scorecardresearch
 

ट्यूशन पढ़ने जा रहे बच्चे को बाइक ने मारी टक्कर, फिर 20 KM दूर बोरे में बंद मिली लाश

बिहार के सुपौल में बोरे में बंद 11 वर्षीय बच्चे की लाश मिली है. बच्चा सड़क हादसे में घायल हो गया था. बच्चे को टक्कर मारने वाले बाइक सवार उसे अपने साथ ले गए.

X
पुलिस ने एक आरोपी को किया गिरफ्तार. पुलिस ने एक आरोपी को किया गिरफ्तार.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बाइक सवार युवकों ने बच्चे को मारी टक्कर
  • फिर इलाज के नाम पर अपने साथ लेकर गए
  • थोड़ी देर बाद 20Km दूर बोरे में बंद मिली लाश

बिहार के सुपौल में 11 वर्षीय बच्चे की मौत की वजह हैरान कर देने वाली है. यहां पांचवीं क्लास का एक बच्चा सड़क हादसे में घायल हो गया. बच्चा ट्यूशन के लिए जा रहा था. तभी एक बाइक की टक्कर से वह घायल हो गया. जिस बाइक से उसकी टक्कर हुई, वे लोग इलाज के नाम पर उसे अपने साथ ले गए. लेकिन रास्ते में ही बच्चे की मौत हो गई. इसके बाद बच्चे का बोरे में बंद शव घटनास्थल से करीब 20 किलोमीटर दूर मिला.

मामला सुपौल जिले के मरौना प्रखंड के पंचगछिया कोनी मुख्य मार्ग का बताया जा रहा है. मृतक के परिजनों ने बताया कि 11 वर्षीय संजीव कुमार सुबह घर से ट्यूशन पढ़ने के लिए जा रहा था. इसी दौरान मुख्य सड़क पर तेज रफ्तार से बाइक आई और उसे टक्कर मार दी. बच्चा हादसे में घायल हो गया, जिसके बाद बाइक सवार लोग उसे अपने साथ ये बोलकर ले गए कि वे उसका इलाज करवाएंगे. लोगों को भी लगा कि यही करना सही रहेगा.

लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ. रास्ते में ही संजीव की मौत हो गई. इसके कुछ देर बाद संजीव का शव घटनास्थल से 20 किलोमीटर दूर थरिया गांव में नदी के पास मिला. आरोप है कि बाइक सवार लोगों ने बच्चे की मौत के बाद उसके शव को बोरे में भरकर 20 किलोमीटर दूर नदी किनारे फेंक दिया.

पुलिस को इस बारे में सूचना दी गई. जांच में बाइक चालक की पहचान पंचगछिया गांव के रहने वाले ध्रुव कुमार के रूप में हुई. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल में भेज दिया और मामले की गंभीरता से छानबीन कर रही है.

मामले में थानेदार रामानुज सिंह ने बताया कि शव को बरामद कर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है. फिलहाल एक आरोपी की गिरफ्तारी हुई है. परिवार ने मर्डर का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. उन्होंने कहा कि पुलिस आरोपियों को छोड़ेगी नहीं. बहुत ही दरिंदगी के साथ घटना को अंजाम दिया गया है. पूरे मामले की जांच कर आरोपियों को जेल भेजा जाएगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
; ;