scorecardresearch
 

सोशल मीडिया पर फोटो शेयर करने वाली महिलाएं सावधान! बन सकती हैं इनका शिकार

सोशल मीडिया पर महिलाओं का फोटो डालना कितना खतरनाक हो सकता है, इसकी ताजा मिसाल दिल्ली में उस वक्त देखने को मिली जब एक युवती के फोटो को सोशल मीडिया से निकालकर फोटोशॉप करने के बाद पोर्न वेबसाइट पर डाल दिया गया. साइबर अपराधियों ने पीड़ित युवती को ब्लैकमेल करके फोटो हटाने के लिए पैसे की मांग भी रखी थी. ऐसे ही कुछ और मामले भी साइबर क्राइम विभाग के पास आए हैं.

पुलिस का साइबर क्राइम विभाग ऐसे मामलों की जांच कर रहा है पुलिस का साइबर क्राइम विभाग ऐसे मामलों की जांच कर रहा है

सोशल मीडिया पर महिलाओं का फोटो डालना कितना खतरनाक हो सकता है, इसकी ताजा मिसाल दिल्ली में उस वक्त देखने को मिली जब एक युवती के फोटो को सोशल मीडिया से निकालकर फोटोशॉप करने के बाद पोर्न वेबसाइट पर डाल दिया गया. साइबर अपराधियों ने पीड़ित युवती को ब्लैकमेल करके फोटो हटाने के लिए पैसे की मांग भी रखी थी. ऐसे ही कुछ और मामले भी साइबर क्राइम विभाग के पास आए हैं.

डेली मेल की एक ख़बर के मुताबिक, सोशल मीडिया पर फोटो अपलोड करने वाली महिलाओं को शिकार बनाने वाला एक साइबर गिरोह देश में सक्रीय है, जो फेसबुक और ट्वीटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म से माहिलाओं के फोटो चुरा लेते हैं. इसके बाद उसे फोटोशॉप करके अश्लील बनाने के बाद एक पोर्न वेबसाइट पर डाल देते हैं. दिल्ली की महिला के साथ भी ऐसा ही हुआ. इस बारे में खुद एक आरोपी ने पीड़ित महिला को बताया और तस्वीर हटाने की एवज में बीस हजार रुपये की मांग रखी.

यह मामला दिल्ली के मयूर विहार इलाके का है. पीड़ित महिला ने कुछ दिन पहले एक समुद्र किनारे का फोटो फेसबुक पर डाला था. उसी तस्वीर को शातिर अपराधियों ने उसके फेसबुक अकाउंट से उठाया और फोटोशॉप में एडिट कर अश्लील बना दिया था. फिर खुद पीडिता को मैसेज कर फोटो हटाने के लिए 20 हजार रुपये की मांग करने लगे. पीड़िता ने परेशान होकर इस मामले की शिकायत दिल्ली पुलिस के साइबर सेल की.

ऐसा ही एक मामला नोएडा में भी सामने आया. जहां आरोपियों ने महिला से 15 हजार रुपये ऑनलाइन वसूल कर लिए, लेकिन इसके बाद भी उसका अश्लील फोटो नहीं हटाया गया. लगातार उसे ब्लैकमेल किया जा रहा था. परेशान होकर उस महिला ने भी इस बात की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई. फिलहाल साइबर क्राइम टीम ऐसे मामलों में रोकथाम की पूरी कोशिश कर रही है.

पुलिस के मुताबिक, पहले इस तरह के मामलों में एक तरफा आशिक और पुरानी रंजिश से घिरे लोग सामने आते थे. लेकिन आजकल इस को अंजाम देने वाले गिरोह तैयार हो गए हैं. ये गैंग लोगों को ब्लैकमेल कर पैसा कमाने में लगे हुए हैं. कई मामलों में लोग पुलिस तक शिकायत लेकर नहीं आते हैं. सबको अपनी छवि बिगड़ने का डर बना रहता है और ऐसे गिरोह इसी बात का फायदा उठाते हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें