scorecardresearch
 

दिल्लीः 75 लाख की लूट का खुलासा, पुलिसकर्मी बनकर घटना को दिया था अंजाम, 5 आरोपी गिरफ्तार

लूट की सूचना के बाद दिल्ली पुलिस की कई टीम मामले का खुलासा करने में जुट गई. दिल्ली पुलिस की टीम ने इलाके के दर्जनों सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली, जिसमें लूट की वारदात होते हुए साफ दिखाई दे रही थी.

X
पकड़े गए सभी आरोपी मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं
पकड़े गए सभी आरोपी मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रानी झांसी रोड पर दिया था लूट की वारदात को अंजाम
  • खुद को पुलिसकर्मी बताकर कारोबारी से की लूट
  • मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं सभी आरोपी

दिल्ली के कारोबारी से लाखों रुपये की लूट के मामले में पुलिस ने दो दिन में खुलासा कर दिया. लूट की वारदात का खुलासा करते हुए दिल्ली पुलिस ने 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. सभी आरोपी यूपी के मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं, जो दिल्ली में आकर लूटपाट की वारदातों को अंजाम देते थे. खास बात ये है कि आरोपी पुलिसकर्मी बनकर ये जुर्म करते थे.  

पुलिस के मुताबिक बीती 28 दिसंबर को देशबंधु गुप्ता रोड इलाके के स्क्रैप व्यापारी निजामुद्दीन अपने साथियों के साथ कलेक्शन के 75 लाख रुपये लेकर जा रहे थे. इसी दौरान करोलबाग के आगे रानी झांसी रोड इलाके में 5 लोगों ने उनकी मोटरसाइकिल को ओवरटेक कर रोक लिया. फिर खुद को पुलिसकर्मी बताकर उन्हें बातों में फंसाया और उनकी जांच करने लगे. इसी जांच पड़ताल के दौरान आरोपियों में से दो शख्स 75 लाख रुपयों से भरा बैग लेकर वहां से फरार हो गए.

लूट की सूचना के बाद दिल्ली पुलिस की कई टीम मामले का खुलासा करने में जुट गई. दिल्ली पुलिस की टीम ने इलाके के दर्जनों सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली, जिसमें लूट की वारदात होते हुए साफ दिखाई दे रही थी. फिर पुलिस ने उन चार पांच लोगों को उनके हुलिए के आधार पर तलाशना शुरू किया.

इसे भी पढ़ें--- कर्नाटक: 40 करोड़ की संपत्ति के लिए महिला की हत्या, पति और बेटी गिरफ्तार 

इसके बाद, एएटीएस की टीम ने सर्विलांस के जरिए मुख्य लुटेरे की पहचान साकिब निवासी बुढाना के रूप में की. पुलिस को यह भी जानकारी मिली कि जिस स्क्रैप कारोबारी से लूट की वारदात को अंजाम दिया गया था, एक आरोपी रिजवान उसी की फैक्ट्री में मुनीम का काम करता था. बस इसके बाद पुलिस ने सभी आरोपियो की शिनाख्त के बाद उन्हें बुढाना, जिला मुजफ्फरनगर से धर दबोचा. उनके कब्जे से लूट की बाइक और 45 लाख रुपये की नकदी बरामद कर ली. 
 
आरोपी रिजवान मुजफ्फरनगर का रहने वाला है. उसने बीए-द्वितीय वर्ष तक पढ़ाई की है. वह एक कबाड़ फैक्ट्री में मुनीम का काम करता है. वो अपराधियों की बुरी संगत में पड़ गया. सलमान ने 10वीं तक पढ़ाई की है. वह बुढ़ाना इलाके में कपड़ा विक्रेता का काम करता है. वह आरोपी रिजवान को जानता है. उन्हें कभी किसी मामले में गिरफ्तार नहीं किया गया है.

आरोपी शोएब ने 10वीं तक पढ़ाई की है. वह रिजवान को भी जानता है. वह यूपी के बुढाना इलाके में कपड़ा बेचने का काम करता है. वो भी अपने दोस्त रिजवान और अन्य सह-आरोपियों के साथ डकैती करने की योजना में शामिल था. गुड्डू त्यागी ने 8वीं तक पढ़ाई की है. वो भी बुढाना इलाके में बढ़ई का काम करता है. वह रिजवान के बेहद करीब है. जबकि साकिब ने 5वीं तक पढ़ाई की है. वह बुढाना क्षेत्र में होम थिएटर और मिक्सर/जूसर के वेंडर का काम करता है. 

इन सभी ने ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाने की तमन्ना और ग्लैमरफुल लाइफ जीने के लिए एक साथ मिलकर डकैती की योजना बनाई. ये सभी इस लूट की वारदात में शामिल थे. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें