scorecardresearch
 

देहरादूनः बेटी को बर्थडे पर पपी गिफ्ट करना चाहती थी मां, ठगों ने लगाया 63 लाख का चूना

ठगी की ये वारदात देहरादून के मोथुरावाला की है. जहां रहने वाले आरती रावत नामक महिला ने साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराई है. महिला ने बताया कि वह अपनी बेटी के जन्मदिन पर उसे एक खास ब्रीड का पपी गिफ्ट करना चाहती थीं.

पुलिस ने इस केस को सुलझाने के लिए विशेष टीम का गठन किया है पुलिस ने इस केस को सुलझाने के लिए विशेष टीम का गठन किया है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बेटी को जन्मदिन पर गिफ्ट करना चाहती थी पपी
  • जस्ट डायल से पपी खरीदने के लिए लिया था नंबर
  • रिफंडेबल बताकर महिला से जमा करा लिए लाखों रुपये

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में ऑनलाइन ठगी का एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. जहां अपनी बेटी को जन्मदिन पर डॉगी गिफ्ट करने के चक्कर में एक महिला को ठगों ने लाखों का चूना लगा दिया. सच सामने आने पर महिला ने जालसाजों के खिलाफ साइबर क्राइम का मामला दर्ज कराया है. पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.

ठगी की ये वारदात देहरादून के मोथुरावाला की है. जहां रहने वाले आरती रावत नामक महिला ने साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराई है. महिला ने बताया कि वह अपनी बेटी के जन्मदिन पर उसे एक खास ब्रीड का पपी गिफ्ट करना चाहती थीं. उन्होंने इसके लिए 20 जून को Just Dial से कुछ नंबर लिए और फिर एक फोन नंबर पर कॉल की.

कॉल रिसीव करने वाले डॉग पपी की कीमत 15000 रुपये बताई. इसके लिए 5 हजार एडवांस और शिपिंग चार्ज देने की बात कही. बाकी का भुगतान पपी की डिलीवरी के वक्त देना था. महिला ने उस शख्स के बताए खाते में पांच हजार रुपये जमा कर दिए. इसके बाद महिला को एक ई-मेल मिला. जिसमें 1, 03,000 रुपये जमा कराने के लिए कहा गया था. साथ ही लिखा गया कि ये रकम रिफंडेबल है. आरती ने ये रकम भी उस खाते में जमा कर दी.

इसे भी पढ़ें-- नागपुर: मेट्रिमोनियल साइट पर की दोस्ती, 1 लाख USD भेजने का वादा कर अकाउंट से उड़ाए 40 लाख

इसके बाद ऐसे ही आरती रावत के पास कई ईमेल आई. जिनमें रिफंडेबल अमाउंट बताकर कभी 3 लाख और कभी 6 लाख रुपये आरती से जमा करा लिए गए. कुल मिलाकर आरती रावत उनके झांसे में आ गई और 63 लाख रुपये उनके बताए खाते में जमा कराती रही.

बीती 3 जुलाई को आरती रावत के पास फिर एक मेल आई. जिसमें लिखा था कि उसी खाते में 25 लाख रुपये जमा करा दें. डॉग पपी जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर आ गया है. इस बार आरती को शक हुआ. तब जाकर उन्होंने साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कराया. पुलिस ने मामले की छानबीन शुरु कर दी है.

ज़रूर सुनें-- पेट्रोल-डीज़ल के दाम बढ़ने से कैसे बदल रहे रोज़मर्रा में ख़र्च करने के तरीके?

शुरूआती जांच में मामला ठगी का ही लग रहा है. पुलिस ने एक टीम बनाकर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है. अभी तक उनका कोई सुराग पुलिस के हाथ नहीं लगा है. जस्ट डायल से भी संबंधित नंबरों की जानकारी ली जा रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें