नाम और पद बदल-बदलकर कॉल करके अपने फर्जी आईडी से खुले बैंक खाते में पॉलिसी मैच्योर और पॉलिसी पर लोन कराने के नाम पर पैसा डलवाकर ठगी करते थे. ठगी का पैसा सभी आपस में बांट लेते थे. ठगी करने के बाद ये कॉलिंग सिम तोड़कर फेंक देते थे. पुलिस के मुताबिक करीब चार महीने पहले गाजियाबाद में मॉडल टाउन के रहने वाले सागर नाम के व्यक्ति से पॉलिसी पर लोन दिलाने के नाम पर 56 हजार रुपये की ठगी हुई थी.

ये हुए हैं गिरफ्तार

पुलिस ने इस गैंग के जिन सदस्यों को गिरफ्तार किया है उनमें गाजियाबाद के रहने वाले चंद्रशेखर, भुवन सिंह, रंजन, राहुल, पारस तोमर, मनोज कुमार, हेमंत सिरोही, राकेश, चंदन कुमार, विकास कुमार, अविनाश, विवेक, जगबीर अनूप कुमार और मोहम्मद ओवैस खान शामिल हैं. फरीदाबाद के दीपक कुमार को भी गिरफ्तार किया गया है. इस बड़े गैंग में 14 लड़कियां भी शामिल थीं. पुलिस ने उन्हें भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें