scorecardresearch
 

शीना मर्डर केसः पीटर-इंद्राणी की कुल संपत्ति 800 करोड़ की है?

शीना मर्डर केस में हर पल नई जानकारियां मिल रही हैं. लेकिन अब तक मुबंई पुलिस यह नहीं बता सकी है कि आखिर क्या वजह थी कि इंद्राणी और उसके पूर्व पति संजीव खन्ना ने शीना का कत्ल कर दिया. कई अटकलें लगाई जा रही है. उनमें से एक है जायदाद.

इंद्राणी और पीटर मुखर्जी इंद्राणी और पीटर मुखर्जी

शीना मर्डर केस में हर पल नई जानकारियां मिल रही हैं. लेकिन अब तक मुबंई पुलिस यह नहीं बता सकी है कि आखिर क्या वजह थी कि इंद्राणी और उसके पूर्व पति संजीव खन्ना ने शीना का कत्ल कर दिया. कई अटकलें लगाई जा रही है. उनमें से एक है जायदाद.
 
सबसे पहले सवाल आता है कि आखिर इंद्राणी मुखर्जी के पास कितनी जायदाद है. इसका असली आंकड़ा किसी के पास नहीं है. लेकिन जो दिख रहा है, उसे देखकर माना जा सकता है कि पीटर मुखर्जी और इंद्राणी मुखर्जी की कुल जायदाद करीब 500 से 800 करोड़ के बीच हो सकती है.
 
एक नजर उनकी जायदाद पर

सेंट्रल मुंबई के वर्ली इलाके में मौजूद है मारलो कोऑपरेटिव हाउसिंग सोसाइटी. जहां राज्य के कई वरिष्ठ मंत्रियों के आशियाने भी हैं. इसी सोसाईटी की पांचवी मंजिल पर प्रीतम यानी पीटर मुखर्जी और इंद्राणी मुखर्जी का एक आलीशान घर है. इस घर के लिए फ्लैट नं- 18 और 19 को जोड़कर एक किया गया है. इसी तीन से चार हजार वर्ग मीटर वाले घर में मुखर्जी परिवार रहता है. बाज़ार के लिहाज से इस फ्लैट की कीमत तकरीबन 50 से 60 करोड़ रुपये हो सकती है.
 
मुंबई के इस फ्लैट के अलावा मुखर्जी के पास यूनाइटेड किंगडम के ब्रिस्टल इलाके में एक और पुराना घर है. उस घर की कीमत करीब 60 करोड़ से ज्यादा हो सकती है. मुखर्जी परिवार के पास देश के कई कितने शहरों में कितने घर, बंगले या जमीन है, इसकी जानकारी भी इस वक्त पुलिस के पास नहीं है.
 
कई कंपनियों में हिस्सेदारी

इसके अलावा मुखर्जी परिवार के पास कई कंपनियों की हिस्सेदारी भी है. साथ ही कई कंपनियों को बेचने के बाद मिला हुआ पैसा और करोड़ो का बैंक बैलेंस भी है. जानकारी के मुताबिक मुखर्जी परिवार की INX ग्रुप में करीब 500 करोड़ की हिस्सेदारी है. यह आंकड़ा ऊपर नीचे भी हो सकता है. कई आंकड़े तो मुखर्जी परिवार ने कभी जाहिर ही नहीं किए. और न ही करना उनके लिए जरूरी था.

आजतक की छानबीन में पता चला कि साल 2006 से लेकर अब तक इंद्राणी मुखर्जी करीब 13 कंपनियों में हिस्सेदार बन गई थी. इनमें से कई कंपनी बिक गई और कई बंद होने के कगार पर हैं. लेकिन अब भी ऐसी चार कंपनियां हैं, जिसमें इंद्राणी और पीटर मुखर्जी निर्देशक के तौर पर बोर्ड में शामिल हैं.

इन कंपनियों के नाम हैं-

01. गंगा एग्जिक्यूटिव सर्च
02. यमुना रिक्रूटमेंट सर्विस
03. सरस्वती मीडिया लिमिटेड
04. आईएनएक्स एग्जिक्यूटिव सर्च
05. इंद्राणी इनकॉन
06. इंद्राणी मुखर्जी न्यूज़
07. नाइन एक्स मीडिया
08. डायरेक्ट न्यूज़ प्राइवेट लिमिटेड
09. आईएनएक्स म्यूजिक
10. एबीसी मूवीज
11. आईएनएक्स प्रोडक्शन
12. आईएनएक्स सर्विस
13. आईएम मीडिया
 
इनमें से आईएनएक्स एग्जिक्यूटिव सर्च, एबीसी मूवीज, आईएनएक्स प्रोडक्शन और आईएनएक्स सर्विस नामक चार कंपनियों की पूरी कमान आज भी मुखर्जी जोड़े के हाथों में है. यह पूरी जानकारी कंपनी मामलों के मंत्रालय की वेबसाइट पर मौजूद है. बाकी सभी कंपनियों को इंद्राणी और पीटर ने किसी और ग्रुप को बेच दिया है.

मसलन 2006 में पीटर मुखर्जी ने INX Media की 25 फिसदी हिस्सेदारी सिंगापुर की एक इनवेस्टमेंट फर्म तीमासेक होल्डिंग को बेच दी. इस डील में इस कंपनी ने अपनी एक सब्सिडरी कंपनी का सहारा लिया. पूरा पैसा उसी कंपनी के माध्यम से दिया गया.
 
उसके बाद पति पत्नी ने मीडिया कंपनी आईएनएक्स के शेयर एक बड़ी कॉरपोरेट कंपनी को बेच दिए. यह डील इस तरह हुई कि 2013 के दौरान इस पर आयकर विभाग और केंद्र सरकार की कुछ एजेंसियों ने भी नजरें गड़ा दी थी.
 
हालांकि आज भी कंपनी मामलों के मंत्रालय के तहत आने वाले स्पेशल फ्रॉड इनवेस्टीगेशन ऑफिस ने उस डील की एक जांच रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट के दरवाजे पर रखी हुई है. जिस पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई. और न ही यह पता लगाने की कोशिश की गई कि आखिर करोड़ों रूपया कहां और किसकी जेब में गया.
 
कारोबार जगत में यह अफवाह फैली हुई है कि पीटर मुखर्जी और इंद्राणी ने अपनी मीडिया कंपनी की डील में करीब 200 से 250 करोड़ रुपये तक का घोटाला किया है.
 
जिस वक्त शीना बोरा की हत्या की गई. उस वक्त यह डील हो चुकी थी. करोड़ो रूपये इंद्राणी के बैंक अकाउंट में आ चुके थे. माना यह भी जा रहा है कि शीना को उस भारी रकम में से अपनी हिस्सेदारी चाहिए थी. जिससे वह राहुल के साथ एक खुशहाल जिंदगी जी सके.
 
संजीव खन्ना इस हत्या में इस लिए शामिल हुआ था कि इंद्राणी अपनी करोड़ों की संपत्ति का एक बड़ा हिस्सा संजीव खन्ना की बेटी विधि के नाम कर देगी. हालांकि यह सभी बातें केवल थ्योरी बनी रहेंगी जब तक मुंबई पुलिस अपनी जांच पूरी नहीं कर लेती. और इस बात का खुलासा नहीं कर लेती कि आखिर शीना की जान क्यों ली गई.

इसके पीछे क्या वजह थी? प्यार या पैसा?

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें