scorecardresearch
 

मौलाना कलीम सिद्दकी को यूपी ATS ने किया गिरफ्तार, धर्मांतरण के लिए हवाला फंडिंग का आरोप

धर्मांतरण मामले में उत्तर प्रदेश ATS ने मौलाना कलीम सिद्दीकी को गिरफ्तार किया है. मौलाना कलीम सिद्दीकी ग्लोबल पीस सेंटर के अध्यक्ष हैं और जमीयत-ए-वलीउल्लाह के भी अध्यक्ष हैं. उनको मेरठ से गिरफ्तार किया गया है.

मौलाना कलीम सिद्दीकी (फाइल फोटो) मौलाना कलीम सिद्दीकी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • धर्मांतरण मामले में मौलाना कलीम सिद्दीकी गिरफ्तार
  • मुफ्ती काजी और उमर गौतम से मिले लिंक

धर्मांतरण मामले में उत्तर प्रदेश ATS ने मौलाना कलीम सिद्दीकी (Kaleem Siddiqui) को गिरफ्तार किया है. मौलाना कलीम सिद्दीकी ग्लोबल पीस सेंटर के अध्यक्ष हैं और जमीयत-ए-वलीउल्लाह के भी अध्यक्ष हैं. उनको मेरठ से गिरफ्तार किया गया है. बता दें कि इस मामले में मुफ्ती काजी और उमर गौतम की गिरफ्तारी पहले ही हो चुकी है. दोनों से कलीम सिद्दीकी के लिंक मिले हैं. आरोप है कि विदेश से करोड़ों रुपये कलीम सिद्दीकी के खाते में आए थे.

उत्तर प्रदेश ATS की तरफ से इसपर प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की गई. इसमें बताया गया कि मौलाना कलीम सिद्दीकी पर हवाला के जरिए अवैध धर्मांतरण के लिए फंडिंग जुटाने का आरोप है. आरोपी मौलाना को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश कर दिया गया है.

मौलाना कलीम यूट्यूब के जरिए भी लोगों को धर्मांतरण करने और धर्मांतरण के रैकेट में शामिल होने के लिए प्रेरित कर रहा था. इन्होंने ही अभिनेत्री सना खान का निकाह भी कराया था.

मौलाना कलीम सिद्दीकी पर आरोप है कि वह लालच देकर लोगों को धर्मांतरण के लिए उकसाते थे. वह अपना ट्रस्ट चलाने के साथ तमाम मदरसों को भी फंडिंग करते थे. मौलाना कलीम को विदेशों से भारी धनराशि हवाला और अवैध तरीके से भेजी जाती थी. उमर गौतम और मुफ्ती काजी से उसके लिंक जुड़े हैं.  यूपी एटीएस के मुताबिक, मौलाना कलीम सिद्दीकी के खाते में 1.5 करोड़ रुपये बहरीन से आए थे. उनके अकाउंट में कुल 3 करोड़ रुपये आए थे.

ब्रिटिश संस्था से गिरोह को हुई थी 57 करोड़ की फंडिंग

यूपी ADG प्रशांत कुमार ने बताया कि 20 जून को अवैध धर्मांतरण गिरोह संचालित करने वाले लोग गिरफ्तार किए गए थे. उमर गौतम और इसके साथियों को ब्रिटिश आधारित संस्था से लगभग 57 करोड़ रुपये की फंडिंग की गई थी। जिसके खर्च का ब्योरा अभियुक्त नहीं दे पाए. आगे बताया गया कि इस संबंध में आज के अभियुक्त को छोड़कर कुल 10 लोग गिरफ्तार हुए थे जिसमें से 6 के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की जा चुकी है, 4 के खिलाफ जांच चल रही है.

अमानतुल्लाह खान ने जताया विरोध

अमानतुल्लाह खान ने उनकी गिरफ्तारी पर विरोध भी जताया. उन्होंने लिखा, 'उत्तर प्रदेश में चुनाव से पहले अब मशहूर इस्लामिक स्कॉलर मौलाना कलीम सिद्दीकी को गिरफ्तार किया गया है, मुसलमानों पर अत्याचार बढ़ता जा रहा है. इन मुद्दों पर सेक्यूलर पार्टियों की खामोशी भाजपा को और मज़बूती दे रही है.'

योगी के मंत्री ने क्या कहा?

इस मामले में योगी सरकार में मंत्री मोहसिन रजा ने कहा कि 'धर्मांतरण जैसे कामों में लगे लोगों को बढ़ावा देना कांग्रेस जैसी पिछली सरकार का पसंदीदा काम था. ये भाजपा सरकार है, जहां एजेंसियां फ्री होकर अपना काम कर रही हैं और ऐसे लोगों को सलाखों के पीछे पहुंचा रही है.'

जमीयत उलेमा-ए-हिंद लड़ेगी केस

मौलाना कलीमुद्दीन सिद्दीकी का केस अदालत में जमीयत उलेमा-ए-हिंद लड़ेगी. जमीयत उलेमा-ए-हिंद (महमूद मदनी गुट) ने इस बात का ऐलान किया है. इसका पूरा खर्च भी जमीयत ही उठाएगी. बता दें कि इस मामले में गिरफ्तार उमर गौतम का केस भी जमीयत ही लड़ रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×