scorecardresearch
 

अवैध धर्मांतरण मामला: कलीम सिद्दीकी से पूछताछ के बाद तीन और शख्स गिरफ्तार

एटीएस का दावा है कि दावत-ए-इस्लाम ट्रस्ट के मौलाना कलीम सिद्दीकी के संबंध जाकिर नायक से भी हैं. आरोप है कि हरियाणा के मेवात इलाके में कलीम जाकिर नायक के वीडियो दिखाकर लोगों को रेडिकलाइज करता था.

अवैध धर्मांतरण के मामले में तीन अन्य और गिरफ्तार (फोटो- आजतक) अवैध धर्मांतरण के मामले में तीन अन्य और गिरफ्तार (फोटो- आजतक)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अवैध धर्मांतरण के मामले में तीन अन्य गिरफ्तार
  • कलीम सिद्दीकी को कुछ दिनों पहले किया था गिरफ्तार
  • पूछताछ के बाद उनके सहयोगियों का चला पता

अवैध धर्मांतरण के सिंडीकेट को फंडिंग के मामले में तीन और शख्स को गिरफ्तार किया गया है. आरोपियों के बैंक अकाउंट में 20 करोड़ फंडिंग के सबूत मिले हैं. यूपी एटीएस ने मुजफ्फरनगर के मोहम्मद इदरीश कुरैशी, मोहम्मद सलीम और नासिक के कुणाल चौधरी उर्फ आतिफ को गिरफ्तार किया है. यह गिरफ्तारी मौलाना कलीम सिद्दीकी से पूछताछ के बाद संभव हो पाई है. ये तीनों उसके अन्य करीबी साथी बताए गए हैं. गिरफ्तार इदरीश कुरैशी 20 सालों से कलीम सिद्दीकी के ट्रस्ट से संचालित मदरसे के लिए फंड इकट्ठा कर रहा था. कलीम सिद्दीकी का सबसे करीबी है इदरीश कुरैशी. 

बता दें, 22 सितंबर को मौलाना कलीम सिद्दीकी को आतंकवाद रोधी दस्ता(एटीएस) की एक टीम ने गिरफ्तार किया था. एटीएस के महानिरीक्षक (आईजी) डॉ. जीके गोस्वामी ने बताया कि गिरफ्तारी बुधवार रात को की गई थी. कलीम सिद्दीकी की गिरफ्तारी धर्मांतरण के मामले में मेरठ से की गई. कलीम की गतिविधियां संदिग्ध होने का शक जताया गया था.

वहीं एटीएस का दावा है कि दावत-ए-इस्लाम ट्रस्ट के मौलाना कलीम सिद्दीकी के संबंध जाकिर नायक से भी हैं. आरोप है कि हरियाणा के मेवात इलाके में कलीम जाकिर नायक के वीडियो दिखाकर लोगों को रेडिकलाइज करता था. सूत्रों के मुताबिक कलीम सिद्दीकी यूट्यूब पर जाकिर नायक के वीडियो दिखाकर युवाओं को धर्म परिवर्तन के लिए उकसाता था. एटीएस सूत्रों के मुताबिक अबू बकर मेवात के नूह में स्थित ग्लोबल पीस सेंटर का हेड था. दावते इस्लाम ट्रस्ट, ग्लोबल पीस सेंटर, वर्ल्ड पीस ऑर्गेनाइजेशन समेत अन्य संगठनों के माध्यम से मेवात के विभिन्न मदरसों में मुस्लिम युवाओं को गैर मुस्लिम लड़कियों और लड़कों को कन्वर्ट करने के लिए स्पेशल ट्रेनिंग दी जाती थी.

सूत्रों के मुताबिक, लॉकडाउन के दौरान कलीम सिद्दीकी ने जाकिर के वीडियो दिखाकर ऑनलाइन क्लास भी लिए थे. जिसमें कन्वर्ट करने की अलग-अलग विधियों को बताया जाता था. कलीम सिद्दीकी राजस्थान और हरियाणा के फरीदाबाद, पलवल, गुरुग्राम आदि इलाकों में मुस्लिम युवाओं को भेजकर तंत्र मंत्र के जरिए लोगों का वशीकरण कराता था. इसके लिए बकायदा नक्श-ए-सुलेमानी नाम की पुस्तक का प्रचार-प्रसार किया जाता था.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें